शनिवार, दिसम्बर 10, 2022
शनिवार, दिसम्बर 10, 2022

होमFact CheckBird Flu नहीं बल्कि 5G Radiation के कारण हो रही है पक्षियों...

Bird Flu नहीं बल्कि 5G Radiation के कारण हो रही है पक्षियों की मौत! जानिए वायरल दावे का सच

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि बर्ड फ्लू (Bird Flu) की वजह से पक्षियों की जान नहीं जा रही है, इसके पीछे का कारण 5G रेडियेशन (radiation) है। 5G रेडियेशन (radiation) की वजह से पक्षियों की मौत हो रही है। लेकिन सरकार पूंजीपतियों और टेलीकॉम कंपनियों का बचाव करने के लिए इसे छुपा रही है और बर्ड फ्लू का नाम दे रही है। तो वहीं कई लोग ये भी दावे कर रहे हैं कि जियो ने 5G टेस्ट शुरू कर दिए हैं, इसलिए पक्षियों की मौत हो रही है। 

पोस्ट से जुड़ा आर्काइव लिंक यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

वायरल पोस्ट की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। जिसके बाद हमें पता चला कि केंद्र सरकार ने अभी तक किसी भी टेलीकॉम कंपनी को भारत में 5G तकनीक का परीक्षण करने की अनुमति नहीं दी है। हमें सर्च के दौरान Financial Express का एक लेख मिला। जिसके मुताबिक केंद्रीय आईटी और दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद का कहना है कि जल्द ही भारत में 5जी का परीक्षण शुरू हो सकता है।

अभी तक केंद्र ने 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी नहीं की है। दूरसंचार विभाग ने मार्च में होने वाली स्पेक्ट्रम नीलामी में हिस्सा लेने के लिए आवेदन मांगें हैं। 

पड़ताल के दौरान हमें TRAI की फरवरी 2019 की प्रेस रिलीज मिली, जिसमें कहा गया है कि भारत में भी दुनिया के बाकि देशों के साथ 2020 में 5G का परीक्षण शुरू किया जायेगा। जो कि कई कारणों से हो नहीं पाया जबकि, चीन, दक्षिण कोरिया और यूएस ने 5G के परीक्षण को शुरू कर दिया है।

सर्च के दौरान हमें फ़ाइनेंशियल एक्सप्रेस, इकॉनोमीक टाइम्स और कम्यूनिकेशन टुडे के कई लेख मिले। मीडिया संस्थानों की इन रिपोर्ट्स के मुताबिक दूरसंचार कंपनियां अभी भी 5G टेस्टिंग पर सरकार की मंजूरी का इंतजार ही कर रही हैं। इन रिपोर्ट्स के जरिए ये तो साफ हो गया कि 5G ने अभी तक भारत में दस्तक नहीं दी है।  

हमें छानबीन के दौरान 5G से जुड़ा रिलायंस जियो के ट्वीटर हैंडल पर एक ट्वीट मिला। जिसमें जियो ने बताया है कि वो 5G की टेस्टिंग 2021 के 6वें महीने के बाद से शुरू कर सकता है। 

अपनी पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने बर्ड फ्लू के बारे में सर्च करना शुरू किया। जिसके बाद हमें टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट मिली। जिसके मुताबिक सरकार के पशुपालन और डेयरी विभाग मंत्री का कहना है कि सर्दियों में बर्ड फ्लू का होना काफी आम बात है।

Conclusion

सोशल मीडिया पर वायरल बर्ड फ्लू और 5G को लेकर जो दावा किया जा रहा है वो गलत है। हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक भारत में अभी तक 5G का परीक्षण शुरू नहीं हुआ है। ऐसे में पक्षियों के मरने का कारण 5G की रेडियेशन (radiation) नहीं हो सकती है।

Result: False


Our Sources

Financial Express https://www.financialexpress.com/industry/5g-trials-to-start-very-soon-ravi-shankar-prasad/2150773/

Financial Express – https://www.financialexpress.com/industry/ahead-of-spectrum-auction-telcos-seek-clarity-on-5g/2169660/ 

Times Of India- https://timesofindia.indiatimes.com/city/pune/dont-panic-bird-flu-is-common-in-winter-govt/articleshow/80240572.cms 


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular