सोमवार, जुलाई 4, 2022
सोमवार, जुलाई 4, 2022

होमFact Checkभारत सरकार द्वारा मिशनरीज ऑफ चैरिटी के सभी बैंक अकाउंट फ्रीज किए...

भारत सरकार द्वारा मिशनरीज ऑफ चैरिटी के सभी बैंक अकाउंट फ्रीज किए जाने के नाम पर भ्रामक दावा हुआ वायरल

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीते सोमवार को ट्वीट कर दावा किया कि केंद्र सरकार ने मिशनरीज ऑफ चैरिटी के सभी बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिए हैं। इस विषय पर चिंता जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि मदर टेरेसा से जुड़े संस्थान फंड के अभाव में अपना कार्य कर रहे हैं और अब वहां के 22,000 मरीजों और कर्मचारियों के सामने दवा और भोजन की समस्या खड़ी हो गयी है। 

हालांकि, पीआईबी द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार सरकार ने स्पष्ट किया है कि गृह मंत्रालय ने एमओसी के किसी भी बैंक अकाउंट को फ्रीज नहीं किया है, बल्कि नवीनीकरण के लिए भेजे गए एफसीआरए रजिस्ट्रेशन से जुड़े आवेदन को पात्रता शर्त पूरा नहीं करने के कारण खारिज किया गया था।   

माकपा नेता सुरजय कांत मिश्रा ने भी ट्वीट किया, ‘क्रिसमस के दिन केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मदर टेरेसा की मिशनरीज ऑफ चैरिटी के नकदी सहित सभी बैंक अकाउंट सील कर दिए। एमओसी के कर्मचारियों समेत 22,000 मरीजों के सामने भोजन और दवाओं का संकट खड़ा हो गया है।’

ममता बनर्जी का विवादास्पद दावा, राइट विंग संगठनों द्वारा क्रिसमस समारोहों में व्यवधान डालने और भारत में ईसाइयों पर हमलों की खबरों के बीच आया है। NDTV की एक रिपोर्ट के अनुसार, बजरंग दल से संबंधित होने का दावा करने वाले लोग क्रिसमस समारोह के दौरान असम के सिलचर में एक चर्च में घुस गए और उसे बंद करने की मांग की। रिपोर्ट के अनुसार, चर्च बंद कराने वाले लोगों का मानना था किइस त्योहार में हिंदू भाग नहीं ले सकते हैं।’ 

रिपोर्ट के मुताबिक, अपने आप को बजरंग दल का बताने वाले हमलावरों ने कहा कि वे हिंदुओं को क्रिसमस मनाने की अनुमति नहीं देंगे क्योंकि 25 दिसंबर को तुलसी दिवस भी था।

सरकार ने मिशनरीज ऑफ चैरिटी के सभी बैंक अकाउंट
स्क्रीनशॉट NDTV

आउटलुक में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, दक्षिणपंथी समूह से होने का दावा करने वाले लोगों के एक संगठन ने हरियाणा के पटौदी में एक चर्च के परिसर में घुसकर क्रिसमस की पूर्व संध्या पर होने वाली प्रार्थना को बाधित किया।

हिंदुस्तान टाइम्स में छपी 27 दिसंबर की एक रिपोर्ट के अनुसार, हरियाणा में हुई एक अन्य घटना में दो लोगों ने शनिवार और रविवार की मध्यरात को अंबाला छावनी के ऐतिहासिक होली रिडीमर कैथोलिक चर्च में यीशु मसीह की एक प्रतिमा को कथित रूप से अपवित्र कर उसे तोड़ दिया।

द न्यूज मिनट की एक रिपोर्ट के अनुसार, एक कथित हिंदूवादी संगठन के सदस्यों ने कर्नाटक के मांड्या जिले में निर्मला इंग्लिश हाई स्कूल और कॉलेज में घुसकर 23 दिसंबर को क्रिसमस समारोह को बाधित कर दिया।

एनडीटीवी की 12 दिसंबर को प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, दक्षिणपंथियों के एक समूह ने कर्नाटक के कोलार स्थित एक चर्च में धर्मांतरण का आरोप लगाते हुए ईसाईयों की धार्मिक पुस्तकों को जला दिया।

Fact Check/Verification

क्या केंद्र सरकार ने मिशनरीज ऑफ चैरिटी (एमओसी) के भारत में सभी बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिए हैं? इस दावे की पड़ताल के लिए न्यूजचेकर ने ‘मिशनरीज ऑफ चैरिटी’ और ‘बैंक अकाउंट फ्रीज’ कीवर्ड को गूगल पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें पीआईबी द्वारा बीते 28 दिसंबर को जारी की गई एक प्रेस विज्ञप्ति प्राप्त हुई। जिसमें स्पष्ट था कि गृह मंत्रालय ने मिशनरीज ऑफ चैरिटी के बैंक खातों को फ्रीज नहीं किया है। विज्ञप्ति के मुताबिक, भारतीय स्टेट बैंक ने सूचित किया है कि ‘मिशनरीज ऑफ चैरिटी’ ने खुद एसबीआई को अपने खातों को फ्रीज करने का अनुरोध भेजा था।

विज्ञप्ति के मुताबिक, ’मिशनरीज ऑफ चैरिटी (एमओसी) के एफसीआरए पंजीकरण के नवीनीकरण के लिए विदेशी योगदान विनियमन अधिनियम (एफसीआरए) के अंतर्गत नवीनीकरण आवेदन को एफसीआरए 2010 और विदेशी योगदान विनियमन नियमों (एफसीआरआर) 2011 के तहत पात्रता शर्तों को पूरा नहीं करने के कारण, 25 दिसंबर 2021 को रद्द कर दिया गया था। एमओसी से नवीनीकरण के इस इनकार की समीक्षा के लिए कोई अनुरोध या संशोधन आवेदन प्राप्त नहीं हुआ है।’

इंडिया टुडे में प्रकाशित एक रिपोर्ट में एमओसी की प्रवक्ता सुनीता कुमार का बयान छपा है। प्रवक्ता ने इंडिया टुडे को बताया, “हमें इस संबंध में कुछ नहीं बताया गया है। मुझे इस बात की जानकारी नहीं है। भारत सरकार ने इस विषय में हमें कुछ नहीं बताया। बैंक लेनदेन का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है। सब बढ़िया है।”

एमओसी के एक नोटिस को कई प्रमुख पत्रकारों ने ट्विटर पर साझा किया है। नोटिस के अनुसार, “हम स्पष्ट करना चाहेंगे कि मिशनरीज ऑफ चैरिटी का एफसीआरए का पंजीकरण न तो निलंबित किया गया है और न ही रद्द किया गया है। इसके अलावा, हमारे किसी भी बैंक अकाउंट पर गृह मंत्रालय द्वारा कोई रोक लगाने का आदेश नहीं दिया गया है।”

Conclusion

हमने अपनी पड़ताल में पाया कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा किया गया, केंद्र सरकार ने मिशनरीज ऑफ चैरिटी (एमओसी) के भारत में सभी बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिए हैं, दावा भ्रामक है। एमओसी के बैंक खातों को गृह मंत्रालय द्वारा फ्रीज नहीं किया गया है, बल्कि नवीनीकरण के लिए भेजे गए एफसीआरए रजिस्ट्रेशन से जुड़े आवेदन की पात्रता शर्त पूरा नहीं होने के कारण रद्द किया गया था।

   

Result: Misleading

Sources:

PIB: https://pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1785580

India Today: https://www.indiatoday.in/india/story/centre-froze-missionaries-of-charity-bank-accounts-mamata-banerjee-1892816-2021-12-27

NDTV: https://www.ndtv.com/india-news/let-christians-celebrate-christmas-in-assam-church-disrupted-2671906; https://www.ndtv.com/india-news/in-karnataka-right-wing-activists-set-christian-religious-books-on-fire-2647730

Outlook: https://www.outlookindia.com/website/story/india-news-christmas-right-wing-activists-disrupt-prayers-in-haryanas-gurgaon/406684

TNM: https://www.thenewsminute.com/article/hindu-right-wing-group-disrupts-christmas-celebration-karnataka-school-159143

Hindustan Times: https://www.hindustantimes.com/cities/chandigarh-news/ambala-jesus-christ-statue-vandalised-at-holy-redeemer-catholic-church-101640551780948.html


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.
Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular