बुधवार, मई 18, 2022
बुधवार, मई 18, 2022

होमFact Checkलखनऊ में पुलिस के साथ मारपीट करने वाले एक व्यक्ति को सपा...

लखनऊ में पुलिस के साथ मारपीट करने वाले एक व्यक्ति को सपा विधायक बताकर सोशल मीडिया पर किया गया भ्रामक दावा

सोशल मीडिया पर एक वीडियो को शेयर कर दावा किया गया कि मुख्तारगंज से सपा विधायक सलीम हैदर ने बीच सड़क पर एक पुलिसकर्मी को पीटा।

सोशल मीडिया पर एक यूजर ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, ‘ये हैं मुख्तारगंज से सपा विधायक सलीम हैदर, साथ में रामगोपाल यादव, कैसे बीच सड़क पर पुलिसकर्मी को थप्पड़ मार रहे हैं, यदि सपा सरकार आ गयी तो क्या हाल होगा? एक वर्दीधारी पुलिस पर इस तरह सरेआम हाथ उठाना, मार-पीट करना कहां तक न्यायसंगत है? पुलिस व प्रशासन की मानहानि कर चुके हैं, योगी सरकार इस पर तुरंत संज्ञान ले, आरोपियों को जेल भेजकर त्वरित कार्यवाही करें और जनता का भरोसा कायम करें।’ 

सपा विधायक सलीम हैदर ने बीच सड़क पर एक पुलिसकर्मी को पीटा
Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है। 

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट के आर्काइव को यहां देखा जा सकता है। 

सपा विधायक सलीम हैदर ने बीच सड़क पर एक पुलिसकर्मी को पीटा
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

सपा विधायक सलीम हैदर ने बीच सड़क पर एक पुलिसकर्मी को पीटा
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

सपा विधायक सलीम हैदर ने बीच सड़क पर एक पुलिसकर्मी को पीटा
FB Post

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

उपरोक्त दावे को ट्विटर पर भी शेयर किया गया है।

Bbc.com की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीते 7 दिसंबर को गोरखपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लाल टोपी वालों को सत्ता चाहिए घोटाले के लिए, प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा, “याद रखिए, लाल टोपी वाले यूपी के लिए रेड अलर्ट हैं यानी ख़तरे की घंटी हैं।”

बतौर रिपोर्ट, सपा अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस बयान पर पलटवार करते हुए बोला कि “भाजपा के लिए ‘रेड अलर्ट’ है ‘लाल टोपी’ क्योंकि वो इस बार भाजपा को यूपी की सत्ता से बाहर करेगी।” 

abplive.com की एक रिपोर्ट के मुताबिक, रायबरेली में एक जनसभा को संबोधित करते हूए बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने सपा को गुंडों की पार्टी बताया।

इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो को शेयर कर दावा किया गया है कि मुख्तारगंज से सपा विधायक सलीम हैदर ने बीच सड़क पर एक पुलिसकर्मी को पीटा।

Fact Check/Verification 

क्या मुख्तारगंज से सपा विधायक सलीम हैदर ने बीच सड़क पर एक पुलिसकर्मी को पीटा? सोशल मीडिया पर शेयर किए गए इस दावे का सच जानने के लिए हमने इसे invid टूल की मदद से कुछ की-फ्रेम्स में बदला। इसके बाद एक की-फ्रेम के साथ गूगल रिवर्स सर्च किया। लेकिन हमें वायरल वीडियो से संबंधित कोई रिपोर्ट नहीं मिली।

सपा विधायक सलीम हैदर ने बीच सड़क पर एक पुलिसकर्मी को पीटा

इसके बाद हमने कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग करते हुए गूगल पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें बीते 4 दिसम्बर को tv9hindi.com द्वारा प्रकाशित एक लेख प्राप्त हुआ। लेख में वायरल वीडियो भी मौजूद था। लेख के मुताबिक, यह घटना यूपी के लखनऊ शहर की है, जहां पर एक दरोगा विनोद कुमार की गाड़ी की टक्कर सड़क पर मौजूद दूसरी गाड़ी से हो गई। इसके बाद आरोपी आशीष शुक्ला ने दरोगा विनोद कुमार को थप्पड़ मारा और मारपीट कर उनकी वर्दी भी फाड़ दी। मामले की जानकारी प्राप्त होते ही पुलिस ने घटनास्थल पर पहुँचकर 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इस घटना का मुख्य आरोपी आशीष शुक्ला नाम का एक व्यक्ति बताया गया है। 

सपा विधायक सलीम हैदर ने बीच सड़क पर एक पुलिसकर्मी को पीटा

बीते 3 दिसम्बर को indiatimes.com द्वारा प्रकाशित एक लेख के मुताबिक, जिन चार आरोपियों को दरोगा विनोद कुमार को थप्पड़ मारने के मामले गिरफ्तार किया गया है, उनका नाम आशीष शुक्ला, प्रांजुल माथुर, प्रियांक माथुर और प्रवेंद्र कुमार है। 

इसके बाद हमने अधिक जानकारी के लिए हसनगंज थाना के SHO अशोक सोनकर से संपर्क किया। उन्होंने बताया कि आशीष शुक्ला जिसने दरोगा को थप्पड़ मारा था वो और उसके तीनों साथी किसी भी पार्टी के नेता नहीं हैं। आशीष शुक्ला एक व्यापारी है। उन्होंने हमें आगे बताया कि आरोपियों पर 395, 353, 323, 504 और 506 जैसी धाराओं में केस दर्ज किया गया है। 

पड़ताल के दौरान हमने लखनऊ पुलिस के ट्विटर हैंडल को खंगाला। इस दौरान लखनऊ पुलिस द्वारा इस वीडियो को लेकर किया गया ट्वीट पोस्ट प्राप्त हुआ, जिसमें लखनऊ पुलिस ने जानकारी दी थी कि दरोगा विनोद कुमार को थप्पड़ मारने के मामले में आशीष शुक्ला, प्रांजुल माथुर, प्रियांक माथुर और प्रवेंद्र कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

आपको बताते चलें कि उत्तर प्रदेश में मुख्तरगंज नाम का विधानसभा निवार्चन क्षेत्र ही नहीं है और ना ही सलीम हैदर नाम का कोई विधायक। 

Conclusion 

इस तरह हमारी पड़ताल में यह साफ़ हो गया कि मुख्तारगंज से सपा विधायक सलीम हैदर ने बीच सड़क पर एक पुलिसकर्मी को पीटा, दावे के साथ शेयर किया जा रहा वीडियो लखनऊ का है और पुलिस को थप्पड़ मारता दिख रहा व्यक्ति, सपा विधायक सलीम हैदर नहीं बल्कि आशीष शुक्ला है। अब वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। 

Result: Misleading

Our Sources

Tv9hindi.com

Indiatimes.com

Police Commissionerate Lucknow

Direct Contact

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular