शनिवार, दिसम्बर 3, 2022
शनिवार, दिसम्बर 3, 2022

होमFact Checkसोशल मीडिया पर वायरल हुई महिला की तस्वीर का मौजूदा किसान आंदोलन...

सोशल मीडिया पर वायरल हुई महिला की तस्वीर का मौजूदा किसान आंदोलन से नहीं है कोई सम्बन्ध

केंद्र द्वारा बनाये गए नए कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन चल रहा है। ऐसे में सोशल मीडिया पर किसान आंदोलन से संबंधित कई तस्वीरें और वीडियोज शेयर की जा रही हैं। ट्विटर पर एक तस्वीर वायरल हो रही है। इस तस्वीर में एक महिला को पुलिसकर्मियों से अकेले मुकाबला करते देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर हाल में चल रहे किसान आंदोलन की है।

इस तस्वीर को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि, “नकली झांसी की रानी को देख चुके तो अब देखो असली झांसी की रानी, जो किसानों के हक के लिए कूद पड़ी है।

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है।

देखा जा सकता है कि इस दावे को ट्विटर पर अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

देखा जा सकता है कि इस दावे को फेसबुक पर भी कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया है।

https://www.facebook.com/616124458458976/photos/a.794517793952974/4766815673389813/
https://www.facebook.com/JamiaWorld1/photos/a.196578601201044/796444174547814/

Fact Checking/Verification

किसान आंदोलन से जोड़कर महिला की वायरल हो रही तस्वीर की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरु की। Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें कुछ परिणाम मिले। हमें Tiju Thankachan नामक ट्विटर हैंडल से किया गया एक ट्वीट मिला। इस हैंडल से साल 2018 में वायरल तस्वीर को किसानों से जोड़ते हुए शेयर किया गया था।

इसके साथ ही फेसबुक पर भी इस तस्वीर को 5 अक्टूबर, 2018 में शेयर किया गया था।

https://www.facebook.com/Nishantbhaisaraiya/photos/p.2143025339283362/2143025339283362/?type=1&theater%3Fref=inbound_article
https://www.facebook.com/hyderabadfunnyclub/photos/a.1729446423984987/1760345530895076/?type=3

तस्वीर पर सटीक जानकारी प्राप्त करने के लिए कुछ अन्य कीवर्ड्स के साथ गूगल खंगालने पर हमें Hindustan Times द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट मिली।

हाल फिलहाल में चल रहे किसान आंदोलन में महिला ने पुलिस को नहीं दिखाई लाठी

रिपोर्ट के मुताबिक कृषि कानून के खिलाफ किसान आंदोलन में महिलाएं भी शामिल हैं। लेकिन वायरल हो रही महिला की तस्वीर हालिया दिनों की नहीं है।

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही तस्वीर का अध्ययन करने पर हमने पाया कि वर्षों पुरानी तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। स्वतंत्र रूप से हम तस्वीर के असली वर्जन को ढूंढने में कामयाब नहीं हो पाए। लेकिन वायरल तस्वीर का साल 2018 से ही इंटरनेट पर मौजूद होना इस बात की तस्दीक करता है कि वायरल तस्वीर का हालिया किसान आंदोलन से कोई लेना देना नहीं है।


Result: False


Our Sources

Facebook https://www.facebook.com/Nishantbhaisaraiya/photos/p.2143025339283362/2143025339283362/?type=1&theater%3Fref=inbound_article

Twitter https://twitter.com/TijuThankacham/status/1047825631629795328

Hindustan Times https://www.hindustantimes.com/cities/women-march-at-par-in-farmers-protest/story-r2X1xPLFQhYCAIo076eDiJ.html


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular