मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022
मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022

होमFact Checkराहुल गाँधी ने नहीं पढ़ा कन्नड़ भाषा का अखबार, वायरल हुआ भ्रामक...

राहुल गाँधी ने नहीं पढ़ा कन्नड़ भाषा का अखबार, वायरल हुआ भ्रामक दावा

Claim:

राहुल गांधी कन्नड़ अखबार पढ़ रहे हैं। वह निश्चित रूप से दुनिया में दुर्लभ प्रजातियों में से एक हैं। 

जानिए क्या है वायरल दावा:

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर राहुल गांधी की तस्वीर वायरल हो रही है। इस तस्वीर में राहुल को अखबार पढ़ते हुए देखा जा सकता है। तस्वीर में नज़र आ रहा अखबार कन्नड़ भाषा में दिख रहा है। दावा किया जा रहा है कि राहुल गांधी कन्नड़ अखबार पढ़ रहे हैं। ट्विटर पर इस तस्वीर को अभी तक 1400 बार रिट्वीट किया गया है और 5300 लोगों ने इसे लाइक भी किया है। 

Verification:

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की वायरल तस्वीर को हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से खंगालना आरंभ किया। नीचे देखा जा सकता है कि वायरल तस्वीर को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है। 

https://twitter.com/Satishs45656140/status/1265691856139980800

खोज में हमने पाया कि कई यूज़र्स द्वारा इस तस्वीर को 2017, 2018 और 2019 में भी शेयर किया गया था।

कुछ टूल्स की मदद से हमने वायरल तस्वीर को खंगाला। पड़ताल के दौरान हमें वायरल तस्वीर से संबंधित कई परिणाम मिले।


पड़ताल के दौरान मिले परिणामों की मदद से खोजने पर हमें Financial Express द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट मिली। यह लेख 12 जून, 2017 को प्रकाशित किया गया था और इस लेख में वायरल तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है। इसके मुताबिक राहुल गांधी ने राष्ट्रीय ‘नेशनल हेराल्ड’ अखबार का स्मारक एडिशन लॉन्च किया था जिसके लिए वह कर्नाटक की राजधानी बेंगलरू गए थे। अंबेडकर भवन में आयोजित इस कार्यक्रम में उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी और राज्यपाल वजूभाई रूदाभाई वाला भी मौजूद थे।  


वायरल तस्वीर को Zoom In करने पर हमने पाया कि कांग्रेस नेता के हाथ में नज़र आ रहे अखबार के फ्रंट पेज पर National Herald लिखा हुआ है। 


वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से और खोजा। पड़ताल के दौरान हमें Hoax Slayer द्वारा अपलोड की गई YouTube वीडियो मिली। इस वीडियो में राहुल गांधी के हाथों में नज़र आ रहे अखबार की पूरी वीडियो है। देखा जा सकता है कि इस अखबार के पहले और आखिरी पेज पर कन्नड भाषा में केवल विज्ञापन दिया हुआ है और बाकी के पेजों में इंग्लिश में खबर लिखी हुई है।   

इसके बाद हमने नेशनल हेराल्ड अखबार के बारे में खोज करनी शुरू की। हमने पाया कि नेशनल हेराल्ड केवल 3 भाषाओं में अखबार छापता है। लेकिन उनमें से कोई भी कन्नड़ में नहीं है। यह अखबार केवल  इंग्लिश (नेशनल हेराल्ड), हिंदी (नव जीवन) और उर्दू (QAUMI AWA) में छपता है।

नीचे NDTV के वीडियो में आप देख सकते हैं कि 12 जून, 2017 को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बेंगलरू में नेशनल हेराल्ड को रिलॉच किया था।

ट्विटर पर न्यूज़ एजेंसी ANI ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से नेशनल हेराल्ड रिलॉच की तस्वीरें ट्वीट की थी। इन तस्वीरों में अखबार पर छपे नेशनल हेराल्ड को साफ देखा जा सकता है। 

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि राहुल गांधी कन्नड़ अखबार नहीं पढ़ रहे हैं बल्कि इंग्लिश अखबार पढ़ रहे हैं। लोगों को भ्रमित करने के लिए 3 साल पुरानी तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। 

Tools Used:

Google Keywords Search 

Media Reports

Twitter Search 

Facebook Search 

YouTube Search 

Result: False

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़तालसंशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected])

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular