बुधवार, अक्टूबर 5, 2022
बुधवार, अक्टूबर 5, 2022

होमFact Checkसाल 1989 में लाल किले की प्राचीर से भूतपूर्व पीएम राजीव गांधी...

साल 1989 में लाल किले की प्राचीर से भूतपूर्व पीएम राजीव गांधी के संबोधन की एडिटेड क्लिप वायरल

Claim:

देखो राजीव गांधी ने खुद बोला है एक कानून जरूरत पड़े तो बदला भी जा सकता है कांग्रेसियों को मिर्गी आ राहुल गांधी पगला गए हो क्या। 

Verification:

ट्विटर पर भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की एक वीडियो वायरल हो रही है। वायरल वीडियो में राजीव गांधी को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि अगर कानून बदलने की ज़रूरत होगी, अगर संविधान को बदलने की ज़रूरत होगी तो हम ज़रूर करेंगे। इसमे कोई कमी नहीं छोड़ेंगे। वायरल वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि देखो राजीव गांधी ने खुद बोला है एक कानून जरूरत पड़े तो बदला भी जा सकता है कांग्रेसियों को मिर्गी आ गई राहुल गांधी पगला गए हो क्या। 

देखा जा सकता है कि राजीव गांधी की वायरल वीडियो को कई यूजर्स द्वारा ट्विटर और YouTube पर शेयर किया जा रहा है। 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही राजीव गांधी की वीडियो को हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से खंगाला। Google Search करने पर हमें कुछ अधिक जानकारी नहीं मिली जिसके बाद हमने YouTube खंगाला। नीचे देखा जा सकता है कि पड़ताल के दौरान हमें वायरल वीडियो से संबंधित कई परिणाम मिले।

खोज के दौरान हमें Prasar Bharati Archives नाम के चैनल पर एक वीडियो मिला। यह वीडियो उस दौरान का है जब 1989 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी दिल्ली के लालकिला से भाषण दे रहे थे। 50 मिनट 40 सैकेंड का वीडियो सुनने के बाद हमने जाना कि 44 मिनट 10 सैकेंड पर वह कहते है कि हमने कुछ खास कदम उठाए हैं जिससे क्रिमिनल और बदमाश हमारे लोकतंत्र में घुस न पाए। पहली बार उन्हें लोकतंत्र से अलग रखने के लिए इतने सख्त कदम उठाए गए हैं। इसके बाद आगे राजीव गांधी कहते हैं कि यह काम ज़रूर करेंगे चाहे कैसी भी चुनौतियों का सामना करना पड़े। जबकि 45 मिनट पर राजीव गांधी कहते हैं कि जनता को वक्त पर इंसाफ मिले। अगर इसके लिए ढांचे भी बदलने की ज़रूरत पड़े तो हम बदलेंगे। लेकिन भारत में आम जनता को अन्याय देने को तैयार नहीं है।  

पड़ताल के दौरान हमने वायरल वीडियो और YouTube पर मिली वीडियो को कंपेयर किया। जहां हमने दोनों में कई चीज़ें एक जैसी पाईं। नीचे तस्वीर में आप देख सकते हैं कि राजीव गांधी की 1989 की स्पीच के साथ छेड़छाड़ कर शेयर किया जा रहा है। 

हमारी पड़ताल में हमने वायरल हो रही वीडियो को गलत पाया है। दरअसल लोगों को भ्रमित करने के लिए सोशल मीडिया पर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 1989 की स्पीच के साथ छेड़छाड़ कर शेयर किया जा रहा है। 

Tools Used

You Tube Search 

Google Search 

Result: False

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected])

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular