शुक्रवार, सितम्बर 30, 2022
शुक्रवार, सितम्बर 30, 2022

होमFact Check"84 के दंगों में हिंदुओं और सिखों ने अपने पापों की कीमत...

“84 के दंगों में हिंदुओं और सिखों ने अपने पापों की कीमत चुकाई”

Viral News

फेक न्यूज़ की जांच के दौरान हमें एक पोस्ट मिला जिसके मुताबिक सलमान खुर्शीद ने अपनी किताब ‘At home in India: A restatement of Indian Muslims’ में हिंदुओं के खिलाफ लिखा है। उनकी किताब में लिखा है कि 1984 के दंगों में हिंदू और सिखों ने 1947 में किए पापों की कीमत चुकाई।

“At Home in India: A restatement of Indian Muslims” in which he writes that what Sikhs (and Hindus) suffered during 1984 riots was only due to their SINS committed against Muslims during 1947 partition.

Investigation

मैसेज के सामने आते ही हमने इसकी सत्यता जानने के लिए पड़ताल शुरू की। सबसे पहले हमने ढूंढना शुरू किया कि ये पोस्ट सबसे पहले कहां प्रकाशित हुआ था। गूगल पर कीवर्ड्स की मदद से हम उस लिंक पर पहुंचे जहां इसे छापा गया था। डिफेंस पीके नामक एक वेबसाइट ने इसे 4 मार्च 2013 में छापा था जिसे नीचे दिए लिंक पर देखा जा सकता है।

https://bit.ly/2IthljA

इस पूरी खोज के दौरान हमें कई विश्वसनीय प्रोफाइल भी मिले जिन्होंने इस खबर को शेयर किया था। जिनमें से एक थे सुब्रमण्यम स्वामी

अच्छी तरह से तलाश करने और कई लेख पढ़ने के बाद हमें ये पता चला कि दरअसल जिस किताब की बात हो रही है वो At Home in India: A restatement of Indian Muslims नहीं है बल्कि At Home in India: The Muslim Saga है। अब ये जानना था कि आखिर सलमान खुर्शीद की इस किताब में ऐसा कुछ कहा गया है या नहीं। हमने किंडल पर इस किताब को खरीद कर इसे पढ़ा और ये पता चला कि सलमान खुर्शीद ने ऐसा कुछ लिखा ही नहीं है बल्कि उनकी किताब में लिखी बातों को तोड़-मरोड़ कर गलत स्क्रीनशॉट के साथ पेश किया गया है। किताब के उस हिस्से को आप नीचे पढ़ सकते हैं।

At Home in India: A restatement of Indian Muslims ये किताब 1986 में लिखी गई थी जबकि At Home in India: The Muslim Saga, 2014 में पब्लिश हुई थी।

Result: False

Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.
Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular