रविवार, सितम्बर 25, 2022
रविवार, सितम्बर 25, 2022

होमFact Checkपश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ताओं ने नहीं किया महिला के साथ बलात्कार,...

पश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ताओं ने नहीं किया महिला के साथ बलात्कार, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ भ्रामक दावा

Claim-माँ दुर्गा और माँ काली को पूजने वाले बंगाल का हाल दीदी के राज में। बसिरहाट के हाड़ोआ में इस महिला का रेप कर कैसे फेंक दिया टीएमसी के गुंडों ने। इंसान नहीं, हैवान हैं ये।

पश्चिम बंगाल से आये दिन कई ऐसे वीडियो और समाचार सामने आते हैं जिनमें राजनीतिक द्वंद साफ़ नजर आता है। इस बार सोशल मीडिया में एक महिला के साथ कथित रूप से तृणमूल कांग्रेस के लोगों द्वारा रेप कर फेंके जाने का दावा वायरल है। दावा किया गया है कि टीएमसी के गुंडों ने महिला के साथ बलात्कार किया और फेंक दिया। पोस्ट के माध्यम से ममता बनर्जी पर भी सवाल उठाया गया है। ट्विटर पर यह दावा सांसद और बंगाल के बीजेपी उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह ने किया है।

ट्विटर पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहाँ देखा जा सकता है।

इसी दावे को ट्वीटर पर कई अन्य यूजर्स ने भी शेयर किया है। शेयर किये गए अन्य दावों का आर्काइव यहाँ देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification


पश्चिम बंगाल के बसीरहाट जिले के हरोआ पुलिस स्टेशन अंतर्गत महिला के साथ घटी घटना की सत्यता जानने के लिए पड़ताल आरम्भ की। पड़ताल के पहले क्लिप को invid टूल की मदद से कई की फ्रेम में बदला। अब गूगल रिवर्स इमेज की सहायता से खोजना शुरू किया। इस दौरान कुछ ऐसा हाथ नहीं लगा जिससे वीडियो के साथ किये जा दावे की सच्चाई से पर्दा उठ पाता।


SS Google reverse search

स्क्रीनशॉट्स के साथ कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग करते हुए खोजना शुरू किया। इस दौरान कुछ पुरानी मीडिया रिपोर्ट्स प्राप्त हुईं, लेकिन उनका इस वाकये के साथ कोई सम्बन्ध नहीं था।


SS Reverse Image Search

वीडियो का सच जानने के लिए पश्चिम बंगाल पुलिस का ट्विटर हैंडल खंगालना शुरू किया। इस दौरान हमें एक ट्वीट मिला जिसे 23 जुलाई को शाम 6 बजे के आसपास पोस्ट किया गया था। पोस्ट में कहा गया है कि बसीरहाट के हरोआ पुलिस स्टेशन के अंतर्गत महिला के साथ घटी घटना को सोशल मीडिया में गलत तरीके से शेयर किया जा रहा है। ट्वीट के मुताबिक जांच में स्पष्ट रूप से कहीं भी इस बात का पता नहीं चलता कि महिला के साथ दुष्कर्म हुआ है। साथ ही एक अन्य ट्वीट में इस बात की भी जानकारी दी गई महिला के साथ गैंग रेप नहीं हुआ है, साथ ही महिला ने अपने बयान में भी इस तरह की किसी बात से इनकार किया है।


पश्चिम बंगाल के सन्दर्भ में हमारी टीम द्वारा किये गए अन्य फैक्ट चेक्स को यहाँ पढ़ा जा सकता है।


पुलिस के हैंडल द्वारा इस बात की पुष्टि तो की गई है कि गैंगरेप या रेप जैसी कोई वारदात नहीं हुई। लेकिन इस बात की तस्दीक अभी बाकी थी कि क्या इस घटना में तृणमूल कांग्रेस के नेता/कार्यकर्ता तो शामिल नहीं थे। दावे की तह तक जाने के लिए बसीरहाट के पुलिस अधीक्षक को कॉल किया। लेकिन उनसे वार्ता नहीं हो पाई। दावे का सच जानने के लिए जिले के साइबर क्राइम निरीक्षक गौतम तालुकदार से हमारी फोन पर वार्ता हुई। उन्होंने हमें बताया कि यह घटना आपसी विवाद के चलते घटित हुई थी। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। इंस्पेक्टर ने यह साफ किया कि इस मामले में कोई भी टीएमसी का नेता/ कार्यकर्ता संलिप्त नहीं है। पुलिस से हुई बात के अलावा हमारी टीम लगातार पीड़ित महिला से संपर्क करने की कोशिश में है। जैसे ही कुछ नई जानकारी सामने आती है लेख को अपडेट किया जायेगा।

हमारी पड़ताल में यह साफ़ हो गया कि सोशल मीडिया में किया जा रहा दावा भ्रामक है।

Sources

West bangal Twitter Handle https://twitter.com/WBPolice/status/1286277195871133697

Direct Contact

Result- Misleading

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें:[email protected])

JP Tripathi
JP Tripathi
Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.
JP Tripathi
JP Tripathi
Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular