मंगलवार, दिसम्बर 7, 2021
मंगलवार, दिसम्बर 7, 2021
होमFact Checkक्या फिर से कोरोना वायरस के कारण उत्तर प्रदेश में लगेगा लॉकडाउन?

क्या फिर से कोरोना वायरस के कारण उत्तर प्रदेश में लगेगा लॉकडाउन?

एक बार फिर से देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने लगे हैं। ऐसे में कोरोना के मामलों को रोकने के लिए महाराष्ट्र, पंजाब और गुजरात सहित कई राज्य फिर से लॉकडाउन की तरफ बढ़ने लगे हैं। इसी बीच सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश को लेकर भी एक खबर वायरल हो रही है। सोशल मीडिया पर यूजर्स उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का एक वीडियो शेयर कर रहे हैं। जिसमें योगी आदित्‍यनाथ कहते हुए नजर आ रहे हैं कि यूपी के 15 जिलों में लॉकडाउन लगाया जा रहा है। इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि एक बार फिर से यूपी में लॉकडाउन वापस आ गया है।

फेसबुक पर ये वीडियो काफी वायरल है। वायरल वीडियो के आर्काइव लिंक को यहां पर देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने InVID टूल की मदद से क्लिप के कुछ कीफ्रेम्स निकाले। एक कीफ्रेम को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें Moneycontrol की एक रिपोर्ट मिली। जिसे 23 मार्च 2020 को प्रकाशित किया गया था। इस रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस के बढ़ते मामले को देखते हुए उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने राज्य के 15 जिलों में लॉकडाउन लगाने की घोषणा की थी है।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल वीडियो का ओरिजनल वीडियो KADAK नाम के एक यूट्यूब चैनल पर मिला। जिसे 22 मार्च 2020 को अपलोड किया गया था। इस वीडियो में सीएम योगी बताते हुए नजर आ रहे हैं कि कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण आगरा, लखनऊ और गौतम बुद्ध नगर समेत 12 और शहरों में लॉकडाउन लगाया जा रहा है।

छानबीन के दौरान हमें @InfoUPFactCheck के ट्विटर अकाउंट पर वायरल दावे से जुड़ा एक ट्वीट मिला। इस ट्वीट में @InfoUPFactCheck द्वारा इस वायरल वीडियो को तकरीबन एक साल पुराना बताया गया है। @InfoUPFactCheck ने वायरल वीडियो की एक तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है, ‘सोशल मीडिया पर प्रसारित यह वीडियो पुराना है। वर्तमान में प्रदेश में किसी प्रकार के लॉकडाउन की योजना नहीं है।’

हमने ये जानने के लिए कि क्या कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण उत्तर प्रदेश में भी लॉकडाउन लगाने का विचार किया जा रहा है, कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च करना शुरू किया। इस दौरान हमें वायरल दावे से जुड़ी Amar Ujala की एक रिपोर्ट मिली। जिसे 16 मार्च 2020 को प्रकाशित किया गया था। इस रिपोर्ट में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह से खास बातचीत की गई थी। रिपोर्ट के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह का कहना है कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश में टेस्टिंग को बढ़ा दिया गया है। होली को ध्यान में रखते हुए हमने रेलवे स्टेशनों और हवाई अड्डों पर भी आने वाले यात्रियों की जांच को बढ़ा दिया है। प्रदेश में कड़ी निगरानी के साथ काम किया जा रहा है। लेकिन फिलहाल लॉकडाउन या फिर नाइट कर्फ्यू के बारे में अभी नहीं सोचा जा रहा है।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ का वायरल वीडियो एक साल पुराना है। मार्च 2020 के वीडियो को सोशल मीडिया पर हालिया दिनों का बताकर शेयर किया जा रहा है। यूपी में एक बार फिर से लॉकडाउन को लेकर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह का कहना है कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए टेस्टिंग को बढ़ाया गया है। लेकिन अभी उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन लगाने जैसा कोई विचार नहीं है।

Result: False


Our Sources

Twitter – https://twitter.com/InfoUPFactCheck/status/1371722536417816579

Amar Ujala – https://www.amarujala.com/lucknow/health-minister-makes-a-big-statement-about-the-lockdown-in-up-in-view-of-holi

You tube – https://www.youtube.com/watch?v=oD7amlBmpVc

Money Control – https://hindi.moneycontrol.com/news/news/covid-19up-districts-15-districts-lockdown-from-23-25-march-cm-yogi-announced_230607.html


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Pragya Shukla
Pragya has completed her Masters in Mass Communication, and has been doing content writing for the last four years. Due to bias and incomplete facts in mainstream media, she decided to become a fact-checker.
Pragya Shukla
Pragya has completed her Masters in Mass Communication, and has been doing content writing for the last four years. Due to bias and incomplete facts in mainstream media, she decided to become a fact-checker.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular