शनिवार, दिसम्बर 10, 2022
शनिवार, दिसम्बर 10, 2022

होमFact Checkविजय माल्या ने देश छोड़ने से पहले बीजेपी को नहीं दिया था...

विजय माल्या ने देश छोड़ने से पहले बीजेपी को नहीं दिया था 35 करोड़ रूपए का चेक, फर्ज़ी हस्ताक्षर के साथ चेक वायरल

बैंकों से कर्ज लेकर विदेश भाग चुके विजय माल्या को लेकर सोशल मीडिया पर एक दावा वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर विजय माल्या के नाम से Axis Bank के एक चेक की तस्वीर वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि लंदन भागने से पहले विजय माल्या द्वारा भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को 35 करोड़ रूपए का चंदा दिया गया था।   

देश छोड़ने से पहले बीजेपी को नहीं दिया था 35 करोड़ रूपए का चेक

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है।

Fact Checking/Verification

विजय माल्या के नाम से वायरल हो रहे चेक की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरु की। Google Keywords Search की मदद से खंगालने पर हमें कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली।  

देश छोड़ने से पहले बीजेपी को नहीं दिया था 35 करोड़ रूपए का चेक

अधिक खोजने पर हमें The Hindu द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक विजय माल्या 2 मार्च, 2016 को भारत से विदेश भाग गया था। जबकि वायरल चेक पर तारीख 8 नवंबर, 2016 दी गई है।  

देश छोड़ने से पहले बीजेपी को नहीं दिया था 35 करोड़ रूपए का चेक

पड़ताल के दौरान हमें ट्विटर पर Vijay Mallya के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किया गया एक ट्वीट मिला। इस हैंडल से एक लेटर ट्वीट किया गया है जिस पर माल्या के हस्ताक्षर हुए हैं। वायरल चेक में किया गया हस्ताक्षर फर्ज़ी है।   

वायरल चेक को ध्यान से देखने पर हमने पाया कि उस पर “ग्लैमर स्टील्स प्राइवेट लिमिटेड” लिखा हुआ है। इस कंपनी के डायरेक्टर अमित कुमार सक्सेना और मुकेश कुमार हैं। इसका विजय माल्या से कोई लेना-देना नहीं है।

विजल माल्या ने देश छोड़ने से पहले बीजेपी को नहीं दिया था 35 करोड़ रूपए का चेक

नीचे तस्वीर में देखा जा सकता है कि वायरल चेक में कई गलतियां हैं।

विजल माल्या ने देश छोड़ने से पहले बीजेपी को नहीं दिया था 35 करोड़ रूपए का चेक

पहली गलती- इस चेक में भारतीय जनता पार्टी के नाम की स्पैलिंग गलत लिखी हुई है।

दूसरी गलती- जिस तारीख का दावा इस चेक में किया जा रहा है वह सही नहीं है क्योकिं माल्या तो 2 मार्च, 2016 को देश छोड़कर भाग गया था।

तीसरी गलती- इस चेक में विजय माल्या द्वारा किए गए हस्ताक्षर असली नहीं हैं।  

चौथी गलती- वायरल चेक पर ग्लेमर स्टील्स प्राइवेट लिमिटेड लिखा हुआ है। जबकि इस कंपनी के मालिक अमित कुमार सक्सेना और मुकेश कुमार हैं।

पांचवी गलती– इस चेक में बीच में 2 लाइन खींचकर क्रॉस किया हुआ है जबकि यह क्रॉस, चेक के बाईं ओर ऊपर की तरफ किया जाता है।   

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि शराब कारोबारी विजय माल्या के नाम से वायरल हो रहा 35 करोड़ का चेक फर्ज़ी है। लोगों को भ्रमित करने के लिए चेक की फोटोशॉप्ड तस्वीर को गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।  


Result: False


Our Sources

Twitter https://twitter.com/TheVijayMallya/status/1011557284521152512

The Hindu https://www.thehindu.com/news/national/vijay-mallya-has-left-india-centre-informs-sc/article8331337.ece


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular