गुरूवार, मई 19, 2022
गुरूवार, मई 19, 2022

होमFact Checkहिजाब को लेकर मचे घमासान से इस वायरल वीडियो का नहीं है...

हिजाब को लेकर मचे घमासान से इस वायरल वीडियो का नहीं है कोई वास्ता, 12 साल पुराना वीडियो फेक दावे के साथ हुआ वायरल

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया जा रहा कि कुछ महिलाएं हिजाब जलाने गई थी, लेकिन वे खुद जल गईं। वायरल वीडियो में एक टंकी के ऊपर कुछ महिलाएं दिखाई दे रही हैं और उन्होंने अपने आपको आग के हवाले कर लिया है।

एक फेसबुक यूजर ने वायरल वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “हिजाब को जलाने गई खुद जल गई … इलियास शरफुद्दीन अल्लाह के सेवक.”

(उपरोक्त पोस्ट को अक्षरश: लिखा गया है।)

Screenshot of Facebook/profile.php?id=100075933244042

वहीं, एक अन्य फेसबुक यूजर ने वायरल वीडियो शेयर करते हुए लिखा, ”हिजाब को फना करने निकले थे खुद फना हो रहे है.”

(उपरोक्त पोस्ट को अक्षरश: लिखा गया है।)

Screenshot of Facebook/profile.php?id=100021376551042

Crowdtangle टूल की सहायता से किये गए एक विश्लेषण के अनुसार, इस वीडियो को पिछले 24 घंटे में फेसबुक पर कुल 27 बार पोस्ट किया गया है, जहां कुल 750 इंटरैक्शन (रिएक्शन, कमेंट, शेयर) हैं।

Screenshot of Crowdtangle Data
Tweet Post- @AzqaanSheikh

दरअसल, बीते दिनों कर्नाटक स्थित उडुपी के एक सरकारी महाविद्यालय में कुछ छात्राएं तय ड्रेस कोड का उल्लंघन कर हिजाब पहनकर क्‍लास में आई थीं। इसके बाद कुंडापुर और बिंदूर जिले के कुछ कॉलेजों में भी ये मामला सामने आया। वहीं, हिजाब के जवाब में कई छात्र भगवा गमछा पहने कॉलेज आने लगे। कर्नाटक में बीते मंगलवार को इस मामले ने तूल पकड़ लिया और कुछ जगहों से नारेबाजी और पत्थरबाजी की भी घटनाएं सामने आईं। उडुपी में हिजाब मुद्दे पर न्यायालय का फैसला आने तक प्राइवेट कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। कर्नाटक में शुरू हुए हिजाब विवाद को लेकर देश-विदेश से तमाम प्रतिक्रियाएं सामने आईं। नोबल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने भी इस विवाद पर अपनी राय जाहिर की। उन्होंने लिखा कि हिजाब पहने हुई लड़कियों को स्कूलों में प्रवेश से रोकना भयावह है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया जा रहा कि कुछ महिलाएं हिजाब जलाने गई थी, लेकिन वे खुद जल गईं।

Fact Check/Verification

‘कुछ महिलाएं हिजाब जलाने गई थी, लेकिन वे खुद जल गईं’, दावे के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किए गए वीडियो की सत्यता जानने के लिए हमने इसे inVid टूल की मदद से कुछ की-फ्रेम्स में बदला। एक की-फ्रेम के साथ गूगल रिवर्स सर्च किया। इस दौरान हमें कोई मीडिया रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई। 

हमने ‘Women set herself fire’ कीवर्ड की मदद से गूगल पर सर्च करना आरंभ किया। इस दौरान हमें Zee News द्वारा 8 फरवरी 2010 को अपलोड की गई एक वीडियो रिपोर्ट प्राप्त हुई। वीडियो रिपोर्ट के मुताबिक, पंजाब के फरीदकोट जिले की रहने वाली 27 वर्षीय किरणजीत अपनी मांगों को लेकर पंजाब सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए कपूरथला में 100 फुट ऊंची पानी की टंकी पर चढ़ गई और खुद को आग लगाकर जान देने की कोशिश की। रिपोर्ट के मुताबिक, महिला की मृत्यु हो गई। 

Screenshot of ZeeNews Youtube Channel

Zee News द्वारा अपलोड किए गए वीडियो में 54वें सेकेंड पर सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो का एक अंश देखा जा सकता है।  

हमने अपनी पड़ताल के दौरान कुछ कीवर्ड की मदद से गूगल पर सर्च करना शुरू किया। इस दौरान हमें Times of India द्वारा 08 फरवरी 2010 को प्रकाशित की गई एक रिपोर्ट प्राप्त हुई। रिपोर्ट के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों का एक समूह, जिसमें पांच महिलाएं और एक पुरुष शामिल थे, पेट्रोल के कैनेस्टर को लेकर पानी टंकी के छत पर चढ़ गए और वहां से आत्मदाह की धमकी देने लगे। बतौर रिपोर्ट, ये सभी लोग EGS (कर्मचारी गारंटी योजना) शिक्षक संघ के सदस्य थे और इनमें से किरणजीत नामक महिला ने खुद को आग के हवाले कर दिया।

Screenshot of Times of India Report

पड़ताल के दौरान हमें NDTV द्वारा 08 फरवरी 2010 को प्रकाशित रिपोर्ट प्राप्त हुई। रिपोर्ट के मुताबिक, पंजाब के कपूरथला में एक विरोध प्रदर्शन के दौरान खुद को आग लगाने वाली 27 वर्षीय शिक्षिका किरणजीत की सोमवार तड़के लुधियाना के एक निजी अस्पताल में मौत हो गई। राज्य सरकार ने शिक्षिका के परिवार के लिए 5 लाख रुपये के अनुदान की घोषणा की है। रिपोर्ट के मुताबिक, सर्व शिक्षा अभियान की एक योजना के तहत EGS शिक्षक पंजाब के ग्रामीण इलाकों में कक्षा 8 तक के छात्रों को पढ़ाते हैं और वे 370 EGS शिक्षकों के लिए प्रारंभिक शिक्षक प्रशिक्षण (ईटीटी) पाठ्यक्रम में प्रवेश और उनकी सेवाओं को नियमित करने की मांग कर रहे थे।

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में ये साफ है कि ‘कुछ महिलाएं हिजाब जलाने गई थी, लेकिन वे खुद जल गईं’, दावा भ्रामक है। वायरल वीडियो पंजाब स्थित कपूरथला का है और साल 2010 का है, जहां अपनी मांग को लेकर एक पानी टंकी पर प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों में से एक ने खुद को आग के हवाले कर लिया था।

 

Result: Fabricated News/False 

Sources

Zee News

Times Of India

NDTV

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.
Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular