मंगलवार, मई 17, 2022
मंगलवार, मई 17, 2022

होमFact Checkयति नरसिंहानंद गिरी की गिरफ्तारी का नहीं है सोशल मीडिया पर वायरल...

यति नरसिंहानंद गिरी की गिरफ्तारी का नहीं है सोशल मीडिया पर वायरल हुआ यह वीडियो

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर यह दावा किया गया कि हरिद्वार धर्म संसद में हेट स्पीच के मामले में गिरफ्तारी के बाद यति नरसिंहानंद गिरी पुलिस के सामने रोने लगे.

हरिद्वार में 17 दिसंबर, 2021 से लेकर 19 दिसंबर, 2021 तक धर्म संसद का आयोजन हुआ था. इस दौरान यति नरसिंहानंद गिरी (Yati Narsinghanand Giri) हाल ही में धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम से हिन्दू बने वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी (Waseem Rizvi alias Jitendra Narayan Tyagi) समेत कुछ अन्य वक्ताओं ने भड़काऊ बयान दिया था.

भड़काऊ बयान का वीडियो वायरल होने के बाद उत्तराखंड पुलिस ने वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी के खिलाफ धारा 153A IPC के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया था. इस मामले में 13 जनवरी, 2022 को हरिद्वार पुलिस ने वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी को गिरफ्तार किया था. इसके बाद 15 जनवरी, 2022 को हरिद्वार धर्म संसद हेट स्पीच (Haridwar Dharm Sansad Hate Speech) मामले में यति नरसिंहानंद गिरी को भी गिरफ्तार कर लिया गया.

इसी क्रम में, सोशल मीडिया यूजर्स ने एक वीडियो शेयर कर यह दावा किया कि हरिद्वार धर्म संसद में हेट स्पीच के मामले में गिरफ्तारी के बाद यति नरसिंहानंद गिरी पुलिस के सामने रोने लगे.

Fact Check/Verification

‘हरिद्वार धर्म संसद में हेट स्पीच के मामले में गिरफ्तारी के बाद यति नरसिंहानंद गिरी पुलिस के सामने रोने लगे रोने लगे’ दावे के साथ शेयर किये जा रहे इस वीडियो की पड़ताल के दौरान हमने पाया कि The Live Tv द्वारा वायरल वीडियो को 13 जनवरी, 2022 को 11:49 PM पर प्रकाशित किया गया है. जबकि हरिद्वार धर्म संसद हेट स्पीच (Haridwar Dharm Sansad Hate Speech) मामले में यति नरसिंहानंद गिरी (Yati Narsinghanand Giri) की गिरफ्तारी 15 जनवरी, 2022 को हुई है.

हरिद्वार धर्म संसद में हेट स्पीच के मामले में गिरफ्तारी के बाद यति नरसिंहानंद गिरी पुलिस के सामने रोने लगे
The Live Tv द्वारा शेयर किये गए फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

The Live Tv द्वारा शेयर किये गए वीडियो में 7 मिनट 10 सेकंड के बाद एंकर को कहते सुना जा सकता है कि, “पुलिस किस काम की… पुलिस की क्या औकात कि हमको हाथ लगा दे. इतना घमंड था इसको… इसका घमंड आज चकनाचूर हो गया है. नेस्तनाबूद हो गया है इसका घमंड. अब ये जेल जा रहा है और जेल जाते ही इसकी… आप देख रहे हैं हरकत. कैसे गिड़गिड़ा रहा है… बिलबिला रहा है. दोनों वीडियो में साफ तौर पर आप देख सकते हो… तीसरा वीडियो भी हमने आपको दिखाया. जिसमे ये जेल जाता हुआ दिखाई दे रहा है… इसको जेल में अब रात में जब मच्छर निचोचेंगे… मतलब काटेंगे तब इसको समझ मे आएगा कि हमने सोशल मीडिया पर बैठकर क्या किया था… हमने धर्म संसद के नाम पर क्या किया था… हमने जो मारो और काटो की बात की थी उसी का नतीजा है कि आज मच्छर जेल में इसका खून चूसेंगे. आप सही बात समझिए इसको क्योकि ये जो अपने आप को तोप समझता था… नफरत की बातें करता था वो अब नफरती आदमी जेल में आ गया है.”

वायरल वीडियो में हरिद्वार धर्म संसद हेट स्पीच (Haridwar Dharm Sansad Hate Speech) मामले में यति नरसिंहानंद गिरी (Yati Narsinghanand Giri) की गिरफ्तारी दिखाने के लिए इस्तेमाल किये गए पहले वीडियो की पड़ताल के लिए, हमने ‘वसीम रिजवी गिरफ्तार’ कीवर्ड्स को यूट्यूब पर ढूंढा. इस प्रक्रिया में हमें Hindustan Times द्वारा प्रकाशित एक वीडियो रिपोर्ट प्राप्त हुई, जिसमें उक्त वीडियो को वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी की गिरफ्तारी के बाद यति नरसिंहानंद गिरी और उत्तराखंड पुलिस के बीच हुई बातचीत का बताया गया है.

MOJO STORY तथा NDTV द्वारा भी उक्त वीडियो को वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी की गिरफ्तारी के बाद यति नरसिंहानंद गिरी और उत्तराखंड पुलिस के बीच हुई बातचीत का ही बताया गया है.

Haridwar Dharm Sansad Hate Speech मामले में Yati Narsinghanand Giri की गिरफ्तारी दिखाने के लिए इस्तेमाल किये गए दूसरे वीडियो को भी कई यूजर्स ने 13 जनवरी, 2022 को शेयर किया है.

इसके अतिरिक्त हमें कई पत्रकारों एवं सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा 15 जनवरी, 2022 को शेयर किया गया Yati Narsinghanand Giri की गिरफ्तारी का वीडियो भी प्राप्त हुआ.

पूरे मामले को लेकर हमने हरिद्वार पुलिस के एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार से बात की. जहां हमें यह बताया गया कि यति नरसिंहानंद की गिरफ्तारी शनिवार यानि 15 जनवरी, 2022 को की गई थी, जिसके बाद उन्हें 16 जनवरी, 2022 को कोर्ट में पेश किया गया था.

बता दें कि The Live Tv द्वारा पूर्व में शेयर किये गए एक भ्रामक दावे को लेकर Newschecker की फैक्ट चेक रिपोर्ट को यहां पढ़ा जा सकता है.

Conclusion

इस प्रकार हमारी पड़ताल में यह बात साफ हो जाती है कि ‘हरिद्वार धर्म संसद में हेट स्पीच के मामले में गिरफ्तारी के बाद यति नरसिंहानंद गिरी पुलिस के सामने रोने लगे’ दावे के साथ शेयर किया जा रहा यह वीडियो असल में वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नरायन त्यागी की गिरफ्तारी का है.

Result: Misplaced Context

Our Sources

Hindustan Times: https://www.youtube.com/watch?v=SAuPR4CS074

Prasansha Kalita: https://twitter.com/KalitaPrasansha/status/1482393565246652419

SP City, Haridwar Police

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

Saurabh Pandey
Saurabh Pandey
A self-taught social media maverick, Saurabh realised the power of social media early on and began following and analysing false narratives and ‘fake news’ even before he entered the field of fact-checking professionally. He is fascinated with the visual medium, technology and politics, and at Newschecker, where he leads social media strategy, he is a jack of all trades. With a burning desire to uncover the truth behind events that capture people's minds and make sense of the facts in the noisy world of social media, he fact checks misinformation in Hindi and English at Newschecker.
Saurabh Pandey
Saurabh Pandey
A self-taught social media maverick, Saurabh realised the power of social media early on and began following and analysing false narratives and ‘fake news’ even before he entered the field of fact-checking professionally. He is fascinated with the visual medium, technology and politics, and at Newschecker, where he leads social media strategy, he is a jack of all trades. With a burning desire to uncover the truth behind events that capture people's minds and make sense of the facts in the noisy world of social media, he fact checks misinformation in Hindi and English at Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular