सोमवार, अक्टूबर 25, 2021
सोमवार, अक्टूबर 25, 2021
होमCoronavirusओमान की राजकुमारी ने नहीं की भारतीयों को देश से निकाले जाने...

ओमान की राजकुमारी ने नहीं की भारतीयों को देश से निकाले जाने की बात, वायरल हुआ फेक दावा

Claim:

ओमान की राजकुमारी ने कहा कि वो 10 लाख भारतीयों को वहां से निकाल देंगी ।

जानिए क्या है वायरल दावा:

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इन दिनों एक अखबार की कटिंग वायरल हो रही है। इस वायरल कटिंग में ओमान की राजकुमारी सय्यैद मोना बिंत फहद अल सैद द्वारा दावा किया जा रहा है कि ओमान में रह रहे 10 लाख भारतीयों को यहां से निकाल दूंगी। वायरल अखबार की कटिंग में कहा जा रहा है कि “ कोरोना वायरस के संक्रमण के लिए तबलीगी जमात के कार्यक्रम और मुस्लिम समुदाय को जिम्मेदार ठहराया जाने लगा तो इस्लामिक सहयोग संगठन समेत कई मुस्लिम देशों ने इसकी कड़ी आलोचना की। इस मामले में यूएई के बाद ओमान की राजकुमारी भारत के खिलाफ भड़क उठी। उन्होंने भारत में मुस्लिमों के उत्पीड़न का आरोप लगाया और चेतावनी जारी करते हुए कहा कि ओमान भारत में अपने भाइयों और बहनों के साथ खड़ा है। अगर भारत सरकार मुस्लिमों का उत्पीड़न नहीं रोकती  है तो ओमान में रह रहे 10 लाख भारतीयों को निकाल दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत में मुस्लिमों की प्रताड़ना के पीछे आरएसएस का हाथ है। इसे मौजूदा सरकार का भी समर्थन हासिल है। मैं यूएन व अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों से आरएसएस को बैन करने की मांग करती हूं। 

Verification:

कथित रूप से चीन के वुहान स्थित जानवरों के मार्केट से फैला कोरोना वायरस आज पूरी दुनिया में अपने पैर पसार चुका है। सोशल मीडिया पर इन दिनों अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं। ऐसे में ओमान की राजकुमारी द्वारा किए जा रहे दावे को हमने खंगालना शुरू किया। 

देखा जा सकता है वायरल अखबार की कटिंग को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है। 

https://twitter.com/DrSuhana2/status/1254791079892856832

कुछ कीवर्ड्स की मदद से हमने वायरल दावे को खंगालना शुरू किया। पड़ताल के दौरान हमें वायरल दावे से संबंधित कई परिणाम मिले।

पड़ताल के दौरान मिले परिणामों में हमें आज तक और अमर उजाला द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट मिली। लेख पढ़ने के बाद हमने जाना कि पाकिस्तान ने ओमान की राजकुमारी का फर्ज़ी ट्विटर हैंडल बनाकर भारत के खिलाफ नफरत भरे उल्टे-सीधे पोस्ट किए हैं। 

https://aajtak.intoday.in/gallery/oman-princess-mona-bint-says-muslims-targeted-warns-indians-may-be-expelled-tlif-8-49257.html

वायरल दावे से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमने ट्विटर खोजना आरंभ किया। पड़ताल में हमने पाया कि Pak Army नामक हैंडल का यूज़र नेम बदलकर @SayyidaMona किया गया है। नीचे देखा जा सकता है कि इस प्रोफाइल को आधिकारिक साबित करने के लिए मोना की तस्वीर भी लगाई गई और बायो में ‘ओमान की राजकुमारी’ लिखा गया। 

आपको बता दें कि इस हैंडल पर ‘पैरोडी’ भी लिखा हुआ है। लेकिन यह ओमान की राजकुमारी का ट्विटर हैंडल नहीं है। लोगों को भड़काने के लिए इस हैंडल से भारत के खिलाफ ट्वीट किया गया था।  

वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने @pak_fauj हैंडल के पुराने ट्वीट्स को खोजा। नीचे देखा जा सकता है कि पाकिस्तानी सेना ने यह हैंडल बनाया था। वायरल दावा पैरोडी हैंडल से किया गया था जिसका यूजरनेम पहले @pak_fauj था। 

नीचे देख सकते हैं कि ट्विटर ने @SayyidaMona के हैंडल को अब सस्पैंड भी कर दिया है।

अब हमने ट्विटर पर ओमान की राजकुमारी मोना बिंत फहद अल सैद के आधिकारिक हैंडल को खोजा। पड़ताल में हमने राजकुमारी का आधिकारिक ट्विटर हैंडल मिला जिसको आप नीचे देख सकते हैं। 

खोज के दौरान हमें @MonaFahad13 नामक यूज़रनेम से 22 अप्रैल को किया गया एक ट्वीट मिला। नीचे आप ट्वीट को देख सकते हैं। ट्वीट पोस्ट करके राजकुमारी ने कहा, “मेरे एक फर्जी अकाउंट के जरिए एक विवादित पोस्ट वायरल हो रही है। मेरा उससे कोई लेना-देना नहीं है। मुझे आप सभी पर भरोसा है कि आप इन सभी चीज़ों के बारे में उजागर करें। ऐसी चीजें ओमानी समाज को मंजूर नहीं है। आपको बता दूं कि मैं इंस्टाग्राम पर @hhmonaalsaid और ट्विटर पर @MonaFahad13 के जरिए मौजूद हूं। 

ओमान की राजकुमारी मोना बिंत फहद अल सैद  ने इंस्टाग्राम पर भी अपने आधिकारिक अकाउंट से वायरल दावे पर सफाई पेश की है। 

https://www.instagram.com/p/B_SDDRxJAJW/?igshid=kfe563co950a

ट्विटर पर Al iskander नामक हैंडल से भी एक ट्वीट किया गया है। इस ट्वीट में भी बताया गया है कि भारत के खिलाफ दुष्प्रचार करने के लिए पाकिस्तानी, नाम बदलकर ट्विटर का फायदा उठा रहे हैं।

https://twitter.com/TheSkandar/status/1253010467062050821

पत्रकार Palki Sharma ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर वायरल खबर को फर्ज़ी बताया है। 

ओमान में भारत के राजदूत (Ambassador of India to the Sultanate of Oman) मुनु महावर (Munu Mahawar) ने राजकुमारी द्वारा सफाई जारी करने के लिए शुक्रिया कहा है। ट्वीट में उन्होंने लिखा कि “भारत ओमान के साथ अपने मैत्रीपूर्ण संबंधों को महत्व देता है। हम ओमान के लोगों और सरकार के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे ताकि हमारे विशेष संबंधों को और मजबूत किया जा सके। 

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि ओमान की राजकुमारी मोना बिंत फहद अल सैद ने भारत के खिलाफ कोई बयान नहीं दिया। लोगों को भ्रमित करने के लिए @pak_fauj ने राजकुमारी का फर्ज़ी हैंडल बनाकर ट्वीट किया था। 

Tools Used:

Google Keywords Search 

Media Reports 

Twitter Search 

Result: False/ Fabricated 

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़तालसंशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in)

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular