सोमवार, जुलाई 22, 2024
सोमवार, जुलाई 22, 2024

होमFact CheckFact Check: गोहत्या का यह वायरल वीडियो कर्नाटक का नहीं है

Fact Check: गोहत्या का यह वायरल वीडियो कर्नाटक का नहीं है

Authors

Vasudha noticed the growing problem of mis/disinformation online after studying New Media at ACJ in Chennai and became interested in separating facts from fiction. She is interested in learning how global issues affect individuals on a micro level. Before joining Newschecker’s English team, she was working with Latestly.

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

Claim

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद कुछ लोगों ने बीजेपी के झंडे पर एक गाय को बेरहमी से काट दिया।

Courtesy:Twitter@Surya_Maithil

Fact

दावे की सत्यता जानने के लिए हमने गूगल पर “Cow slaughter” और “BJP Flag” कीवर्ड्स सर्च किया। हमें uncensoredlive नामक ट्विटर हैंडल से 2 फरवरी 2022 को किया गया एक ट्वीट मिला। इसमें वायरल तस्वीर मौजूद है। ट्वीट के कैप्शन के मुताबिक, यह घटना मणिपुर की है।

मणिपुर में भाजपा के झंडे के ऊपर “मुस्लिम युवकों द्वारा गौहत्या” दावे के साथ कई ट्विटर यूजर ने 2022 में यह वीडियो शेयर किया था।

साल 2022 में मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह के ट्विटर हैंडल से ‘azad_nishant‘ के ऐसे ही एक ट्वीट में एक मीडिया रिपोर्ट का स्क्रीनशॉट शेयर किया गया था। Imphal Free Press की इस रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी उम्मीदवारों की सूची को लेकर कथित तौर पर गौहत्या करने के आरोप में तीन गिरफ्तार।

Screengrab from Twitter

रिपोर्ट में बताया गया है कि सोशल मीडिया पर वायरल हुए गौहत्या के वीडियो में कथित रूप से शामिल तीन व्यक्तियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसके अलावा, रिपोर्ट में दी गई जानकारी के मुताबिक, मणिपुर विधानसभा चुनाव में बीजेपी उम्मीदवारों के टिकटों की घोषणा के विरोध में कुछ लोगों द्वारा पार्टी के झंडे के ऊपर गौहत्या करते हुए देखा गया था।

PetaIndia ने भी इस मामले में ट्वीट कर जानकारी दी कि मणिपुर की लिलोंग पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है और IPC की धारा 153A, 429, 504 और पशु क्रूरता निवारण अधिनियम, 1960 की धारा 11 (1) के तहत एफआईआर दर्ज की है। 

पड़ताल के दौरान हमें द हिंदू’ की वेबसाइट पर 1 फरवरी, 2022 को छपी एक रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक, लिलोंग में गिरफ्तार किए गए इन तीनों आरोपियों पर मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह और  भाजपा अध्यक्ष ए. शारदा के खिलाफ गाली देने का भी आरोप है। गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान लिलोंग के नजबुल हुसैन (38), अब्दुल राशिद (28) और अरीब खान (32) के रूप में हुई है। 

हमारी पड़ताल में यह साबित हो गया कि मणिपुर का एक साल पुराना वीडियो कर्नाटक का बताकर भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

Result: False

Our Sources
Tweet By @NBirenSingh, February 1, 2022
Tweet By @PetaIndia, February 1, 2022
Report By The Hindu, Dated February 1, 2022

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Authors

Vasudha noticed the growing problem of mis/disinformation online after studying New Media at ACJ in Chennai and became interested in separating facts from fiction. She is interested in learning how global issues affect individuals on a micro level. Before joining Newschecker’s English team, she was working with Latestly.

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular