शुक्रवार, अगस्त 6, 2021
शुक्रवार, अगस्त 6, 2021
होमFact Checkपश्चिम बंगाल में ड्रग्स के साथ पकड़ी गई बीजेपी नेत्री पामेला गोस्वामी...

पश्चिम बंगाल में ड्रग्स के साथ पकड़ी गई बीजेपी नेत्री पामेला गोस्वामी की तस्वीर गलत दावे के साथ हुई वायरल

पश्चिम बंगाल में होने जा रहे विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी हर तिकड़म आजमा रही है। चुनाव जीतने के लिए बीजेपी सहित अन्य राजनीतिक दल अलग-अलग हथकंडे अपना रहे हैं। ऐसे में फेसबुक पर हिंदी अखबार पत्रिका की एक कटिंग वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि गृह मंत्री अमित शाह की करीबी और बंगाल बीजेपी महिला मोर्चा की महासचिव जूही चौधरी बच्चों की तस्करी के आरोप में गिरफ्तार हुई हैं। वायरल कटिंग में अमित शाह की एक तस्वीर भी छपी हुई है। इस तस्वीर में शाह के नज़दीक एक महिला को खड़े हुए देखा जा सकता है। इस तस्वीर के ज़रिए कहा जा रहा है कि अमित शाह के साथ खड़ी महिला जूही चौधरी हैं।     

https://www.facebook.com/photo/?fbid=10159049402124158&set=a.437218839157

बच्चों की तस्करी

देखा जा सकता है कि इस दावे को फेसबुक और ट्विटर पर अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है। 

बच्चों की तस्करी

Crowd Tangle के डाटा के मुताबिक वायरल तस्वीर को हज़ारों लोग फेसबुक और ट्विटर पर शेयर कर चुके हैं। 

बच्चों की तस्करी

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां, यहां और यहां देखा जा सकता है। 

Fact Check/Verification

पश्चिम बंगाल की बीजेपी नेता जूही चौधरी द्वारा बच्चों की तस्करी को लेकर किए जा रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू की। गूगल कीवर्ड्स सर्च की मदद से खंगालने पर हमें 2 मार्च, 2017 को NDTV और अमर उजाला द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट्स मिली। इन रिपोर्ट्स के मुताबिक चार साल पहले पश्चिम बंगाल में सीआईडी (CID) ने जूही चौधरी को दार्जिलिंग में भारत-नेपाल बॉर्डर से गिरफ्तार किया था। जूही पर 17 बच्चों की तस्करी करवाने का आरोप था।  

बच्चों की तस्करी

YouTube खंगालने पर हमें ABP News के आधिकारिक चैनल पर अपलोड की गई वीडियो मिली। इसके मुताबिक बीजेपी महिला मोर्चा की नेता को बच्चों की तस्करी के मामले में पकड़े जाने के बाद उन्हें इस पद से हटा दिया गया था।

क्या अमित शाह के साथ तस्वीर में हैं जूही चौधरी?

Google Reverse Image Search की मदद से सर्च करने पर हमें Dr. Bhola Singh MP का एक ट्वीट मिला। इस ट्वीट के कमेंट बॉक्स में एक यूज़र ने कमेंट करते हुए बोला कि तस्वीर में दिख रही महिला पामेला गोस्वामी हैं। 

पड़ताल के दौरान हमें पता चला कि Pamela Goswami नामक फेसबुक पेज पर 7 नवंबर, 2020 को वायरल तस्वीर पोस्ट की गई थी। इस तस्वीर को पोस्ट करते हुए इसकी लोकेशन कोलकाता स्थित The Westin Kolkata Rajarhat बताई गई है। 

https://www.facebook.com/Pamelakolkata/photos/a.107016047316019/399318018085819/?type=3

इस फेसबुक पेज पर 7 नवंबर, 2020 को कुछ अन्य तस्वीरें भी पोस्ट की गई थी। इससे साफ होता है कि अमित शाह के साथ नज़र आ रही महिला जूही चौधरी नहीं बल्कि पामेला गोस्वामी हैं। 

https://www.facebook.com/Pamelakolkata/photos/399318151419139

Getty Images पर हमें अमित शाह के बंगाल दौरे की कई तस्वीरें प्राप्त हुईं। जिसको नीचे देखा जा सकता है। इन तस्वीरों में अमित शाह को वही कपड़े और मास्क पहने हुए देखा जा सकता है। जिसे उन्होंने वायरल तस्वीर में पहना हुआ है।

बच्चों की तस्करी

News18 और ABP द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पश्चिम बंगाल बीजेपी युवा मोर्चा की महिला नेता पामेला गोस्वामी को ड्रग्स रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने बीजेपी की इस नेता के पास से 100 ग्राम कोकीन बरामद किया था।    

Conclusion

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि गृह मंत्री अमित शाह के साथ नज़र आ रही महिला जूही चौधरी नहीं बल्कि, पामेला गोस्वामी हैं। पड़ताल में हमने पाया कि बंगाल में बच्चों के तस्करी की चार साल पुरानी खबर को अभी का बताकर शेयर किया जा रहा है। 

Result: Misleading 


Our Sources

NDTV https://ndtv.in/india-news/cops-turned-sanyasis-to-catch-bjps-juhi-choudhury-in-west-bengal-child-racket-1665212 

Amar Ujala https://www.amarujala.com/india-news/bjp-women-s-wing-leader-arrested-in-child-trafficking 

YouTube https://www.youtube.com/watch?v=TMwRp3S_TNA  

ABP https://www.abplive.com/news/india/bjp-leader-pamela-goswami-arrested-with-cocaine-know-about-her-1781833 


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular