रविवार, अक्टूबर 2, 2022
रविवार, अक्टूबर 2, 2022

होमFact Checkक्या लद्दाख सीमा पर पोस्टिंग होने के डर से रो रहे हैं...

क्या लद्दाख सीमा पर पोस्टिंग होने के डर से रो रहे हैं चीनी सैनिक? चीनी सेना की वीडियो भ्रामक दावे के साथ वायरल

ट्विटर पर चीनी सैनिकों की 14 सेकंड की एक वीडियो तेज़ी से वायरल हो रही है। इस वीडियो में बस के अंदर चीनी सैनिकों को रोते हुए देखा जा सकता है। Taiwan News द्वारा दावा किया जा रहा है कि भारतीय सीमा की और जाते वक्त चीनी सैनिकों को रोते हुए देखा जा सकता है।

इस वीडियो को ट्विटर पर 5900 लोगों द्वारा रिट्वीट किया गया है और 15,523 यूज़र्स द्वारा इस वीडियो को लाइक भी किया गया है।

वायरल दावे के आर्काइव वर्ज़न को यहां और यहां देखा जा सकता है।

नीचे देखा जा सकता है कि ट्विटर पर इस वीडियो को अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

फेसबुक पर भी इस वीडियो को कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

इस पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही वीडियो की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल को शुरू किया। Google Keywords Search की मदद से खंगालने पर हमें Hindustan Times और Eurasian Times द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट्स मिली।

इन रिपोर्ट्स के मुताबिक सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो सबसे पहले 22 सितंबर, 2020 को चाइनीज़ ऐप We Chat पर अपलोड किया गया था। लेकिन थोड़े समय बाद इस वीडियो वहां से हटा दिया गया था। वीडियो में नज़र आ रहे सभी सैनिकों की नई भर्ती हुई थी।

चीनी मीडिया Taiwan News द्वारा दावा किया जा रहा है कि ड्रैगन फोर्स लद्दाख सीमा की ओर जाते हुए चीनी सैनिकों की आंखों में आए आंसू।

अधिक खोजने पर हमें Disp.cc की एक रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक चीन के यिंगझोउ जिले के फुयांग शहर के 10 युवकों को सेना में भर्ती किया गया। इस भर्ती में कुछ ऐसे लोग हैं जो कॉलेज के छात्र थे और कुछ तिब्बती सीमा पर नियमित स्वयंसेवक थे। सितंबर से चीन में ठंड शुरू हो जाती है जिसके चलते इन सभी सैनिकों को नई यूनिफॉर्म भी दी गई थी। इन सभी लोगों के परिवार वाले इनको विदाई, फेयरवेल (Farewell) दे रहे थे, जिसकी वजह से सभी सैनिक भावुक हो गए थे।

चीनी मीडिया Taiwan News द्वारा दावा किया जा रहा है कि ड्रैगन फोर्स लद्दाख सीमा की ओर जाते हुए चीनी सैनिकों की आंखों में आए आंसू।

Express.co.uk द्वारा प्रकाशित मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पीएलए (PLA) के सैनिक बस में देशभक्ति पूर्ण चीनी गीत ‘Green Flowers in Army’ गा रहे थे।

चीनी मीडिया Taiwan News द्वारा दावा किया जा रहा है कि ड्रैगन फोर्स लद्दाख सीमा की ओर जाते हुए चीनी सैनिकों की आंखों में आए आंसू।

पड़ताल के दौरान हमने पाया कि कई हिंदी मीडिया ने वायरल वीडियो पर भ्रामक खबर प्रकाशित की है। Zee News, नई दुनिया और TV9 भारतवर्ष द्वारा चीन के सैनिकों की रोने वाली वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया गया।

चीनी मीडिया Taiwan News द्वारा दावा किया जा रहा है कि ड्रैगन फोर्स लद्दाख सीमा की ओर जाते हुए चीनी सैनिकों की आंखों में आए आंसू।

Zee News, TV9 भारतवर्ष और नई दुनिया द्वारा प्रकाशित की गई रिपोर्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल के दौरान हमने पाया कि फेसबुक पर Zaid Hamid Best Comedian ने अपनी फेसबुक प्रोफाइल के बायो (BIO) में लिखा हुआ है कि शेयर की जा रही सभी पोस्ट पूरी तरह से झूठी हैं। यह केवल एक मनोरंजन के लिए हैं।

इससे यह अनुमान लगाया जा सकता है कि Zaid Hamid द्वारा शेयर की गई चीनी सैनिकों के रोने वाली वीडियो को इंडियन मीडिया ने सच समझकर इस पर खबर प्रकाशित कर दी हो।

इस दावे को News Meter द्वारा डिबंक किया गया है। इसके मुताबिक चीनी सैनिक इंडो-चाइना बॉर्डर जाने के डर से नहीं रो रहे हैं बल्कि अपने परिवार से दूर जाने के चलते भावुक हो गए थे।

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही वीडियो का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि रोते हुए चीनी सैनिकों की वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। पड़ताल में हमने पाया कि यिंगझोउ जिले के फुयांग शहर में नए सैनिक अपने परिवार और गांव को अलविदा कहते हुए भावुक हो रहे थे।


Result: Misleading


Our Sources

Hindustan Times https://www.hindustantimes.com/videos/world-news/watch-chinese-soldiers-cry-on-way-to-india-border-taiwan-media-mocks/video-gGjzidQK8HDcqnmnxO51LL.html

Express.uk.co https://www.express.co.uk/news/world/1338845/China-India-war-world-war-3-Chinese-Indian-troops-conflict-border-Xi-Jinping

YouTube https://www.youtube.com/watch?v=77gmc1WY49Y

News Meter https://newsmeter.in/fact-check-video-showing-chinese-soldiers-crying-on-their-way-to-indo-china-border-is-false/


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular