सोमवार, अगस्त 8, 2022
सोमवार, अगस्त 8, 2022

होमFact CheckWeekly Wrap: सोशल मीडिया पर इस हफ़्ते वायरल हुए टॉप 5 फेक...

Weekly Wrap: सोशल मीडिया पर इस हफ़्ते वायरल हुए टॉप 5 फेक दावों का सच, पढ़ें हमारी यह रिपोर्ट

इस सप्ताह सोशल मीडिया पर राष्ट्रपति चुनाव से सम्बंधित एक वीडियो क्लिप काफी सुर्खियों में थी। इस क्लिप को शेयर कर दावा किया गया था कि पीएम मोदी ने पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को नजरअंदाज कर दिया। इस वीडियो को लेकर सोशल मीडिया पर पीएम मोदी की काफी आलोचना हुई। इसी हफ्ते केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी को लेकर भी फेक दावे शेयर किए गए। इसी तरह स्वास्थ्य संबंधी एक दावा शेयर करते हुए कहा जाने लगा कि हींग का पानी जहर के असर को खत्म कर देता है। इसके अलावा, कई अन्य खबरों पर भी फेक दावे शेयर किए गए जिनका फैक्ट चेक हमारी इस रिपोर्ट में पढ़ा जा सकता है।

क्या पीएम मोदी ने किया पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को नजरअंदाज?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर यह दावा किया गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिवादन का जवाब ना देकर उनका अपमान किया गया। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ।

युवक द्वारा युवती को धमकाए जाने के इस वायरल वीडियो में नहीं है ‘लव जिहाद’ का कोई एंगल

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया जाने लगा कि मध्य प्रदेश के इंदौर में एक मुस्लिम युवक शादी का दबाव बनाने के लिए चाकू लेकर एक हिन्दू युवती को धमकाने लगा। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ।

क्या स्मृति ईरानी की बेटी ने गोवा के रेस्टोरेंट में बेचा बीफ और पोर्क?

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए दावा किया जाने कि स्मृति ईरानी की बेटी के रेस्टोरेंट में बीफ और पोर्क परोसा जाता है। हमारी पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित हुआ।

बिहार में सिपाही पत्नी ने पति के साथ की बेवफाई, किसी अन्य महिला की तस्वीर को शेयर कर फैलाया गया भ्रम

सोशल मीडिया पर एक युवती की तस्वीर को शेयर कर दावा किया गया कि यह उसी महिला पुलिस की तस्वीर है जिसने बिहार में अपने पति के साथ बेवफाई की है। हमारी पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ।

क्या हींग का पानी ख़त्म कर सकता है जहर का असर?

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए दावा किया जाने लगा कि यदि कोई व्यक्ति जहर खा ले तो उसे हींग का पानी पिलाना चाहिए क्योंकि यह जहर के असर को खत्म कर देता है। हमारी पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित हुआ।

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular