शुक्रवार, जनवरी 28, 2022
शुक्रवार, जनवरी 28, 2022
होमFact Checkहरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर और भूपेंद्र सिंह हुड्डा की एक...

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर और भूपेंद्र सिंह हुड्डा की एक साल पुरानी तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ किया गया शेयर

हरियाणा विधानसभा में मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव गिर गया है। खट्टर सरकार के पक्ष में 55 विधायकों ने वोट दिया जबकि अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 32 विधायक थे। ऐसे में सोशल मीडिया पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की एक तस्वीर वायरल हो रही है। वायरल तस्वीर में मनोहर लाल खट्टर, पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा सहित एक अन्य व्यक्ति को एक साथ खड़े हुए देखा जा सकता है। इस तस्वीर को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि, ‘यह तस्वीर बता रही है कि कौन किससे मिला हुआ है।’ तस्वीर को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर उस दौरान की है जब हरियाणा में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था।   

मनोहर लाल खट्टर

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां और यहां देखा जा सकता है।

देखा जा सकता है कि इस दावे को फेसबुक और ट्विटर पर अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।  

मनोहर लाल खट्टर

Fact Check/Verification

वायरल हो रही तस्वीर की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू की। Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें 26 नवंबर, 2019 को  Deccan Herald द्वारा प्रकाशित की गई एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट के मुताबिक यह तस्वीर चंडीगढ़ में खींची गई थी। यह तस्वीर उस दौरान की है जब हरियाणा में बीजेपी विधायक रणबीर सिंह गंगवा प्रजापति को राज्य विधानसभा का डिप्टी स्पीकर चुना गया था। 

मनोहर लाल खट्टर

अलग-अलग कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर हमें Outlook की फोटो गैलरी मिली। यहां पर भी वायरल तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है। इस तस्वीर के साथ कैप्शन में बताया गया है कि यह तस्वीर उस दौरान की जब बीजेपी विधायक रणबीर सिंह गंगवा प्रजापति को राज्य विधानसभा का डिप्टी स्पीकर चुना गया था। यह तस्वीर न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के फोटोग्राफर द्वारा खींची गई थी। 

मनोहर लाल खट्टर

तस्वीर की पड़ताल के दौरान हमें 26 नवंबर, 2019 को Live Hindustan द्वारा प्रकाशित की गई एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट में भी वायरल तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है। यह तस्वीर उस दौरान की है जब भाजपा विधायक रणबीर गंगवा को हरियाणा विधानसभा का उपाध्यक्ष चुना गया था। 

मनोहर लाल खट्टर

Conclusion

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि लगभग एक साल पुरानी तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। पड़ताल में हमने पाया कि यह तस्वीर साल 2019 की है। इस तस्वीर का हरियाणा सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव से कोई लेना-देना नहीं है। 


Result: Misleading 


Our Sources

Outlook

Deccan Herald 

Live Hindustan 


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular