शनिवार, अक्टूबर 1, 2022
शनिवार, अक्टूबर 1, 2022

होमFact Check2016 की तस्वीरों को गलत दावों के साथ किया जा रहा है...

2016 की तस्वीरों को गलत दावों के साथ किया जा रहा है वायरल

CLAIM

कश्मीर में युवकों ने हाथ में पत्थर लेकर पढ़ी ईद की नमाज़

पत्थर हाथ में लेकर नमाज पढ़ते हुए
भटके
हुए नौजवान इसे कहते हैं पवित्र ईद☠
What is this ???????? @Shehla_Rashid pic.twitter.com/doIJ4VNMcE

️SAMBIT PATRA ️ (@ANUJ_SANATANI) June 7, 2019

VERIFICATION

पिछले कुछ दिनों से ईद से जुड़ी कई खबरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। Newschecker की टीम के हाथ एक ऐसी ही खबर लगी है। ट्विटर पर पोस्ट की गई इस तस्वीर के मुताबिक कश्मीर में युवकों ने ईद के दिन कुछ इस तरह नमाज पढ़ी है।

शांति बहाल के लिए प्रार्थना करते शांतिदूत…. #गद्दारोंकीफौज #StonePelters pic.twitter.com/tK2JYPaxyr

मैं गार्गी चन्द्रे (@GargiChandre) June 6, 2018

जय हिन्द! pic.twitter.com/XuGoTB8TwS

— Prashant Vir Singh (@prashanthts90) June 6, 2018

हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च पर डाला तो कई ट्विटर प्रोफाइल सामने आए जिन्होंने इस तस्वीर को शेयर किया था।

इसी दौरान हमें पंजाब केसरी का एक लेख मिला जिसमें वायरल हो रही तस्वीर छपी थी। 2016 में प्रकाशित हुए इस लेख के मुताबिक कुपवाड़ा जिले के लोलाब और दुग्रमूला में मारे गए आतंकवादियों के नमाजे जनाजा में शामिल होने वाले युवाओं ने मुंह पर कपड़ा बांध हाथों में पत्थर लेकर नमाज अता की।

एक और तस्वीर सोशल मीडिया पर बड़ी तेजी से वायरल हो रही है इस तस्वीर में सुरक्षाबल के जवान के सिर से खून बह रहा है। तस्वीर ये कहकर फैलाई जा रही है कि ये जवान कश्मीर में पत्थरबाजों का निशाना बना है।

गूगल इमेज सर्च हमें अमर उजाला के उस लेख तक ले पहुंचा जहां ये तस्वीर डाली गई थी। खबर के मुताबिक 2016 में यूपी विधानसभा का घेराव करने पहुंचे बीजेपी कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प हो गई थी जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हुए थे।

TOOLS USED

  • Google Reverse Image Search
  • Google Search

RESULT: MISLEADING

Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.
Preeti Chauhan
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular