शनिवार, दिसम्बर 4, 2021
शनिवार, दिसम्बर 4, 2021
होमFact Checkकवर्धा के नाम पर वायरल हो रहा है घरों में लगे राम...

कवर्धा के नाम पर वायरल हो रहा है घरों में लगे राम ध्वज का पुराना वीडियो

छत्तीसगढ़ के कवर्धा में बीते 3 अक्टूबर को झंडा लगाने को लेकर हुए विवाद ने 5 अक्टूबर को  हिंसा का रूप ले लिया, जिसमें 70 से ज्यादा गिरफ्तारियां हुईं और इलाके में धारा 144 लागू की गई थी। हिंसा के बाद कई वीडियो वायरल होने लगीं, जो कवर्धा का ही होने का दावा करते हैं। ऐसा ही एक वीडियो @zeneraalstuff ट्विटर हैंडल द्वारा पोस्ट किया गया है, जिसमें लगभग हर घर के ऊपर भगवा झंडे लहराते हुए दिख रहे हैं। वीडियो को इस दावे के साथ पोस्ट किया गया कि यह कवर्धा का है।

(कवर्धा का होने की दावा करने वाले ट्वीट का स्क्रीनशॉट)

यह लेख लिखे जाने तक इस ट्वीट को 2,800 से ज्यादा Retweet और 10,000 लाइक्स मिल चुके हैं। यह वीडियो कर्वधा का बता कर कई अन्य ट्विटर यूजर्स ने भी ट्वीट किया है।

(बीते 7 अक्टूबर का कवर्धा की वीडियो होने का दावा करने वाले अन्य ट्विटर यूजर्स)

गौरतलब है कि बीते 3 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ के कवर्धा शहर के ‘लोहारा नाका चौक’ नामक इलाके में एक धार्मिक ध्वज को हटाने पर हाथापाई के बाद छत्तीसगढ़ के कवर्धा से झड़पों की सूचना मिली थी। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, झंडे को हटाने का स्थानीय युवाओं ने विरोध किया, जिसके बाद विवाद जैसा माहौल बन गया। उसके बाद 5 अक्टूबर को भगवा झंडे वाले समूहों ने शहर में विरोध प्रदर्शन किया। जिसकी वजह से इस विवाद ने सांप्रदायिक हिंसा का रूप ले लिया। 

Fact Check/Verification

वायरल खबर की सत्यतता जानने के लिए हमने रिवर्स इमेज सर्च के जरिए पड़ताल की। पड़ताल करने  पर पता चला कि वीडियो को पहले फेसबुक पर @budharamhindustani1 नाम के एक प्रोफाइल द्वारा जून 2021 में ‘जय जय श्री राम!!!! संस्कार और तलवार पुराने ही अच्छे लगते हैं!!! जय श्री राम, जय महाकाल !! जय हिंदुत्व!’ कैप्शन के साथ शेयर किया गया था। फेसबुक पोस्ट यहां देखा जा सकता है।

(जून में किए गए फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट)

जून में पोस्ट किए गए फेसबुक वीडियो को अब तक 1,20,000 से ज्यादा लोगों ने लाइक किया है और कम से कम 68 लोगों ने कमेंट किया है।

Conclusion

हमने फ़ैक्ट चेकिंग टूल के जरिए पड़ताल करने पर पाया कि कर्वधा के नाम पर शेयर किया जा रहा वीडियो इससे पहले जून में भी वायरल हुआ था, हालांकि Newschecker इसकी पुष्टि फिलहाल नहीं कर सकता कि यह वीडियो कहां का है लेकिन इतना साफ है कि यह वीडियो कवर्धा में भड़की हिंसा के बाद का नहीं है।

Result: Misleading

Sources

Social media post-https://www.facebook.com/watch/?v=1445404095833030&ref=sharing


किसी संदिग्ध खबर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular