गुरूवार, दिसम्बर 1, 2022
गुरूवार, दिसम्बर 1, 2022

होमFact Checkयहां जानें आसमान से बरसती मछलियों का सच

यहां जानें आसमान से बरसती मछलियों का सच

Claim

Gifts of God from skyies for

Non-vegetarians.

Fine fishes, make dishes and enjoy.

(आसमान से माँसाहारी लोगों के लिए भगवान का तोहफ़ा। )

Verification

ट्विटर पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें मछलियों की बारिश का दावा किया गया है। खोजने पर पता चला कि ऐसी खबर जुलाई 2016 में मुंबई पुणे-एक्सप्रेस वे से आई थी। साल 2016 में जयपुर के खंसूरजपुर गाँव में हुई मछलियों की बारिश की खबर टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था।

आसमान से मछलियों के बारिश की खबर नई नहीं है। इससे पहले साल 2015 में आंध्रप्रदेश के गोल्लामुंडी और पाल्लगिरी गाँव में हुई मछलियों की बारिश की खबर द टेलीग्राफ में छपी थी।

क्या सच में ऐसा मुमकिन है इसकी हकीकत जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू की। बारीकी से देखने पर पता चला कि वायरल हो रहा वीडियो एडिट किया गया है और उसमें एक अन्य वीडियो का क्लिप भी ऐड किया गया है। गूगल खंगालने पर पता चला कि असल में मछलियां बादल से नहीं बरसतीं। तूफ़ान या बारिश के दौरान आसपास के जल स्रोतों से उड़ कर कई बार यह ज़मीन पर गिरती हैं। 

वैज्ञानिकों के अनुसार यह घटना जल स्रोतों में तेज़ बवंडर या चक्रवात के असर से होती है। मूसलाधार बारिश के दौरान जलस्रोतों में बवंडर आने से इसके भंवर में मछलियां व अन्य जलजीव आ जाते हैं। प्रवाह के तेज या कम होते ही भंवर में फंसी मछलियां व अन्य जीव ज़मीन पर गिरने लगते हैं और ऐसा प्रतीत होता है कि ये आसमान से गिर रहे हों। ऐसा सिर्फ मछलियों या छोटे जलजीवों के साथ नहीं होता, कई अन्य देशों में तो मगरमच्छ और साँपों की भी ऐसी बारिश देखी गई है। 

पूरी जानकारी के लिए UNITED STATES DEPARTMENT OF THE INTERIOR, BUREAU OF COMMERCIAL FISHERIES की रिपोर्ट को आप पढ़ सकते हैं।

Tools Used:

  • Twitter Advanced Search
  • Google Keywords Search

Result: Misleading

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular