शनिवार, नवम्बर 26, 2022
शनिवार, नवम्बर 26, 2022

होमFact Checkलिंचिंग के नाम पर सालों से बार-बार शेयर की जा रही है...

लिंचिंग के नाम पर सालों से बार-बार शेयर की जा रही है बांग्लादेश की ये वीडियो

Claim

Verification

झारखण्ड में ‘जय श्रीराम’ के नारे को लेकर हुई मॉब लिंचिंग के बाद सांप्रदायिक दंगों के नाम पर मॉब लिंचिंग के कई वीडियो तेज़ी से सोशल मीडिया में वायरल हो रहे हैं। उन्हीं में से एक वीडियो हमें मिली जिसे पिछले कई सालों से अलग-अलग संदर्भ के साथ फेसबुक, ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर खूब शेयर किया जा रहा है। साल 2017 में इसे बिहार के नवादा जिले का बता कर व्हाट्सऐप, फेसबुक और ट्विटर पर शेयर किया जा रहा था। जिसको तब फेक साबित कर दिया गया था जिसके बाद कई सोशल साइट्स से इस वीडियो को हटा लिया गया।

अब एक बार फिर इस वीडियो को कुछ ट्विटर हैंडल द्वारा शेयर किया जा रहा है। ट्विटर पर @Nationalist_Om नाम के अकाउंट से इस वीडियो को शेयर किया गया है जिसे कई लोगों ने रीट्वीट भी किया है।

ये अकांउट पत्रकार पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ का पैरोडी अकाउंट है।

वीडियो को हमने अपनी तरफ से फिर से ढूँढने की कोशिश की जिसके बाद हमें वीडियो से संबंधित बांग्लादेश के बंगाली न्यूज़ वेबसाइट कुमिल्ला-र-कागोज में 2 अप्रैल, 2017 को छपी खबर “মনির চেয়ারম্যান হত্যা মামলার আসামিকে কুপিয়ে হত্যা” मिली। इसका हिंदी में अनुवाद है “चेयरमैन मुनीर हत्याकांड मामले के दोषियों को मारा चाकू”

यूट्यूब पर भी यह वीडियो इसी दिन एक बांग्लादेशी द्वारा अपलोड किया गया जिसमें पूरी घटना के बारे में बताया गया है।

Tools Used

  • Twitter Advanced Search
  • Google Keywords Search
  • YouTube Search
  • Google Translate

 

Result: False

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular