मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022
मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022

होमFact CheckViralक्या गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली की झांकी में सिर्फ मस्जिद...

क्या गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली की झांकी में सिर्फ मस्जिद दिखाई गई? जानिए वायरल वीडियो का पूरा सच

26 जनवरी को निकली दिल्ली की झांकी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। वीडियो में अजान की आवाज सुनाई दे रही है। दावा किया जा रहा है कि 26 जनवरी की झांकी में दिल्ली को इस्लामिक शहर के रूप में दर्शाने की कोशिश की गई है।  

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने भी इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, ‘दिल्ली की झांकी से ये स्पष्ट हो गया है कि अब दिल्ली ना सेक्युलर है और ना ही सहिष्णु। यह सिर्फ बादशाह की है, अगर ऐसा है तो अब इसे वापस लेने का समय आ चुका है, जय हिंद’।

पोस्ट से जुड़ा आर्काइव लिंक यहां देखा जा सकता है।

Fact Checking/Verification

वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने अपनी पड़ताल शुरू की। हम डीडी नेशनल के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर गए, वहां पर हमने 26 जनवरी की परेड का वीडियो सर्च किया, जिसके बाद हमें 3 घंटे का एक वीडियो मिला।

प्राप्त वीडियो में को पूरा देखने के बाद हमें पता चला कि 1 घंटे 55 मिनट पर दिल्ली की झांकी को दिखाया गया था। जिसे शाहजहांनाबाद- चांदनी चौंक का पुनर्विकास नाम दिया गया था। दिल्ली की झांकी में शुरुआत में वायरल वीडियो का हिस्सा नजर आता है, अजान की आवाज सुनाई देती है। लेकिन कुछ देर बाद आवाज बदलती है, फिर एक ओमकार सुनाई देता है।

 

डीडी के वीडियो में दिल्ली की झांकी को पूरा देखने के बाद हमें पता चला कि इस झांकी में सिर्फ मस्जिद नहीं दिखाया गया था, बल्कि झांकी में दो मंदिर, चर्च और गुरुद्वारे को भी शामिल किया गया था। डीडी के वीडियो में 1 घंटे 57 मिनट पर इन सभी विजुअल्स को देखा जा सकता है। 

पड़ताल के दौरान हमें The Hindu का एक लेख मिला, जिसमें दिल्ली के अधिकारियों ने बताया है कि हमने झांकी को धार्मिक और सांस्कृतिक सौहार्द का संदेश देते हुए दिखाया था। इसलिए हमने 1.3 से 1.5 किलोमीटर रास्ते पर मस्जिद, मंदिर, चर्च और गुरुद्वारे सभी को दिखाया था। ये सभी चांदनी चौक के पुनर्विकास कार्यक्रम का हिस्सा हैं। 

छानबीन के दौरान हमें Danika Jagran और ANI की भी पोस्ट मिली। इन दोनों ही पोस्ट में दिल्ली की झांकी को शाहजहांनाबाद पुर्नविकास की झलक बताया गया था। इसके बाद ये तो साफ हो गया कि दिल्ली को इस्लामिक शहर नहीं बल्कि शाहजहांनाबाद पुर्नविकास के तौर पर दिखाया गया था।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक दिल्ली की झांकी में सिर्फ मस्जिद नहीं दिखाया गया है। झांकी में मस्जिद, मंदिर, चर्च और गुरुद्वारे दिखाये गए हैं। झांकी में दिल्ली को इस्लामिक शहर नहीं बल्कि शाहजहांनाबाद पुर्नविकास के तौर पर दिखाया गया था।

Result: Misleading


Our Sources

DD News Youtube- https://www.youtube.com/watch?v=qbwXmZb3QKk&feature=emb_title

The Hindu – https://www.thehindu.com/news/cities/Delhi/centre-approves-delhi-tableau-featuring-new-chandni-chowk/article33496749.ece

ANIhttps://www.aninews.in/news/national/general-news/republic-day-parade-delhi-tableau-displays-redevelopment-of-chandni-chowk20210126151953/

Danika Jagran – https://www.jagran.com/delhi/new-delhi-city-ncr-only-covid-19-negative-artists-will-be-able-to-participate-in-republic-day-parade-delhi-21297979.html


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular