शुक्रवार, जुलाई 23, 2021
शुक्रवार, जुलाई 23, 2021
होमFact Checkक्या पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा का है यह वायरल वीडियो?

क्या पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा का है यह वायरल वीडियो?

पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा और हिंसक झड़प के कई वीडियोज वायरल हो रहे हैं। रोजाना हिंसा की कोई न कोई वीडियो या फोटो, सोशल मीडिया पर ट्रेंड होते है। ऐसा ही एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। जिसमें कुछ लोग आर्मी के जवानों के साथ हिंसक व्यवहार करते हुए नजर आ रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि वायरल वीडियो पश्चिम बंगाल का है। वहां पर मुसलमानों की गुंडागर्दी इस हद तक बढ़ चुकी है कि पुलिस, फौज और सीआरपीएफ सभी मुश्किल से अपनी जान बचा रहे हैं। 

पोस्ट से जुड़े आर्काइव लिंक को यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने वीडियो को इनविड टूल की मदद से कुछ कीफ्रेम्स में बदला। फिर हमने एक कीफ्रेम को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें H.M.Al Amin नाम के एक फेसबुक पेज पर 8 मिनट का पूरा वीडियो मिला। जो कि फेसबुक पर किए गए एक लाइव की रिकॉर्डिंग था। इसी वीडियो में से वायरल वीडियो के हिस्से को निकाला गया था। जिसे 28 मार्च 2021 को फेसबुक पर अपलोड किया गया था। इस वीडियो के कैप्शन में बंगाली में लिखा गया था, ‘हत्जारी रोड पर सेना।’ इसके बाद हमने हत्जारी रोड को गूगल पर सर्च किया। इस दौरान हमें पता चला कि ये रोड बांग्लादेश के चटगांव में है।

पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा
पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा का नहीं है ये वीडियो

इसके बाद हमने पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए H.M.Al Amin की फेसबुक प्रोफाइल को खंगाला। फिर हमें पता चला कि ये एक बांग्लादेशी फेसबुक पेज है। जिसे वहीं से संचालित किया गया है। इस पेज पर बांग्लादेश से जुड़ी कई पोस्ट की गई थी।

हमने 8 मिनट के इस वीडियो को पूरा देखा। इस दौरान हमने कुछ चीजों पर गौर किया। सबसे पहले हमने आर्मी की गाड़ी की नंबर प्लेट को गौर से देखा तो पाया कि ये नंबर प्लेट भारत की नंबर प्लेट से काफी अलग थी। नंबर प्लेट पर बांग्ला में लिखा हुआ था। हमें वीडियो में 4 मिनट 33 सेकंड पर एक कोचिंग सेंटर का बोर्ड नजर आया। जिस पर Al Hera Tahfizul Quran Islamic Academy का नाम लिखा हुआ था। जब हमने गूगल पर इसके बारे में सर्च किया तो पता चला कि ये कोचिंग सेंटर बांग्लादेश में है।

पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा का नहीं है ये वीडियो
पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा
पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा का नहीं है ये वीडियो

सर्च के दौरान हमें यही हूबहू वीडियो The Bangladesh Defence Analyst नाम के फेसबुक पेज पर भी मिला। जिसे 29 मार्च 2021 को अपलोड किया गया था। जिसके कैप्शन में लिखा हुआ था ‘बांग्लादेश में इस्लामिक चरमपंथियों ने एक सड़क को ब्लॉक कर दिया, लेकिन बांग्लादेश सेना की एम्बुलेंस को नहीं रोका पाए। क्योंकि वो सेना को देखकर डरे और घबराए हुए थे। उन्होंने पहले कभी सेना का सामना नहीं किया था।’

पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा
पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा का नहीं है ये वीडियो

इन सभी जानकारियों के आधार पर हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल वीडियो से जुड़ी एक खबर Thedailystar.net पर मिली। जिसे 27 मार्च 2021 को प्रकाशित किया गया था। रिपोर्ट के मुताबिक बांग्लादेश के हत्जारी मदरसा छात्रों द्वारा बांग्लादेश में ये हिंसक प्रदर्शन किया गया था।

पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक वायरल वीडियो का पश्चिम बंगाल से कोई संबंध नहीं है। पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा का नहीं है ये वायरल वीडियो। असल में यह वीडियो बांग्लादेश में छात्रों द्वारा किए गए एक हिंसक प्रदर्शन का है। जिसे अब सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

Read More : क्या पश्चिम बंगाल चुनाव को लेकर I-PAC ने जारी किया एग्जिट पोल?

Result: False

Claim Review: पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा का है यह वायरल वीडियो, आर्मी भी नहीं है सेफ।
Claimed By: वायरल पोस्ट,सोशल मीडिया
Fact Check: False

Our Sources

Facebook –https://www.facebook.com/DefsecaBD/posts/298606118365565

Facebook –https://www.facebook.com/100018385470670/videos/784178318871677

 Thedailystar-https://www.thedailystar.net/country/news/hathazari-madrasa-students-construct-wall-block-ctg-khagrachhari-highway-2067673

.


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Pragya Shukla
Pragya has completed her Masters in Mass Communication, and has been doing content writing for the last four years. Due to bias and incomplete facts in mainstream media, she decided to become a fact-checker.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular