सोमवार, जनवरी 17, 2022
सोमवार, जनवरी 17, 2022
होमFact Checkहिन्दू-मुस्लिम समर्थन के नाम पर कांग्रेस द्वारा शेयर की गई फोटोशॉप्ड...

हिन्दू-मुस्लिम समर्थन के नाम पर कांग्रेस द्वारा शेयर की गई फोटोशॉप्ड तस्वीर

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर कर दावा किया गया है कि उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं। 

UP East Youth Congress ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस तस्वीर को शेयर कर लिखा कि ‘गंगा जमुनी तहजीब की तस्वीर चंद ज़हरीले लोगो के जहर से खत्म नही होने वाली। ये तस्वीर इस और भी इशारा कर रही है कि उत्तरप्रदेश के दिल मे इस बार सिर्फ कांग्रेस है। हिन्दू मुस्लिम सिक्ख ईसाई आपस में हम भाई भाई! बोलता उत्तरप्रदेश आ रही है काँग्रेस!’ 

(उपरोक्त ट्वीट को अक्षरशः लिखा गया है।)

उपरोक्त ट्वीट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है।

वायरल तस्वीर को फेसबुक पर भी शेयर किया गया है।

उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है। 

उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है। 

उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है। 

8 जनवरी 2022 को livehindustan.com द्वारा प्रकाशित एक लेख के मुताबिक, उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए चुनाव 7 चरणों में होंगे। 10 फरवरी 2022 से चुनाव शुरू होगा और 10 मार्च 2022 को चुनाव के नतीज़े आएंगे।

बतौर लेख, चुनाव आयोग ने बढ़ते कोरोना महामारी के बीच रोड शो और रैलियों पर रोक लगा दिया है। चुनाव आयोग ने कहा है कि चुनाव प्रचार डिजिटल, वर्चुअल और मोबाइल के जरिए करें। इसी बीच एक तस्वीर को शेयर कर दावा किया गया है कि उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं।

Fact check/Verification 

‘उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं’ दावे के साथ शेयर की गई तस्वीर का सच जानने के लिए हमने तस्वीर के साथ कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग कर गूगल रिवर्स किया।

 

उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं
Screenshot

गूगल रिवर्स सर्च के दौरान हमें एक फेसबुक पोस्ट मिला। इस फेसबुक पोस्ट में तस्वीर तो वही अपलोड की गई है जिसे ‘उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं’ दावे के साथ शेयर किया गया है, लेकिन इस फेसबुक पोस्ट की तस्वीर में जो पोस्टर लगा है वह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस का है।

प्राप्त फेसबुक पोस्ट को देखने के बाद पता चला कि मुमकिन है कि ‘उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं’ दावे के साथ शेयर की गई तस्वीर में जो पोस्टर दिख रहा है, वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी का न होकर तृणमूल कांग्रेस का हो।

इसके बाद हमने प्राप्त फेसबुक पोस्ट की तस्वीर को गूगल रिवर्स की मदद से खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां का 3 मार्च 2021 का एक ट्वीट प्राप्त हुआ। नुसरत जहां ने इस ट्वीट में वायरल तस्वीर को शेयर कर BJP IT CELL के अध्यक्ष अमित मालवीय पर निशाना साधा था। नुसरत जहां ने वायरल तस्वीर को ट्वीट कर लिखा था कि हर धर्म, जाति, रंग और लिंग के लोग ममता बनर्जी के साथ खड़े हैं।

 

इसके बाद हमने तस्वीर के साथ कुछ कीवर्ड्स का प्रयोग करते हुए इस दोबारा गूगल रिवर्स किया।

 

उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं
Screenshot

इस दौरान हमें Didi Ke Bolo नाम का एक वेरीफाइड फेसबुक पेज मिला। इस पेज ने वायरल तस्वीर को 2 मार्च 2021 को शेयर किया था। 

इस आधार पर हमने पाया कि ‘उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं’ दावे के साथ शेयर की गई तस्वीर फोटोशॉप्ड है।

हिन्दू-मुस्लिम

जब हमने Didi Ke Bolo के बारे में जानकारी जुटाई तो पता चला कि यह ममता बनर्जी द्वारा शुरू किया गया एक अभियान है, जिसके तहत सरकार आपसे आपके सुझाव और समस्या को जानती है ताकि सरकार आपकी समस्याओं का निवारण कर सके। 

Read More: अभिनेता सोनू सूद कांग्रेस पार्टी में नहीं हुए शामिल, भ्रामक दावा हुआ वायरल

Conclusion

 

इस तरह हमारी पड़ताल में यह साफ़ हो गया कि ‘उत्तर प्रदेश में हिन्दू-मुस्लिम एक होकर कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं’ दावे के साथ शेयर की गई तस्वीर फोटोशॉप्ड है। अब फोटोशॉप्ड तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

Result: Manipulated Media 

Source

Didi Ke Bolo FB Post

Nusrat Jahan Tweet

Prabir Kar Rajarhat Newtown FB Post

Self Analysis

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular