शुक्रवार, मई 20, 2022
शुक्रवार, मई 20, 2022

होमFact Checkक्या पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के छुए पैर? सोशल मीडिया...

क्या पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के छुए पैर? सोशल मीडिया पर शेयर किया गया भ्रामक दावा

बीजेपी की प्रवक्ता शाइना एन सी(Shaina NC) ने अपने ट्विटर हैंडल से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक तस्वीर को शेयर कर कैप्शन में लिखा है कि ‘काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के उद्घाटन के मौके पर पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के पैर छुए और उनसे आशीर्वाद लिया।’ दावे के मुताबिक, आरती डोगरा काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की मुख्य वास्तुकार हैं।

(Viral Tweet)

वायरल ट्वीट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है।

NEWSNATION की एक रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीते 13 और 14 दिसंबर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट श्रीकाशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन किया। जिसके बाद से आए दिन सोशल मीडिया पर काशी कॉरिडोर और पीएम मोदी के वाराणसी दौरे से जोड़कर कई कंटेंट तेजी से शेयर किये जा रहे हैं। इसी क्रम में बीजेपी प्रवक्ता साइना एन सी ने उनकी एक तस्वीर को शेयर कर यह दावा किया गया है कि पीएम मोदी (PM Modi) ने आईएएस आरती डोगरा के पैर छुए और उनसे आशीर्वाद लिया।

वायरल दावे को ट्विटर पर कई अन्य यूजर्स द्वारा भी शेयर किया गया है।

(Tweet Post)
(Tweet Post)
(Tweet Post)

ट्वीट्स का आर्काइव वर्जन यहां, यहां और यहां देखा जा सकता है।

वायरल दावे को फेसबुक पर भी कई यूजर्स द्वारा शेयर किया गया है।

पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के पैर छूए और उनसे आशीर्वाद लिया
(Screenshot Of Facebook Post)
पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के पैर छूए और उनसे आशीर्वाद लिया
(Screenshot Of Facebook Post)

फेसबुक पोस्ट्स को यहां और यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/ Verification

सोशल मीडिया पर वायरल ‘पीएम मोदी (PM Modi) ने आईएएस आरती डोगरा (IAS Aarti Dogra) के पैर छुए और उनसे आशीर्वाद लिया’ दावे के साथ शेयर की गई तस्वीर का सच जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू किया। इसके लिए सबसे पहले हमने वायरल तस्वीर को गूगल रिवर्स किया। इस दौरान हमें वायरल तस्वीर से संबंधित बीते 16 दिसंबर को ZEE NEWS द्वारा प्रकाशित एक लेख प्राप्त हुआ। प्राप्त लेख में वही तस्वीर प्रकाशित की गई है, जिसे सोशल मीडिया पर पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के पैर छुए और उनसे आशीर्वाद लिया, दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के पैर छूए और उनसे आशीर्वाद लिया
(गूगल पर तस्वीर को सर्च करने के दौरान प्राप्त नतीजों का स्क्रीनशॉट)

ZEE NEWS द्वारा प्रकाशित लेख के मुताबिक, पीएम मोदी बीते 13 और 14 दिसंबर को वाराणसी दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने काशी विश्वनाथ कॉरिडोर परियोजना का उद्घाटन किया। इसके बाद ही शिखा रस्तोगी नाम की एक दिव्यांग महिला पीएम मोदी से मिलने आई थीं। महिला को देखते ही पीएम ने तुरंत उसका हालचाल पूछा। महिला अपना परिचय देते हुए जैसे ही प्रधानमंत्री का आशीर्वाद लेने के लिए आगे बढ़ी तो पीएम ने उन्हें रोक दिया और खुद ही महिला के पैर छुए।

पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के पैर छूए और उनसे आशीर्वाद लिया
(ZEENEWS द्वारा प्रकाशित लेख का स्क्रीनशॉट)

रिपोर्ट में प्राप्त जानकारी की पुष्टि के लिए हमने कुछ कीवर्ड्स की सहायता से गूगल पर खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें कई मीडिया रिपोर्ट्स प्राप्त हुईं। हमें क्रमश: बीते 14 और 16 दिसंबर को न्यूज18 और अमर उजाला द्वारा प्रकाशित लेख प्राप्त हुए।

न्यूज18 की रिपोर्ट के मुताबिक, वाराणसी दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ धाम का उद्घाटन किया। इस बीच एक दिव्यांग महिला उनसे मिली और उनके पैर छूने लगी, लेकिन प्रधानमंत्री ने उस महिला को पैर छूने से रोका और खुद उसके पैर छूने लगे। महिला का नाम शिखा था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिखा से बातचीत की और उनका हालचाल भी जाना।

पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के पैर छुए और उनसे आशीर्वाद लिया
(गूगल पर सर्च करने के दौरान प्राप्त नतीजों का स्क्रीनशॉट)
पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के पैर छूए और उनसे आशीर्वाद लिया
(न्यूज18 में प्रकाशित लेख का स्क्रीनशॉट)

जानिए कौन है शिखा रस्तोगी?

नवभारत टाइम्स के मुताबिक, 40 वर्षीय शिखा रस्तोगी वाराणसी के सिगरा की रहने वाली हैं। ये जन्म से ही विकलांग हैं। शिखा ने घर पर ही रहकर 10वीं तक की पढ़ाई पूरी की थी। इन्हें डांस का बहुत शौक है। यह खुद भी डांस करती हैं और दूसरों को भी सिखाती हैं। वाराणसी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर उद्घाटन के दौरान शिखा ने पीएम मोदी से दूसरी बार मुलाकात की और पीएम ने उन्हें देखते ही पहचान लिया था। उस दौरान पीएम ने उनके पैर छूए और हालचाल पूछा साथ ही उन्होंने शिखा से कहा कि विश्वनाथ कॉरिडोर में उनके लिए दुकान भी आवंटित कर दिया है।

पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोगरा के पैर छूए और उनसे आशीर्वाद लिया
(अमर उजाला में प्रकाशित लेख का स्क्रीनशॉट)

जानिए कौन हैं आरती डोगरा(Aarti Dogra)?

अमर उजाला की एक रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तराखंड के देहरादून में जन्मीं आरती डोगरा, 2006 बैच की एक महिला आईएएस अधिकारी हैं। उनकी लम्बाई लगभग साढ़े तीन फुट है। आरती डोगरा पहले डिस्कॉम की मैनेजिंग डायरेक्टर रहीं, बाद में अजमेर के जिलाधिकारी के पद पर तैनात हुईं। आरती ने उत्तराखंड में ही अपनी पढ़ाई को पूरा किया। पढ़ाई के दौरान ही इनकी मुलाकात उस समय आईएएस रही मनीषा पंवार से हुई थी, जिन्होंने आरती का मार्गदर्शन किया था। जिसके बाद उन्होंने आईएएस बनने का इरादा बनाया। आरती डोगरा ने अपने पहले ही प्रयास में UPSC की परीक्षा पास कर ली थी।

जानिए कौन हैं काशी विश्वनाथ धाम के मुख्य वास्तुकार?

दैनिक जागरण की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का खाका अहमदाबाद निवासी पद्मश्री डॉ बिमल पटेल द्वारा तैयार किया गया था। बिमल पटेल अहमदाबाद में सेंटल फॉर एनवायरमेंटल प्लानिंग एंड टेक्नोलॉजी (CEPT) के अध्यक्ष हैं। साल 2019 में उन्हें वास्तुकला और योजना के क्षेत्र में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।

Conclusion: 

प्राप्त मीडिया रिपोर्ट्स से यह बात स्पष्ट हो जाती है कि सोशल मीडिया पर किया गया ‘पीएम मोदी ने आईएएस आरती डोंगरा के पैर छुए और उनसे आशीर्वाद लिया’ दावा गलत है। दावे के साथ शेयर की गई तस्वीर में पीएम मोदी जिससे आशीर्वाद ले रहे हैं, वह आईएएस आरती डोगरा नहीं बल्कि शिखा रस्तोगी नाम की एक दिव्यांग महिला हैं।

Result: Misleading

Sources:

Media Reports:

ZEE NEWS

NEWS18

Amar Ujala

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular