रविवार, मई 22, 2022
रविवार, मई 22, 2022

होमFact CheckPoliticsक्या अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार बनने पर यूपी में बनाएंगे...

क्या अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार बनने पर यूपी में बनाएंगे 2000 नई मस्जिदें? फेक दावा वायरल है

सोशल मीडिया पर एक टेम्पलेट शेयर कर दावा किया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो यूपी में 2000 नए मस्जिद बनवाये जाएंगे। 

वायरल टेम्पलेट में लिखा है ‘पश्चिमी यूपी और पूर्वांचल में 2000 नई मस्जिद बनाई जाएगी, अयोध्या में बाबरी मस्जिद के लिए 1000 करोड़ रुपये दिए जाएंगे, अयोध्या का नाम परिवर्तन किया जाएगा, दलितों और पिछड़ों का आरक्षण कम करके मुसलमानों को 30% आरक्षण दिया जाएगा, लव जेहाद कानून को खत्म किया जाएगा, यह वादा है मेरा मुसलमानों से, :अखिलेश यादव’

(वायरल टेम्पलेट में लिखी बातों को अक्षरशः लिखा गया है।) 

एक यूजर ने वायरल टेम्पलेट को शेयर कर लिखा कि ‘2000 मस्जिद, बाबरी के लिए ₹1000 करोड़, मुस्लिमों को 30% रिजर्वेशन’: वायरल दावा- अखिलेश का वादा, समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव ने वादा किया है कि अगर उनकी पार्टी आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा 2022 चुनावों में सत्ता में आती है तो,

(उपरोक्त ट्वीट को अक्षरशः लिखा गया है।)

उपरोक्त ट्वीट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है। 

उपरोक्त दावे को फेसबुक पर भी शेयर किया गया है। 

यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो यूपी में 2000 नए मस्जिद बनवाये जाएंगे। 
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो यूपी में 2000 नए मस्जिद बनवाये जाएंगे। 
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो यूपी में 2000 नए मस्जिद बनवाये जाएंगे। 
FB Screenshot

उपरोक्त फेसबुक पोस्ट को यहां देखा जा सकता है।

14 जनवरी, 2022 को ABP द्वारा प्रकाशित एक लेख के मुताबिक, भाजपा के बागी विधायकों ने भाजपा पर दलित और पिछड़ा विरोधी होने का आरोप लगाते हुए इस्तीफ़ा दे दिया। बतौर लेख, उत्तर प्रदेश में दलितों का वोट शेयर 21% है तो वही पिछड़ों का वोट शेयर 42 से 43% है। लेख के मुताबिक, ‘स्वामी प्रसाद मौर्य समेत आधा दर्जन ओबीसी विधायकों को बीजेपी से तोड़कर, अखिलेश ने ओबीसी वोट बैंक में सेंधमारी कर दी है।’

10 जनवरी 2022 को NDTV द्वारा प्रकाशित एक लेख के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह लड़ाई 80% बनाम 20% का होगा। बतौर लेख, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दिये गए आंकड़े हिन्दू-मुसलमानों के अनुपात से मिलते जुलते हैं। 

बताते चलें कि समाजवादी पार्टी पर अन्य दलों द्वारा एक खास वर्ग के वोट बैंक को साधने का आरोप लगता रहा है। 21 जून 2021 को जनसत्ता द्वारा प्रकाशित एक लेख के मुताबिक, भाजपा के प्रवक्ता गौरव भाटिया ने समाजवादी पार्टी पर मुस्लिम तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए कहा कि ‘इनका मेनिफेस्टो यह कहता है कि जो मुस्लिम बच्चियां है उनको हम शिक्षा देंगे। उन्होंने सवाल किया कि आप हिंदू बच्चियों को क्यों नहीं देंग?’

इसी बीच सोशल मीडिया पर एक टेम्पलेट शेयर कर दावा किया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो यूपी में 2000 नए मस्जिद बनवाये जाएंगे।

Fact check/Verification 

समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो यूपी में 2000 नए मस्जिद बनवाये जाएंगे, दावे के साथ शेयर किए गए टेम्पलेट का सच जानने के लिए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स की मदद से खोजना शुरू किया। इस दौरान हमें ऐसी कोई भी रिपोर्ट नहीं मिली जिसमें ‘यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो 2000 नए मस्जिद बनवाये जाएंगे’ ऐसा लिखा गया हो।

वायरल टेम्पलेट में लिखे दावे का सच जानने के लिए हमने समाजवादी पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल को खंगालना शुरू किया। लेकिन हमें वहां ऐसा कोई ट्वीट नहीं मिला जिसमें ‘समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो यूपी में 2000 नए मस्जिद बनवाये जाएंगे’ यह जानकारी लिखी हो। 

इसके बाद हमने समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता वंदना सिंह से संपर्क किया। उन्होंने बताया कि “वायरल दावा निराधार है, अखिलेश यादव या समाजवादी पार्टी द्वारा इस तरह का कोई भी ऐलान नहीं किया गया है। हम उत्तर प्रदेश जीत रहे हैं इसलिए बीजेपी आईटी सेल इस तरह की अफवाहें फैला रही है।” 

Read More: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नहीं की सत्ता में आने पर अयोध्या का नाम बदलने की बात, भ्रामक दावा हुआ वायरल

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में यह साफ हो गया कि ‘समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो यूपी में 2000 नए मस्जिद बनवाये जाएंगे’ के साथ शेयर किया जा रहा टेम्पलेट फेक है। अखिलेश यादव या समाजवादी पार्टी द्वारा इस तरह का कोई भी ऐलान नहीं किया गया है।

Result: False Content

Our Sources

Direct Contact

Self Analysis


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular