शुक्रवार, दिसम्बर 3, 2021
शुक्रवार, दिसम्बर 3, 2021
होमFact Checkसोशल मीडिया पर भ्रामक दावे के साथ वायरल हुआ प्रियंका गांधी की...

सोशल मीडिया पर भ्रामक दावे के साथ वायरल हुआ प्रियंका गांधी की रैली का अधूरा वीडियो

यूपी में चुनावी सरगर्मियाँ तेज़ हो गई हैं, तो सोशल मीडिया पर भी आगामी चुनावों की आहट होने लगी है। हर पार्टी के क़द्दावर नेता जनता को लुभाने के लिए मैदान में उतर चुके हैं और विरोधी पार्टी पर निशाना साध रहे हैं। 10 अक्टूबर 2021 को कांग्रेस की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने भी वाराणसी के मंच से मोदी सरकार पर जमकर हमला किया। प्रियंका गांधी की यही रैली अब सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गई है। 

प्रियंका गांधी की रैली का 27 सेकेंड का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें क़ुरान की आयत सुनाई दे रही है और मंच पर प्रियंका गांधी अन्य कांग्रेस नेताओं के साथ खड़ी नज़र आ रही हैं। सोशल मीडिया यूज़र्स का दावा है कि मंच पर प्रियंका गांधी की मौजूदगी में अज़ान का आयोजन किया गया। 

CrowdTangle बताता है कि Rajat Singh ‘सूर्यवंशी’ नामक यूजर ने सबसे पहले इस दावे को 11 अक्टूबर 2021 को रात 9 बजकर 54 मिनट पर पोस्ट किया था।

प्रियंका गांधी की रैली

इस वीडियो को फ़ेसबुक पर भी शेयर किया जा रहा है। इसी दावे के साथ कि प्रियंका गांधी काशी नगरी में मंच से अज़ान करा रही हैं। 

14 अक्टूबर 2021 को यह वीडियो बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी अपने ट्विटर हैंडल से पोस्ट किया है। 

संबित पात्रा के इस ट्वीट के बाद कांग्रेस नेताओं द्वारा उनके इस वीडियो को एडिटेड बताया गया है। 

कांग्रेस के युवा इकाई के अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने संबित पात्रा के ट्वीट के जवाब में एक और वीडियो पोस्ट किया जिसमें प्रियंका गांधी संस्कृत श्लोक बोलती देखी जा सकती हैं।

Fact Check/Verification

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में प्रियंका गांधी की रैली के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए Newschecker ने रैली में मौजूद INC Minority के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी से बात की। 

इमरान ने Newschecker को बताया कि 10 अक्टूबर को वाराणसी में हुई इस रैली में सर्वधर्म समभाव के लिए हिंदू, मुस्लिम और सिख गुरुओं से आशीर्वाद लिया गया था। रैली की शुरुआत मंत्रोच्चरण के साथ हुई, जिसके बाद मुस्लिम धर्मगुरुओं ने क़ुरान की आयत पढ़ी और अंत में गुरबानी का उच्चारण किया गया। 

इमरान द्वारा कुछ वीडियो भी भेजे गए हैं जिनमें आयत और गुरबानी को सुना जा सकता है। 

मुस्लिम धर्म गुरुओं की तरफ़ से आशिर्वाद
सिख धर्म गुरुओं की तरफ़ से आशिर्वाद

इमरान ने यह भी कहा कि रैली के लिए प्रियंका गांधी लगभग दोपहर के 1:30-2:00 बजे पहुँची थी। दोपहर के इस वक़्त अज़ान नहीं दी जाती। रैली में जिस तरह मंत्रोच्चारण और गुरबानी पढ़ी गई उसी तरह क़ुरान की आयत को भी पढ़ा गया।

हमें YouTube पर कांग्रेस पार्टी द्वारा शेयर किया गया Live वीडियो भी मिला जिसमें भाषण शुरु करने से पहले सर्वधर्म समभाव की बात करते हुए कहा जा रहा है कि सबसे पहले मंत्रोचार के साथ हिंदू भाई, फिर मुस्लिम भाई, फिर सिख भाई और फिर ईसाई भाई स्वागत करेंगे। 

Conclusion

सोशल मीडिया पर प्रियंका गांधी की वाराणसी रैली के एक छोटे हिस्से को शेयर कर किया जा रहा दावा सही नहीं है। इस रैली में सभी धर्मों में प्रार्थना की गई। प्रियंका गांधी ने भी इस दौरान संस्कृत श्लोक पढ़े थे।

Result: Misleading

Claim Review: प्रियंका गांधी की रैली में मंच से अज़ान दी गई।
Claimed By: Social Media Users
Fact Check: Misleading

Our Sources

Imran Pratapgarhi, National Chairman, INC Minority

YouTube Live: https://youtu.be/Eqwt2PmHN1s


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.
Preeti Chauhan
Believing in the notion of 'live and let live’, Preeti feels it's important to counter and check misinformation and prevent people from falling for propaganda, hoaxes, and fake information. She holds a Master’s degree in Mass Communication from Guru Jambeshawar University and has been a journalist & producer for 9 years.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular