शनिवार, दिसम्बर 10, 2022
शनिवार, दिसम्बर 10, 2022

होमFact Checkराहुल गांधी की तीन साल पुरानी वीडियो को भ्रामक दावे के साथ...

राहुल गांधी की तीन साल पुरानी वीडियो को भ्रामक दावे के साथ किया गया शेयर

वीडियो को ध्यान से देखें। मुस्लिम लोग राहुल गांधी और गुलाम नबी आजाद के सामने हिंदुओं और हिंदू धर्म के नाश की शपथ ले रहे हैं। एक बुजुर्ग भारत के विध्वंस करने की बात कर रहा है।

जानिए क्या है वायरल दावा:

पहला दावा: ट्विटर पर 44 सेकेंड की एक वीडियो वायरल हो रही है। इसमें राहुल सिर पर मुस्लिम टोपी पहने हुए नज़र आ रहे हैं। राहुल गांधी और गुलाम नबी आजाद को मुस्लिम सामज के लोगों के साथ नमाज अदा करते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि मुस्लिम लोग राहुल गांधी और गुलाम नबी आजाद के सामने हिंदुओं और हिंदू धर्म के नाश के लिए शपथ ले रहे हैं। वे भारत में मुस्लिम राज के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

दूसरा दावा: प्रणब मुखर्जी द्वारा लिखी गई किताब में खुलासा किया गया है कि सोनिया गांधी हिंदुओं से नफरत करती हैं।

Verification:

कांग्रेस नेता राहुल गांधी हमेशा जाति, धर्म, गोत्र आदि को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर छाएं रहते हैं। राहुल आए दिन किसी न किसी विवाद को लेकर सुर्खियों में भी बने रहते हैं। फिर चाहे वो चुनाव का समय हो या नहीं। कुछ टूल्स और कीवर्ड्स की मदद से हमने सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो को खंगालना शुरू किया।

वायरल दावों के आर्काइव वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

Attention Required!

देखा जा सकता है कि मुस्लिम समुदाय के लोगों के साथ इबादत कर रहे राहुल गांधी की वीडियो को विभिन्न सोशल मीडिया माध्यमों पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

खोज के दौरान हमने पाया कि साल 2018 और 2019 में भी फेसबुक और ट्विटर पर इस वीडियो को शेयर किया गया था।

InVID की मदद से मिले कई कीफ्रेम्स को Yandex Search करने पर हमें इससे संबंधित कुछ परिणाम मिले।

YouTube पर हमें 10 सितंबर, 2016 को Samay Live द्वारा अपलोड की गई एक वीडियो मिली। इस वीडियो में नज़र आ रहे दृश्य, जगह और लोग वायरल वीडियो से मिलते-जुलते हैं। यह वीडियो उस दौरान का है जब कांग्रेस नेता राहुल गांधी उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर में प्रसिद्ध दरगाह किछौछा शरीफ पहुंचे थे। दरअसल 2016 में राहुल ने अयोध्या दौरे के वक्त हनुमानगढ़ी मंदिर और अंबेडकर नगर में किछौछा शरीफ का भी दौरा किया था।   

कुछ कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर हमें Indian Express और आज तक द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट्स मिली। इसके मुताबिक 10 सितंबर, 2016 को राहुल गाँधी 30 मिनट तक किछौछा शरीफ में रहे थे और मौलाना सुहेल अशरफ ने उनके साथ मिलकर ‘देश में अमन और खुशहाली के लिए दुआ की थी।’

दूसरा दावा: अब बात करते हैं दूसरे दावे कि जिसमें कहा जा रहा है कि प्रणब मुखर्जी द्वारा लिखी गई किताब में खुलासा किया गया है कि सोनिया गांधी हिंदुओं से नफरत करती हैं। आपको बता दें कि पिछले साल 23 मार्च, 2019 में भी यह दावा बहुत वायरल हुआ था।

इस दावे को पिछले साल ही हमारी टीम ने डिबंक किया था। वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने ‘कोएलिशन ईयर्स’ का वो हिस्सा पढ़ा जिसके आधार पर पोस्टकार्ड ने ये खबर छापी थी। पड़ताल के दौरान सामने आया कि लोगों को भ्रमित करने के लिए भ्रामक दावा किया जा रहा है।

सोनिया गांधी को लेकर किए जा रहे दावे की पूरी पड़ताल को आप यहां पढ़ सकते हैं।

https://hindi.newschecker.in/2019/03/23/%e0%a4%b9%e0%a4%bf%e0%a4%82%e0%a4%a6%e0%a5%81%e0%a4%93%e0%a4%82-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%a8%e0%a4%ab%e0%a4%b0%e0%a4%a4-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a4%a4%e0%a5%80-%e0%a4%b9%e0%a5%88%e0%a4%82/

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावों का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि राहुल गांधी की तीन साल पुरानी वीडियो को झूठे दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। पड़ताल में हमने पाया कि राहुल गांधी की इबादत की वीडियो किछौछा शरीफ दरगाह की है जिसको भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

Result: False

Tools Used:

Google Keywords Search

Media Reports

YouTube Search

Yandex Search

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़तालसंशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected])

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular