बुधवार, जुलाई 24, 2024
बुधवार, जुलाई 24, 2024

होमFact Checkक्या करौली हिंसा के बाद लोगों ने कांग्रेस को वोट न देने...

क्या करौली हिंसा के बाद लोगों ने कांग्रेस को वोट न देने की खाई कसम? पुराना वीडियो भ्रामक दावे के साथ हुआ वायरल

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया है कि करौली हिंसा के कारण राजस्थान के लोगों ने कांग्रेस पार्टी को वोट नहीं देने का संकल्प किया है। वायरल वीडियो में कई लोग राजस्थान की कांग्रेस सरकार को वोट नहीं देने की शपथ लेते हुए नज़र आ रहे हैं। 

फेसबुक पर एक पेज ने वायरल वीडियो शेयर करते हुए लिखा, ‘राजस्थान के करौली कांड के बाद कांग्रेस सरकार को वोट न देने का संकल्प किया।

करौली हिंसा के कारण राजस्थान के लोगों ने कांग्रेस पार्टी को वोट
Screenshot of Facebook/News and Jokes Collection

उपरोक्त ट्वीट का आर्काइव लिंक।

दरअसल, इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीते दिनों हिंदू नव वर्ष के अवसर पर राजस्थान के करौली में मुस्लिम बहुल इलाके से गुजरने वाली मोटर साइकिल रैली पर पथराव किया गया था। जिसके बाद हुए सांप्रदायिक तनाव के बाद क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया गया था। पुलिस के अनुसार इस हिंसा में 71 प्रॉपर्टीज को नुकसान पहुंचा और 6 पुलिसकर्मियों समेत 22 लोग घायल हो गए थे। इसी बीच करौली में हुई हिंसा के संबंध में सोशल मीडिया पर कई वीडियो शेयर किए गए थे। हालांकि, हमारी पड़ताल में इनमें से कई दावे भ्रामक साबित हुए थे, जिन्हें यहां और यहां पढ़ा जा सकता है।

इसी क्रम में अब यह दावा सोशल मीडिया पर किया जा रहा है कि करौली हिंसा के कारण राजस्थान के लोगों ने कांग्रेस पार्टी को वोट नहीं देने का संकल्प किया है।

Fact Check/Verification

करौली हिंसा के कारण राजस्थान के लोगों ने कांग्रेस पार्टी को वोट नहीं देने का संकल्प किया, दावे के साथ वायरल हुए वीडियो की पड़ताल के लिए हमने inVId टूल की मदद से कुछ कीफ्रेम्स बनाते हुए एक फ्रेम को रिवर्स सर्च किया। इस प्रक्रिया में हमें ट्विटर पर ShyamPushkarna नामक एक यूजर द्वारा 18 नवंबर, 2020 को अपलोड किया गया एक वीडियो प्राप्त हुआ। वीडियो में लिखे कैप्शन के अनुसार, “@RahulGandhi महोदय! राजस्थान में आपकी सरकार है, बेरोजगार रोजगार के लिए आंसू बहा रहे हैं! reet2018_waiting_list_जारी_करो” 

गौरतलब है कि ShyamPushkarna नामक ट्विटर यूजर द्वारा अपलोड किया गया वीडियो और सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो दोनों एक है। 

इससे यह साफ है कि वायरल वीडियो कम से कम डेढ़ साल पुराना है। वीडियो को ध्यान से देखने पर हमें 58वें सेकेंड पर कुछ लोग हाथ में एक पोस्टर पकड़े नज़र आ रहे हैं। पोस्टर पर ‘बेरोजगार एकीकृत महासंघ’ लिखा हुआ है।

Screenshot of Twitter@ShyamPushkarna

हमने इसकी मदद लेते हुए कुछ कीवर्ड की सहायता से गूगल पर सर्च करना शुरू किया। इस दौरान हमें दैनिक भास्कर द्वारा 17 नवंबर, 2020 को प्रकाशित एक रिपोर्ट प्राप्त हुई। रिपोर्ट के मुताबिक, राजस्थान के रामलीला मैदान में ‘राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ’ के प्रदेशाध्यक्ष उपेन यादव के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया। बतौर रिपोर्ट, इस दाैरान जिला परिषद पंचायत समिति एवं विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस पार्टी को वोट नहीं देने की शपथ ली गई थी।

हमने राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रमुख उपेन यादव से भी संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन हमें उनका कोई जवाब नहीं प्राप्त हुआ। उनका जवाब आने पर स्टोरी को अपडेट किया जायेगा।


यह भी पढ़ें: नाले में सब्जी धोते व्यक्ति का यह वीडियो पुराना है, 2020 में भी हुआ था वायरल

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में यह स्पष्ट हो गया कि करौली हिंसा के कारण राजस्थान के लोगों ने कांग्रेस पार्टी को वोट नहीं देने का संकल्प किया है, दावे के साथ सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो, नवंबर 2020 से इंटरनेट पर मौजूद है। इसका करौली में हुई हालिया हिंसा से कोई संबंध नहीं है। 

Result: False Context/False


Our Sources

Twitter By Shyam Pushkarana on 18 November 2020

Report Published by Dainik Bhaskar on 17 November 2020

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

 

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

Most Popular