सोमवार, अगस्त 8, 2022
सोमवार, अगस्त 8, 2022

होमFact CheckNewsकुंभ मेले में लगे टेंट हाउस की तस्वीर को दिल्ली सिंघु बॉर्डर...

कुंभ मेले में लगे टेंट हाउस की तस्वीर को दिल्ली सिंघु बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन से जोड़कर किया गया शेयर

सिंघु बॉर्डर पर कृषि कानून वापस लेने को लेकर किसानों का आंदोलन चल रहा है। आज इस आंदोलन का 42वां दिन है। हरियाणा और पंजाब से सभी किसान यहां पर आकर सड़कों पर रह रहे हैं। ऐसे में सोशल मीडिया पर एक तसवीर वायरल हो रही है। वायरल तस्वीर में बहुत सारे टेंट हाउस देखे जा सकते हैं। तस्वीर शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर दुनिया के सबसे बड़े आंदोलन की है जो कि दिल्ली सिंघु बॉर्डर पर चल रहा है।

https://twitter.com/Teamfarmer_/status/1346531427685343232

ट्विटर पर अलग-अलग यूज़र्स द्वारा ये दावा शेयर किया जा रहा है।

इस दावे को फेसबुक पर भी अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

https://www.facebook.com/citindianews/photos/a.473318116574777/849145238992061/

वायरस पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां, यहां और यहां देखा जा सकता है।

Fact Checking/Verification

सिंघु बॉर्डर पर टेंट हाउस की वायरल हो रही तस्वीर की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरु की। Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें वायरल दावे से संबंधित कुछ परिणाम मिले।

पड़ताल के दौरान हमें KERRANELAMASSA नामक वेबसाइट का लेख मिला। इस लेख में वायरल तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है और बताया गया है कि यह तस्वीर भारत के सबसे बड़े कुंभ मेले की है।  

सिंघू बॉर्डर

Google Keywords Search की मदद से खोजने पर हमें agefotostock नामक पेज पर कुंभ मेले की कई तस्वीरें मिली। इन्हीं तस्वीरों में हमें वायरल तस्वीर भी मिली जिसे नीचे देखा जा सकता है।

सिंघू बॉर्डर

अधिक खोजने पर हमें फरवरी, 2016 की Kerran elamassa के आधिकारिक फेसबुक पेज पर एक पोस्ट मिली। इस पोस्ट में कुंभ मेले की बहुत सारी तस्वीरों को साझा किया गया है जहां पर वायरल तस्वीर भी शेयर की गई है।

https://www.facebook.com/kerranelamassa.fi/posts/1684893561756580

वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने Ville Palonen Photographer से संपर्क किया जिन्होंने इस तस्वीर को खींचा था। बातचीत में उन्होंने हमें बताया कि यह तस्वीर 2013 में इलाबादाबद में हुए कुंभ मेले के दौरान उनके द्वारा खींची गई थी।

Conclusion

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि कुंभ मेले की तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। पड़ताल में हमने पाया कि वायरल तस्वीर का दिल्ली सिंघु बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन से कोई संबंध नहीं है। सालों पुरानी तस्वीर को हालिया किसान आंदोलन से जोड़कर शेयर किया जा रहा है।

Result: False


Our Sources

KERRANELAMASSA https://kerranelamassa.fi/maha-kumbh-mela-indias-largest-festival/

Agefotostock https://www.agefotostock.com/age/en/Stock-Images/Rights-Managed/PNM-pirm-20130209-sa0146

Facebook https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=1684893561756580&id=1398388023740470


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular