मंगलवार, मई 17, 2022
मंगलवार, मई 17, 2022

होमFact Checkएबीपी न्यूज़ की तीन साल पुरानी वीडियो क्लिप तेजस्वी यादव के पैरोडी...

एबीपी न्यूज़ की तीन साल पुरानी वीडियो क्लिप तेजस्वी यादव के पैरोडी अकाउंट से भ्रामक दावे के साथ की गई शेयर

सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा 45 सेकेंड की एक वीडियो पोस्ट की गई है। यह वीडियो हिंदी न्यूज़ चैनल एबीपी की है। इस वीडियो में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चुनाव आयोग में ईवीएम मशीन के साथ छेड़छाड़ को लेकर शिकायत की है। तेजस्वी यादव द्वारा वीडियो को ट्वीट करते हुए दावा किया जा रहा है कि अगर आप आज आवाज़ नहीं उठाओगे तो कल और दबा दिए जाओगे, आओ मेरा साथ दो। जो मेरे साथ हैं वो शेयर करें।

देखा जा सकता है कि इस दावे को ट्विटर पर अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है।

देखा जा सकता है कि ट्विटर पर इस वीडियो को मध्य प्रदेश में हुए उप चुनाव से जोड़कर भी शेयर किया जा रहा है।

Fact Checking/Verification

एबीपी न्यूज़ की वायरल हो रही क्लिप की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरु की। Google Keywords Search की मदद से खंगालने पर हमें वायरल दावे से संबंधित कोई मीडिया रिपोर्ट्स नहीं मिली।

InVID की मदद से कीफ्रेम्स को Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें कुछ फेसबुक पोस्ट के लिंक मिले।

Ban EVM Save India नामक फेसबुक पेज पर यह वीडियो 16 नवंबर, 2018 को पोस्ट की गई थी।

वहीं, I love my Delhi नामक फेसबुक पेज पर इस वीडियो को 11 मई, 2019 को पोस्ट किया गया था।

इन दोनों वीडियो को देखने को बाद हमने यह अनुमान लगाया कि वायरल वीडियो हाल फिलहाल में हुए चुनाव नतीजों का नहीं है। इसके बाद हमने ‘एमपी के EVM विवाद में भिंड के कलेक्टर, एसपी हटाए गए ABP News’ कीवर्ड्स को यूट्यूब पर ढूंढा। इस प्रक्रिया में हमें वायरल वीडियो से मिलता जुलता एक वीडियो प्राप्त हुआ।

ABP News के आधिकारिक चैनल पर 1 अप्रैल, 2017 को अपलोड किया गया एक वीडियो प्राप्त हुआ। बता दें कि वायरल क्लिप इसी वीडियो का एक छोटा सा हिस्सा है.

यह वीडियो तीन साल पहले मध्य प्रदेश में हुए चुनाव के दौरान की है। उस समह ईवीएम मशीन विवाद में भिंड के एसपी और कलेक्टर को हटा दिया गया था। चुनाव आयोग में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने शिकायत की थी। इस वीडियो को सोशल मीडिया पर हाल फिलहाल में मध्य प्रदेश में हुए उप चुनाव से जोड़कर शेयर किया जा रहा है।

तेजस्वी यादव के पैरोडी हैंडल और आधिकारिक हैंडल में फर्क साफ देखा जा सकता है।

पहला अंतर– दोनों ही अकाउंट में प्रोफाइल पिक एक जैसी लगी हुई है।

दूसरा अंतर– पैरोडी अकाउंट अप्रैल, 2020 में बनाया गया है जबकि तेजस्वी यादव ने दिसंबर, 2013 में ट्विटर ज्वाइन किया था।

तीसरा अंतर– तेजस्वी यादव का ट्विटर हैंडल वैरिफाइड है।  

अपडेट

उक्त लेख को 31 जनवरी, 2022 को अपडेट कर इसमें नए दावे शामिल किये गए हैं.

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही वीडियो का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि तेजस्वी यादव के पैरोडी अकाउंट से तीन साल पुरानी वीडियो को बिहार चुनाव और मध्य प्रदेश उप चुनाव से जोड़कर शेयर किया जा रहा है। इस वीडियो का बिहार चुनाव और मध्य प्रदेश के उपचुनाव से कोई लेना-देना नहीं है।


Result: Misleading

Our Sources:

Facebook https://www.facebook.com/181453135877825/videos/363348924236362

YouTube https://www.youtube.com/watch?v=a8HtWHL0Ztk


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular