गुरूवार, सितम्बर 16, 2021
गुरूवार, सितम्बर 16, 2021
होमFact Checkपंजाब में 3 साल पहले साइनबोर्ड पर हिंदी और इंग्लिश भाषा पर...

पंजाब में 3 साल पहले साइनबोर्ड पर हिंदी और इंग्लिश भाषा पर कालिख पोती गई थी, पुरानी तस्वीरों को अभी का बताकर किया जा रहा है शेयर

WhatsApp पर कुछ तस्वीरों का कोलार्ज वायरल हो रहा है। इन तस्वीरों में कुछ लोगों को साइनबोर्ड पर कालिख पोतते हुए देखा जा सकता है। यह लोग साइनबोर्ड पर हिंदी और इंग्लिश में लिखे शब्दों पर कालिख पोत रहे हैं। इन तस्वीरों को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि पंजाब में साइनबोर्ड पर हिंदी में लिखे नामों पर कालिख पोती जा रही है। यह बहुत ही घटिया और शर्मनाक हरकत है।

वायरल दावे को ट्विटर पर भी बड़ी तेजी से शेयर किया गया है।

https://twitter.com/MohiniS54496898/status/1347922119108091904

Fact Checking/Verification

साइनबोर्ड पर कालिख पोतने को लेकर किए जा रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरु की। Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें Times of India और Living India News द्वारा प्रकाशित मीडिया रिपोर्ट्स मिली।

साइनबोर्ड

Google Keywords Search की मदद से खोजने पर हमें India TV और पंजाब केसरी द्वारा प्रकाशित मीडिया रिपोर्ट्स मिली। इन रिपोर्ट्स के मुताबिक अक्टूबर 2017 में लुधियाना-बठिण्डा में अपनी मातृ भाषा को महत्व देने के लिए मालवा यूथ फैडरेशन और दल खालसा द्वारा विशेष मुहिम के तहत सड़कों पर लगे साइन बोर्ड पर हिंदी और इंग्लिश भाषा में लिखे नाम पर कालिख पोती गई थी।

साइनबोर्ड

तस्वीर को गूगल पर ढूंढने पर जानकारी मिली कि यह कोलाज 2017 से सोशल मीडिया पर मौजूद है. गौरतलब है कि 24 अक्टूबर 2017 को प्रकाशित इस ब्लॉग पोस्ट में दावा किया गया है कि पंजाब में कांग्रेस की सरकार आते ही साइन बोर्ड्स से हिंदी को हटाया जा रहा है.

अधिक खोजने पर हमें YouTube पर Media Analysis और Crazy Videos नामक चैनल पर अक्टूबर 2017 में अपलोड की गई वीडियो मिली। दोनों वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ लोग सड़कों पर लगे साइनबोर्ड पर कालिख पोत रहे हैं।

Conclusion

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि पंजाब की सालों पुरानी तस्वीरों को अभी का बताकर शेयर किया जा रहा है। हाल फिलहाल में पंजाब में लगे साइनबोर्ड पर कालिख नहीं लगाई गई है।

Result: Misleading

Our Sources

Times of India https://timesofindia.indiatimes.com/city/chandigarh/all-boards-road-milestones-in-punjabi-minister/articleshow/74250468.cms

Living India News https://www.livingindianews.co.in/punjabi-language-on-top-on-roadside-signboards-oct-2017/

YouTube https://www.youtube.com/watch?v=x6dT1ledkDg

India TV https://www.indiatvnews.com/news/india-video-sikh-radicals-in-punjab-blacken-hindi-english-words-on-signboards-along-national-highway-408420

Punjab Kesari https://m.punjabkesari.com/article/1555923243_kohli/88518


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular