शनिवार, जुलाई 31, 2021
शनिवार, जुलाई 31, 2021
होमFact CheckViralक्या दिल्ली स्थित जमात-ए-इस्लामी मस्जिद की है सोशल मीडिया पर वायरल हुई...

क्या दिल्ली स्थित जमात-ए-इस्लामी मस्जिद की है सोशल मीडिया पर वायरल हुई यह तस्वीर?

कोरोना के बढ़ते प्रकोप से देश के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन और बेड की भारी किल्लत हो रही है। जिसकी वजह से रोजाना कई मरीजों के मौत की खबर भी आ रही है। इन हालातों से निपटने के लिए अब मंदिर और मस्जिद भी सामने आने लगे हैं और बेड से लेकर ऑक्सीजन तक का इंतजाम कर रहे हैं। इसी बीच एक मस्जिद की तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी वायरल है।

एक अस्पताल नुमा हाल में कुछ लोग नीले गद्दे बिछाते हुए नजर आ रहे हैं। इस तस्वीर को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि ये तस्वीर दिल्ली के ओखला स्थित जमात-ए-इस्लामी मस्जिद की है। जहां पर कोविड मरीजों को रखने के लिए तैयारी चल रही है। इस तस्वीर को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा जा रहा है, ‘दिल्ली: मस्जिद अशाअत ए इस्लाम, जमाअत ए इस्लामी हिन्द,अबुल फ़ज़ल एन्क्लेव, शाहीन बाग़,जामिया नगर, कोविड मरीजों के लिए अज़ीम खिदमत।’

पोस्ट से जुड़े आर्काइव लिंक को यहां पर देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification 

वायरल तस्वीर का सच जानने के लिए हमने फोटो को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल तस्वीर से जुड़े कई ट्वीट्स मिले। जिन्हें 28 अप्रैल 2020 को पोस्ट किया गया गया था। इन ट्वीट्स के मुताबिक वायरल तस्वीर पुणे स्थित एक मस्जिद की है।

ट्वीट्स में दी गई जानकारी से हिंट लेते हुए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल तस्वीर से जुड़ी One India समेत कई मीडिया संस्थानों द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट्स मिली। जिन्हें अप्रैल 2020 में प्रकाशित किया गया था। इन रिपोर्ट्स के मुताबिक वायरल तस्वीर न तो हाल-फिलहाल की है और न ही दिल्ली की मस्जिद की है। ये तस्वीर महाराष्ट्र के पुणे में आजम कॉलेज ऑफ एजुकेशन के कैंपस के अंदर बनी एक मस्जिद की है।

पड़ताल के दौरान हमें NBT से की एक रिपोर्ट मिली। जिसे 28 अप्रैल 2020 को प्रकाशित किया गया था। इस रिपोर्ट के मुताबिक पुणे में ये क्वारंटाइन सेंटर आजम मस्जिद में बनाया गया था। जो कि महाराष्ट्र के पुणे में भवानी पेठ इलाक़े में स्थित है। इलाके में मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण मस्जिद मदद के लिए आगे आई थी। यहां पर एक साथ 80 लोगों के रहने की व्यवस्था की गई थी। जिसकी व्यवस्था मुस्लिम समुदाय द्वारा किया गया था। इस क्वारंटाइन सेंटर पर मरीजों के लिए किताबों से लेकर तमाम जरूरी चीजें मौजूद थी। 

छानबीन के समय हमें वायरल तस्वीर से जुड़ा एक वीडियो DD News के यूट्यूब चैनल पर मिला। जिसे 28 अप्रैल 2020 को अपलोड किया गया था। इस वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि वायरल तस्वीर पुणे की मस्जिद की है। वीडियो में महाराष्ट्र कॉस्मोपॉलिटन एजुकेशन सोसाइटी के चेयरमैन P. A. Inamdar को इस बारे में बात करते हुए सुना जा सकता है। वो कह रहे हैं, “ये बुरा वक्त चल रहा है। इसलिए हमने मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। हमने कलेक्टर को एक लेटर भेजकर कहा था कि हम यहां पर लोगों की मदद के लिए क्वारंटाइन सेंटर खोलना चाहते हैं। जिसके बाद उन्होंने हमें कुछ नियम और कानून के बारे में बताया और उन्हीं के तहत हमने ये व्यवस्था की है।”

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक वायरल तस्वीर दिल्ली स्थित एक मस्जिद की नहीं है और न ही हाल-फिलहाल के समय की है। बल्कि वायरल तस्वीर महाराष्ट्र के पुणे की एक मस्जिद की है। बीते साल अप्रैल में मस्जिद में लोगों की मदद के लिए क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया था।

Result: False

Claim Review: दिल्ली की जमात-ए-इस्लामी मस्जिद को बनाया गया कोविड सेंटर।
Claimed By: वायरल सोशल मीडिया पोस्ट
Fact Check: False

Our Sources

Youtube – https://www.youtube.com/watch?v=QevYjfoo6E8

Twitter – https://twitter.com/hasanfaizulkhan/status/1254914247966052352

NBT- https://navbharattimes.indiatimes.com/state/maharashtra/pune/quarantine-center-in-pune-azam-mosque/articleshow/75422387.cms

.


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Pragya Shukla
Pragya has completed her Masters in Mass Communication, and has been doing content writing for the last four years. Due to bias and incomplete facts in mainstream media, she decided to become a fact-checker.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular