रविवार, जून 23, 2024
रविवार, जून 23, 2024

होमFact Checkरोहिणी आचार्य की यह तस्वीर लालू यादव को किडनी डोनेट करने के...

रोहिणी आचार्य की यह तस्वीर लालू यादव को किडनी डोनेट करने के बाद की नहीं है

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव का बीते दिनों सिंगापुर में किडनी ट्रांसप्लांट हुआ है। उनकी बेटी रोहिणी आचार्य ने अपनी एक किडनी पिता को डोनेट की। इसी के बाद सोशल मीडिया पर रोहिणी की एक तस्वीर वायरल है। दावा किया गया है कि रोहिणी की यह तस्वीर किडनी डोनेट करने के बाद की है। तस्वीर के जरिए रोहिणी द्वारा किडनी डोनेट करने पर तमाम सवाल उठाए जा रहे हैं। 

Courtesy: Twitter@Vinay_Dwivedii
Courtesy: Twitter@TriShool_Achuk
Courtesy: Facebook/डा रामगोपाल वार्षेण्य

Fact Check/Verification

दावे की सत्यता जानने के लिए हमने वायरल तस्वीर को गूगल रिवर्स सर्च किया। हमें ये तस्वीर रोहिणी आचार्य के ट्विटर अकाउंट पर मिली। इसे उन्होंने बीते 5 दिसंबर को ट्वीट किया था। इस ट्वीट को राज्यसभा सदस्य और लालू यादव की बेटी मीसा भारती ने रिट्वीट किया है।  

Courtesy: Twitter@RohiniAcharya2

हमें ये तस्वीर इंडियन एक्सप्रेस की 5 दिसंबर को छपी एक रिपोर्ट में भी मिली। रिपोर्ट के मुताबिक, किडनी ट्रांसप्लांट के पहले रोहिणी ने ये तस्वीर पोस्ट कर सभी से दुआएं मांगी थी. इसके बाद मीसा भारती ने 5 दिसंबर को एक ट्वीट कर बताया कि उनकी छोटी बहन रोहिणी ने सफलतापूर्वक अंग डोनेट कर दिया है। 

बिहार के उपमुख्यमंत्री और लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने 6 दिसंबर को ट्वीट कर बताया कि उनकी बहन रोहिणी ने एक अनूठी मिसाल पेश की है। उन्होंने अपने ट्वीट में कुछ तस्वीरें पोस्ट की हैं, जिसमें रोहिणी को अस्पताल में बेड पर लेटे हुए देखा जा सकता है।

बता दें, लालू प्रसाद यादव के सफल किडनी ट्रांसप्लांट की पुष्टि मीसा भारती और तेजस्वी ने 5 दिसंबर को ट्वीट कर की थी। इससे स्पष्ट है कि रोहिणी आचार्य की वायरल तस्वीर किडनी डोनेट करने के पहले की है।

वायरल पोस्ट में दावा किया गया है कि सिंगापुर में अंग प्रत्यारोपण परिवार का कोई सदस्य नहीं कर सकता। इसकी सत्यता जानने के लिए हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से गूगल सर्च किया। हमें सिंगापुर की National University Hospital की वेबसाइट पर किडनी डोनर संबंधित नियमों की जानकारी मिली। वहां बताया गया है कि सिंगापुर में घर का सदस्य भी लिवर और किडनी डोनेट कर सकता है। वेबसाइट के मुताबिक डोनर, पति-पत्नी, भाई-बहन, माता-पिता, चाचा, चाची, चचेरे भाई के अलावा दोस्त या कोई अजनबी व्यक्ति भी हो सकता है।

Courtesy: National University Hospital Singapore

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांंधी को साधुओं की वेश-भूषा में दिखाती ये फोटो एडिटेड है

इसके अलावा, पोस्ट में लिखे गए एनीस्थिसिया के असर और सेल्फी क्लिक कराने के दावे को लेकर हमने राम मनोहर लोहिया अस्पताल दिल्ली के डॉ. करनदीप गुलेरिया से बात की। उन्होंने बताया, “ये इस बात पर निर्भर करता है कि किस तरह का ऑपरेशन हुआ है। आमतौर पर ऑपरेशन के दौरान एनिस्थिसिया दिया जाता है, लेकिन उसका असर इतना नहीं होता कि मरीज़ कई दिनों तक आईसीयू में पड़ा रहता है। ऑपरेशन बड़ा जरूर होता है, लेकिन कुछ घंटे बाद चीजें नॉर्मल होने लगती हैं।”

Conclusion

इस तरह ये साबित हो जाता है कि लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य की पुरानी तस्वीर को किडनी डोनेट किए जाने के बाद का बताकर, भ्रामक दावा शेयर किया जा रहा है।

Result: Partly False

Our Sources

Tweet by Rohini Acharya on December 5

Tweet by Misa Bharti & Tejasvi Yadav on December 5

Report by Indian Express Published on December 5

National University Hospital Singapore

Conversation with Dr. Karandeep Guleria

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Authors

An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular