मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022
मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022

होमFact CheckViralएमपी के मुरैना में बुजुर्ग दंपति के अंतिम संस्कार की 4 साल...

एमपी के मुरैना में बुजुर्ग दंपति के अंतिम संस्कार की 4 साल पुरानी तस्वीर, लखनऊ का बताकर हो रही है वायरल

सोशल मीडिया पर एक बुजुर्ग दंपति के पार्थिव शरीर की तस्वीर मार्मिक दावे के साथ वायरल है। दावा किया गया है कि ये लखनऊ के रहने वाले रिटायर्ड कर्नल थे, जिन्होंने बेटों की अनदेखी के चलते खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। साथ में ये भी कहा जा रहा कि इस दंपति के बेटे विदेश में रहते थे और उन्होंने अपने माता-पिता के अंतिम संस्कार में भी आना जरूरी नहीं समझा।

फेसबुक यूजर्स ने वायरल तस्वीर को शेयर कर दावा किया कि यह बुजुर्ग दंपति लखनऊ के थे, जिन्होंने अपने बेटों को चिट्ठी लिखकर आत्महत्या कर ली।

Courtesy: Facebook/Veena Rastogi
Courtesy: Srinath Kasudhan

ट्विटर यूजर्स ने भी इस तस्वीर को लखनऊ के बुजुर्ग दंपति का बताया है।

ट्वीट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

दावे की सत्यता जानने के लिए हमने इस तस्वीर को रिवर्स सर्च किया। हमें Indian Army नामक फेसबुक पेज द्वारा पर 5 सितंबर 2018 को अपलोड किया गया एक फेसबुक पोस्ट प्राप्त हुआ। पोस्ट में वायरल तस्वीर मौजूद है। पोस्ट के मुताबिक, यह घटना पोरसा की है जहां एक बुजुर्ग का निधन हो गया था और सुबह जब उनको अंतिम संस्कार के लिए ले जाया जा रहा था तो उनकी पत्नी का भी निधन हो गया। 

हमने इसकी मदद से गूगल पर ‘पोरसा मौत पति-पत्नी’ कीवर्ड को गूगल पर सर्च किया। हमें दैनिक भास्कर द्वारा चार वर्ष पहले प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। रिपोर्ट के अनुसार, मध्य प्रदेश के मुरैना स्थित पोरसा में रहने वाले एक बुजुर्ग दंपति ने लगभग एक साथ अपने प्राण त्याग दिए। दोनों 70 साल से वैवाहिक जीवन में बंधे थे। बतौर रिपोर्ट, बुजुर्ग दंपति का नाम छोटेलाल और गंगा देवी था। रिपोर्ट में यह भी लिखा है कि मायाराम और परिवार के अन्य सदस्यों ने उनके अंतिम संस्कार में हिस्सा लिया। इस बात का कहीं भी जिक्र नहीं है कि मृतक छोटेलाल रिटायर्ड कर्नल थे। 

Newschecker ने मुरैना के स्थानीय पत्रकार उपेंद्र गौतम से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया, “वायरल तस्वीर मुरैना के पोरसा स्थित गोपालपुरा गांव की है। ये घटना चार साल पुरानी है। 2 सितंबर 2018 को इन बुजुर्ग दंपति का निधन हो गया था और अगले दिन इनका अंतिम संस्कार किया गया। इस घटना को हमने कवर भी किया था। सोशल मीडिया पर अभी पोस्ट वायरल हो रहे हैं, गलत दावा शेयर किया जा रहा है।”

उन्होंने हमें इस घटना से संबंधित उस समय प्रकाशित हुई खबर और बुजुर्ग दंपति के शव की अन्य तस्वीर भी भेजी।

Courtesy: Special Arrangement
Courtesy: Special Arrangement

पत्रकार उपेंद्र गौतम की मदद से हमने बुजुर्ग दंपति के बेटे मायाराम शर्मा से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया, “वायरल तस्वीर मेरे माता-पिता की है। 2 सितंबर साल 2018 को पहले 92 वर्षीय पिता जी का निधन हुआ। पिता जी के निधन की बात को मेरी मां बर्दाश्त नहीं कर सकीं और उसके कुछ घंटे बाद ही उन्होंने अपने प्राण त्याग दिए। दोनों का अंतिम संस्कार पोरसा में कराया गया। पिता का नाम छोटेलाल शर्मा है जो एक किसान थे। सोशल मीडिया पर ये भ्रम फैलाया जा रहा कि हमारे पिता जी रिटायर्ड कर्नल थे।”

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में स्पष्ट है कि सोशल मीडिया पर बुजुर्ग दंपति की तस्वीर गलत दावे के साथ वायरल है। यह घटना ना तो लखनऊ की है और ना ही इसमें दिख रहे बुजुर्ग रिटायर्ड कर्नल थे। असल घटना मध्य प्रदेश के मुरैना स्थित गोपालपुरा गांव की है, जब करीब 4 साल पहले बुजुर्ग दंपति का अंतिम संस्कार किया गया था।  

Result: False

Our Sources

Facebook Post by Indian Army on September 5, 2018

Report Published by Dainik Bhaskar in 2018

Conversation with Reporter of Morena Upendra Gautam

Conversation With deceased Couple’s son Mayaram Sharma

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.
Shubham Singh
Shubham Singh
An enthusiastic journalist, researcher and fact-checker, Shubham believes in maintaining the sanctity of facts and wants to create awareness about misinformation and its perils. Shubham has studied Mathematics at the Banaras Hindu University and holds a diploma in Hindi Journalism from the Indian Institute of Mass Communication. He has worked in The Print, UNI and Inshorts before joining Newschecker.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular