शनिवार, सितम्बर 25, 2021
शनिवार, सितम्बर 25, 2021
होमFact CheckWeekly Wrap: इस हफ़्ते सोशल मीडिया पर वायरल हुए टॉप 5 फेक...

Weekly Wrap: इस हफ़्ते सोशल मीडिया पर वायरल हुए टॉप 5 फेक दावों का Fact Check

20 साल बाद एक बार फिर अफगानिस्तान में तालिबान का शासन लौट आया है। इस हफ़्ते अफगानिस्तान से जुड़ी खबरें सोशल मीडिया पर सुर्खियों में रहीं। सोशल मीडिया पर लोगों ने अफगानिस्तान से जुड़ी कई तस्वीरें और वीडियोज को गलत दावों के साथ शेयर किया। एक तरफ जहां यूजर्स ने एक विमान का एक वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि अफगानिस्तान से बाहर निकलने के लिए लोग, विमान के विंग पर बैठकर सफर कर रहे हैं, तो वहीं, दूसरी तरफ विमान की एक तस्वीर शेयर कर दावा किया कि पीएम मोदी ने विमान सी-17 ग्लोबमास्टर को अफगानिस्तान भेजकर 800 लोगों को बाहर निकाला है। इसके साथ कई अन्य दावे भी तेजी से वायरल होते देखे गए। हमारी टीम ने सोशल मीडिया पर वायरल हुए कुछ ऐसे ही फेक दावों की पड़ताल करके, उनका सच दुनिया के सामने रखा है।

क्या अफगानिस्तान से बाहर निकलने के लिए विमान की विंग पर बैठा यह शख्स?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर दावा किया कि अफगानिस्तान से बाहर निकलने के लिए एक शख्स विमान की विंग पर बैठ गया। हमारी पड़ताल में वायरल दावा गलत साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।

क्या यूपी चुनाव जीतने के बाद सूबे के सभी मुस्लिम युवकों को नौकरी देगी समाजवादी पार्टी?

सोशल मीडिया पर अखबार की एक कटिंग शेयर कर दावा किया गया कि सपा ने वादा किया है कि यूपी की सत्ता में आते ही सभी मुस्लिम युवकों को नौकरी दी जाएगी। जब हमने दावे की पड़ताल की तो पाया कि वायरल दावा गलत है।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।

क्या हाथ में किताब लिए रोती हुई बच्ची की ये वायरल तस्वीर अफगानिस्तान की है?

सोशल मीडिया पर हाथ में किताब लिए, रोती हुई एक बच्ची की तस्वीर शेयर कर दावा किया गया कि यह तस्वीर अफगानिस्तान की है। जब हमने दावे की पड़ताल की तो पाया कि वायरल तस्वीर साल 2014 की है।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।

क्या अफगानिस्तान से भारत लाये गए लोगों की है ये वायरल तस्वीर?

सोशल मीडिया पर विमान की एक तस्वीर शेयर कर दावा किया गया कि पीएम मोदी ने विमान सी-17 ग्लोबमास्टर को अफगानिस्तान भेजकर 800 लोगों को एयरलिफ्ट किया है। जब हमने दावे की पड़ताल की तो पाया कि वायरल तस्वीर साल 2013 की है।

पूरा फैक्ट चेक यहां पर पढ़ा जा सकता है।

क्या मास्क पहनने के लिए CNN द्वारा की गई तालिबान की तारीफ?

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर कर यह दावा किया गया कि सीएनएन ने मास्क पहनने के लिए तालिबान की तारीफ की है। हमारी पड़ताल में वायरल दावा गलत साबित हुआ।

पूरा फैक्ट चेक यहां पढ़ा जा सकता है।


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular