शनिवार, दिसम्बर 3, 2022
शनिवार, दिसम्बर 3, 2022

होमCoronavirusक्या चाय से किया जा सकता है कोरोना वायरस का उपचार? सोशल...

क्या चाय से किया जा सकता है कोरोना वायरस का उपचार? सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है फेक दावा

दुनिया भर के वैज्ञानिक और डॉक्टर इस समय कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने पर काम कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर इस महामारी से निपटने के लिए अलग-अलग तरह के दावे किए जा रहे हैं। इन दिनों दावा किया जा रहा है कि चीन के कोरोना वायरस विशेषज्ञ Dr. Li Wenliang ने कहा है कि दिन में तीन-चार बार चाय पीने से कोरोना नहीं होगा। Dr. Li Wenliang ने अपनी मृत्यु के पूर्व बताया था कि केमिकल Methylxanthine, Theobromine एवं Theophylline कोरोना वायरस को मार सकते हैं। यह तीनों केमिकल चाय में पाए जाते हैं। कोई दिन में तीन कप चाय पीता है, तो वह कोरोना वायरस संक्रमित नहीं होगा। यदि कोई संक्रमित व्यक्ति चाय पीता है तो कुछ ही दिन में वो संक्रमण से मुक्त हो जाएगा। कोरोना वायरस के चाय वाले इलाज के लिए डॉक्टर और अमेरिका के सीएनएन न्यूज़ का हवाला दिया गया है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा दावा

नीचे देखा जा सकता है कि वायरल दावे को ट्विटर पर अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

देखा जा सकता है कि वायरल दावे को फेसबुक पर भी अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है। 

Fact Check/Verification

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे की सच्चाई जानने के लिए हमने सबसे पहले CNN की आधिकारिक वेबसाइट को खंगाला। लेकिन पड़ताल के दौरान हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली जिससे यह साबित होता हो कि चीन के वैज्ञानिक ली वेनलियांग ने चाय को कोरोना संक्रमण का इलाज बताया था। 

अधिक खोजने पर हमें 4 फरवरी, 2020 को CNN द्वारा प्रकाशित की एक मीडिया रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक ली ने ही सबसे पहले कोरोना वायरस संकट के बारे में आगाह किया था। लेकिन उन्हें चुप रहने को कहा गया था। कुछ दिनों बाद वो भी इस वायरस से संक्रमित हो गए थे और उनकी मौत हो गई थी।

 CNN द्वारा प्रकाशित की एक मीडिया रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक ली ने ही सबसे पहले कोरोना वायरस संकट के बारे में आगाह किया था। लेकिन उन्हें चुप रहने को कहा गया था।

कुछ अलग-अलग कीवर्ड्स की मदद से गूगल खोजने पर हमें वायरल दावे से संबंधित कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली। 

कुछ अलग-अलग कीवर्ड्स की मदद से गूगल खोजने पर हमें वायरल दावे से संबंधित कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली।

अधिक जानकारी के लिए हमने World Health Organization की आधिकारिक वेबसाइट को खंगाला। पड़ताल में हमने पाया कि अभी कोरोना वायरस को लेकर कोई स्टीक इलाज नहीं आया है। 

अधिक जानकारी के लिए हमने World Health Organization की आधिकारिक वेबसाइट को खंगाला। पड़ताल में हमने पाया कि अभी कोरोना वायरस को लेकर कोई स्टीक इलाज नहीं आया है।

पड़ताल के दौरान हमें The Lancet द्वारा प्रकाशित की गई एक मीडिया रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक Dr. Li Wenliang आंखों के डॉक्टर थे। उन्होंने ही कोरोना वायरस के बारे में बताया था। 

पड़ताल के दौरान हमें The Lancet द्वारा प्रकाशित की गई एक मीडिया रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक Dr. Li Wenliang आंखों के डॉक्टर थे। उन्होंने ही कोरोना वायरस के बारे में बताया था।

ट्विटर खंगालने पर हमें PIB Fact Check द्वारा किया गया एक ट्वीट मिला। इसमें बताया गया है कि इस बात के कोई सबूत नहीं है कि चाय कोरोना वायरस को ठीक कर सकता है।

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि चाय के अंदर कोरोना वायरस का इलाज नहीं है। जबकि आयुर्वेद में बताया गया है कि गर्म पेय पीने से सर्दी, खांसी और जुकाम में राहत मिलती है। लोगों को भ्रमित करने के लिए आंखों के डॉक्टर को कोरोना विशेषज्ञ बताया जा रहा है।

Result: False 


Our Sources

CNN https://edition.cnn.com/2020/02/03/asia/coronavirus-doctor-whistle-blower-intl-hnk/index.html 

World Health Organization https://www.who.int/emergencies/diseases/novel-coronavirus-2019/question-and-answers-hub

Lancet https://www.thelancet.com/journals/lancet/article/PIIS0140-6736(20)30382-2/fulltext


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें:9999499044या ई-मेल करें:[email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular