गुरूवार, अक्टूबर 6, 2022
गुरूवार, अक्टूबर 6, 2022

होमCoronavirusक्या भारत में कोरोना की तीसरी लहर ने दी दस्तक? जानें वायरल...

क्या भारत में कोरोना की तीसरी लहर ने दी दस्तक? जानें वायरल दावे का सच

कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर का प्रकोप अभी थमा भी नहीं कि भारत में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट, डेल्टा प्लस ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। डेल्टा प्लस वैरिएंट का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। भारत में नए वैरिएंट ने दस्तक दे दी है और इसके कई मामले सामने आ रहे हैं। भारत समेत दुनिया के 80 से ज्यादा देशों में डेल्टा वैरिएंट फैला है। भारत सरकार ने इसे ‘वेरिएंट ऑफ कंसर्न’ (Variant of Concern) घोषित कर दिया है। ऐसे में सोशल मीडिया पर एक दावा किया जा रहा है कि, “डेल्टा प्लस वैरिएंट के मामलों ने दिल्ली और मध्य प्रदेश में तीसरी लहर की शुरूआत कर दी है।” एक पोस्ट को शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि, “कोरोना की तीसरी लहर ने दिल्ली और मध्य प्रदेश में कहर मचाना शुरू कर दिया है। ‘डेल्टा प्लस वैरिएंट’ से 4 लोगों की मौत हो चुकी हैं। महाराष्ट्र, दिल्ली, केरल और मध्य प्रदेश में डेल्टा प्लस वैरिएंट के मामले दर्ज किए गए हैं। वायरल पोस्ट में यह भी कहा जा रहा है कि, जिनकी भी इस वैरिएंट से मौत हुई है, उनको वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी थी।”

कोरोना की तीसरी लहर

‘डेल्टा प्लस वैरिएंट’ को लेकर किए जा रहे दावे को फेसबुक और ट्विटर पर अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।   

Crowd Tangle टूल पर किए गए विश्लेषण से पता चलता है कि, वायरल दावे को सोशल मीडिया पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया है।

हमारे आधिकारिक WhatsApp नंबर (9999499044) पर भी वायरल दावे की सत्यता जानने की अपील की गई थी।

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification:

‘डेल्टा प्लस वैरिएंट’ को लेकर किए जा रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू की। Google Keywords Search की मदद से खंगालने पर हमें ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली, जिससे साबित होता हो कि दिल्ली और मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है।

अलग-अलग कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर, हमें NDTV द्वारा प्रकाशित की गई रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक, पिछले 24 घंटे में देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के केवल 89 मामले दर्ज किए गए हैं। एक हफ्ते में तीसरी बार दिल्ली में 100 से कम मामले दर्ज किए गए हैं।

गूगल कीवर्ड्स सर्च की मदद से खंगालने पर हमें नवभारत टाइम्स द्वारा प्रकाशित की गई रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट के मुताबिक मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 39 मामले दर्ज किए गए हैं। प्रदेश में वायरस से अब तक संक्रमित मामलों की संख्या 7,89,696 पहुंच गयी है।

कुछ कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर हमें हिंदुस्तान द्वारा प्रकाशित की गई रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 9,974 मामले दर्ज किए गए हैं। महाराष्ट्र में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 60,36,821 पहुंच गई है।

अधिक खोजने पर, हमें दैनिक जागरण द्वारा प्रकाशित की गई एक रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक, देश में कोरोना के नए वैरिएंट के मामले धीरे-धीरे बढ़ते जा रहे हैं। देश के कई राज्यों में नया वैरिएंट पहुंच चुका है। देश में अब तक ‘डेल्टा प्लस वैरिएंट’ से संक्रमित 51 मरीज सामने आ चुके हैं। इस वैरिएंट के सबसे ज्यादा 22 मामले केवल महाराष्ट्र में पाए गए हैं।

Sutra-india.in पर जारी आंकड़ों के मुताबिक देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में भारी गिरावट देखी जा सकती है।

Sutra-india.in पर जारी आंकड़ों के मुताबिक मध्य प्रदेश में भी कोरोना वायरस के मामलों में भारी गिरवाट देखी जा सकती है।

अभी तक मिली जानकारी में कहीं भी यह नहीं बताया गया है कि दिल्ली और मध्य प्रदेश में कोरोना महामारी की तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 100 से भी कम मामले सामने आए हैं, वहीं मध्य प्रदेश में भी 40 से कम मामले सामने आए हैं।

पड़ताल के दौरान हमने ICMR (Indian Council of Medical Research) की आधिकारिक वेबसाइट को खंगाला। खोज के दौरान हमें वहां भी वायरल दावे से संबंधित कोई रिपोर्ट नहीं मिली।

Ministry of Health and Family Welfare की आधिकारिक वेबसाइट खोजने पर भी हमें ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली, जिससे साबित होता हो कि कोरोना की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है।  

वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने डॉक्टर हरीश गुप्ता (Dr. Harish Gupta, Elected Member National Medical Commission & DMA) से संपर्क किया। बातचीत में उन्होंने हमें बताया कि, “यह कहना बिल्कुल गलत है कि, दिल्ली और मध्य प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर शुरू हो गई है। दिल्ली में 100 से भी कम मामले पाए गए हैं और अभी डेल्टा प्लस वैरिएंट की तीसरी लहर ने दस्तक नहीं दी है। कई जगहों पर कुछ-कुछ मामले सामने आए हैं, लेकिन इससे यह साबित नहीं होता है कि तीसरी वेव आ गई है। ऐसा केवल तब कहा जा सकता था, जब एक संक्रमित मरीज़ एक या एक से अधिक लोगों को संक्रमित कर रहा होता।”

अधिक जानकारी हासिल करने के लिए हमने एम्स के पूर्व निदेशक एमसी मिश्रा (MC Mishra, Former Director of AIIMS) से संपर्क किया। वीडियो के ज़रिए, उन्होंने हमारे सवालों का जवाब दिया और कहा कि, “देश के कई राज्यों में अभी ‘डेल्टा प्लस वैरिएंट’ के कुछ मामले सामने आये हैं। लेकिन सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र में पाए गए हैं। लेकिन अभी जो मामले आये हैं, उनके आधार पर हम यह नहीं कह सकते कि कोरोना की तीसरी लहर आ गई है। देश में तीसरी लहर तो आएगी, लेकिन अभी नहीं आई है। केवल बचाव ही एक मात्र उपाय है, जिसकी वजह से 95-96 प्रतिशत तक खुद को बचाया जा सकता है। डबल मास्क (Double Mask), हैंड सैनिटाइजर (Hand Sanitizer) और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) इसके एकमात्र बचाव और उपाय हैं और इससे हम खुद को काफी हद तक बचा सकते हैं।”

Read More: क्या अरुणाचल प्रदेश की हैं सोशल मीडिया पर वायरल हो रही ये तस्वीरें?

AIIMS के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कोरोना वायरस की तीसरी लहर को लेकर जानकारी दी थी कि, तीसरी लहर से ‘बचा नहीं जा सकता है।’ भारत में अगले 6-8 हफ्तों में कोरोना की तीसरी लहर दस्तक दे सकती है।

Conclusion

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर, हमने पाया कि अभी देश में कोरोना की तीसरी लहर ने दस्तक नहीं दी है। पड़ताल के दौरान हमने पाया कि देश के कुछ राज्यों में ‘डेल्टा वैरिएंट’ के मामले पाए गए हैं, लेकिन कुछ मामलों के आधार पर यह नहीं कहा जा सकता कि कोरोना महामारी की तीसरी लहर अपने पैर पसार चुकी है।   


Result: Misleading


Our Sources

NDTV

नवभारत टाइम्स

हिंदुस्तान

दैनिक जागरण

ICMR (Indian Council of Medical Research)

Ministry of Health and Family Welfare

Phone Verification


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular