शुक्रवार, जुलाई 30, 2021
शुक्रवार, जुलाई 30, 2021
होमCoronavirusक्या कोविड वैक्सीन लेने के 4 हफ्तों तक एनेस्थीसिया नहीं लेना चाहिए?...

क्या कोविड वैक्सीन लेने के 4 हफ्तों तक एनेस्थीसिया नहीं लेना चाहिए? जानिए वायरल दावे की सच्चाई

कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ पूरी दुनिया में टीकाकरण अभियान जारी किया गया है। लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। केंद्र सरकार ने 18 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए टीकाकरण की अनुमति दे दी है। ऐसे में व्हाट्सएप (WhatsApp) पर कोरोना वैक्सीन को लेकर एक मैसेज वायरल हो रहा है।

क्या हो रहा है वायरल?

“Anyone who has been vaccinated against coronavirus is prohibited from taking any type of anesthetic, even local anesthetics or dentist’s anesthetics, because this poses a great danger to the life of the vaccinated person and is highly dangerous.  There is a possibility of death. Therefore, the vaccinated person must wait 4 weeks after the vaccination. If he has a reaction, he can administer an anesthetic only 4 weeks after the antibody develops.  A Pharmacy’s friend relative was vaccinated two days ago. He went to the dentist yesterday and died immediately after receiving local anesthetics.  After reading the warning about the coronavirus vaccination in the vaccine box, we discovered that after the coronavirus vaccine was given, there was a warning not to take anesthetics.
 Please spread this information to protect your family, relatives, friends, and everyone.”

हिंदी अनुवाद

वायरल मैसेज में कहा जा रहा है कि जिस किसी भी व्यक्ति ने कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण कराया है, उसे किसी भी प्रकार की एनेस्थेटिक/ एनेस्थीसिया (Anaesthetic/Anaesthesia) नहीं लेना चाहिए। टीकाकरण के बाद दांतों के डॉक्टरों के पास भी नहीं जाएं क्योंकि वह इलाज के दौरान एनेस्थेटिक देते हैं। ऐसा करना वैक्सीन ले चुके व्यक्ति के लिए ख़तरनाक हो सकता है। वैक्सीन लेने के बाद एनेस्थेटिक/एनेस्थीसिया लेने से मृत्यु होने की भी संभावना है। इसलिए टीका लगवाने वाले व्यक्ति को 4 हफ्तों तक का इंतज़ार करना चाहिए। अगर, उस व्यक्ति को किसी प्रकार का कोई रिएक्शन होता है तो उसे 4 हफ्तों के लिए रूकना पड़ेगा, क्योंकि एंटीबॉडी विकसित होने में 4 हफ्ते लगते हैं। मेरे एक फार्मेसी दोस्त के रिश्तेदार ने दो दिन पहले वैक्सीन लगवाई थी। वैक्सीन लगवाने के अगले दिन वह डेंटिस्ट (Dentist) के पास गया और एनेस्थेटिक लेने के तुरंत बाद उसकी मृत्यु हो गई। वैक्सीन के बॉक्स पर टीकाकरण के बारे में चेतावनी पढ़ने के बाद, हमने पाया कि वैक्सीन दिए जाने के बाद एनेस्थेटिक/एनेस्थीसिया नहीं लेना चाहिए। कृप्या अपने परिवार, रिश्तेदारों, दोस्तों और सभी की सुरक्षा के लिए इस जानकारी आगे शेयर करें।

एनेस्थीसिया
एनेस्थीसिया

Fact Check/Verification

कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण को लेकर किए जा रहे दावे की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू की। Google Keywords Search की मदद से खंगालने पर हमें वायरल दावे से संबंधित कोई रिपोर्ट नहीं मिली।

अधिक जानकारी के लिए हमने Serum Institute की आधिकारिक वेबसाइट को खंगाला। इस दौरान हमें एक फैक्ट शीट मिली जिसमें वैक्सीन से संबंधित कई जानकारियां दी गई हैं। लेकिन इस शीट में कहीं भी यह नहीं लिखा हुआ है कि कोरोना महामारी के खिलाफ टीकाकरण कराने के 4 हफ्ते तक एनेस्थीसिया नहीं लेना चाहिए।

कुछ कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर हमें 6 अप्रैल 2021 को आज तक द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि, “वैक्सीन लेने के बाद क्या-क्या नहीं करना चाहिए?” इस रिपोर्ट के मुताबिक वैक्सीन लेने के बाद 2-3 दिनों तक आराम करना चाहिए। वैक्सीन लेने के बाद वर्कआउट नहीं करें, बिना मास्क के बाहर नहीं जाएं, सिगरेट और शराब नहीं पीनी चाहिए और डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए।

वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने इंडियन सोसाइटी ऑफ एनेस्थिसियोलॉजिस्ट (ISA) के ऑनरेरी सेक्रेटरी, डॉ. नवीन मलहोत्रा से संपर्क किया। बातचीत में उन्होंने हमें बताया कि, ‘सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा दावा गलत है। दरअसल टीकाकरण के बाद आधे घंटे के लिए ऑब्जर्वेशन (Observation) में रखा जाता है। ऐसा इसलिए ताकि वैक्सीन लगने के बाद किसी भी प्रकार के साइड इफैक्ट्स पर निगरानी रखी जा सके। पूरी दुनिया में किसी को भी यह सलाह नहीं दी गई है कि वैक्सीनेशन कराने के बाद एनेस्थीसिया नहीं लेना चाहिए। जबकि वैक्सीन लगवाने के आधे घंटे के बाद आप अपनी दिनचर्या (Daily Routine) जारी रख सकते हैं। वैक्सीन लगवाने के बाद कुछ साइड इफैक्ट्स (Side-Effects) ज़रूर होते हैं जैसे बुखार, शरीर में दर्द, नींद आना। यह भी जरूरी नहीं कि ऐसा सभी को हो।

13 जून 2021 को MALAYSIAN SOCIETY  OF ANAESTHESIOLOGISTS AND COLLEGE OF ANAESTHESIOLOGISTS द्वारा जारी की गई एक प्रेस रिलीज में भी इस दावे को भ्रामक बताया गया है। इसके मुताबिक अगर किसी व्यक्ति ने हाल ही में वैक्सीन लगवाई है तो डॉक्टरों को गैर जरूरी सर्जरी को टालना चाहिए। लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि वैक्सीन के बाद एनेस्थीसिया नहीं लगा सकते। दरअसल ऐसा इसलिए करना चाहिए जिससे उस व्यक्ति को टीके की दोनों डोज़ का पूरा लाभ मिल सके।

एनेस्थीसिया

Centre for Disease Control and Prevention द्वारा बताया गया है कि वैक्सीन लगवाने के पहले और बाद में आप कौन-कौन से टैस्ट करा सकते हैं। जिनमें रूटीन ब्लड टेस्ट, दांतों का चैकअप, सीटी स्कैन (CT Scan), अल्ट्रासाउंड (Ultrasound), ईसीजी (ECG) आदि शामिल हैं।

एनेस्थीसिया
Read More: सावधान! कहीं आपकी कोल्ड ड्रिंक में Ebola Virus तो नहीं? जानिए पूरा सच

Conclusion

व्हाट्सएप पर वैक्सीन को लेकर किए जा रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि वायरल हो रहा दावा भ्रामक है। वायरल दावे से संबंधित अभी तक कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण सामने नहीं आया है। हालांकि डॉक्टरों द्वारा यह सलाह दी जाती है कि टीकाकरण वाले लोगों को गैर जरूरी सर्जरी को टालने की कोशिश करनी चाहिए ताकि उन्हें दोनों डोज़ का पूरा लाभ मिल सके।  

Result: Misleading


Our Sources

Serum Institute

MALAYSIAN SOCIETY  OF ANAESTHESIOLOGISTS AND COLLEGE OF ANAESTHESIOLOGISTS

Aaj Tak

Centre for Disease Control and Prevention


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular