शुक्रवार, दिसम्बर 2, 2022
शुक्रवार, दिसम्बर 2, 2022

होमCoronavirusक्या देश में 1 करोड़ कोरोना मरीजों का हुआ मुफ्त उपचार? India...

क्या देश में 1 करोड़ कोरोना मरीजों का हुआ मुफ्त उपचार? India Tv द्वारा प्रसारित एक क्लिप हुई वायरल

Claim:

600 करोड़ वोटरों से वोट जीते मोदी जी ने 2 लाख से कम कोरोना मरीजों में से एक करोड़ मरीजों का फ्री इलाज कराया। 

जानिए क्या है वायरल दावा:

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हिंदी न्यूज़ चैनल India TV के बुलेटिन का एक स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है। यह स्क्रीनशॉट उस दौरान का है जब पीएम मोदी देश से ‘मन की बात’ का कार्यक्रम कर रहे थे। पीएम मोदी की बड़ी बातों में कहा जा रहा है कि 1 करोड़ कोरोना मरीज़ों का फ्री में इलाज किया गया। ट्विटर पर दावा किया जा रहा है कि 600 करोड़ वोटरों से वोट जीते मोदी जी ने 2 लाख से कम कोरोना मरीजों में से एक करोड़ मरीजों का फ्री इलाज कराया।

Verification:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल यानि रविवार को ‘मन की बात’ रेडियो कार्यक्रम में देशवासियों को संबोधित किया था। कोरोना संकट के दौरान यह तीसरी बार है जब पीएम मोदी ने देश के लोगों को इस कार्यक्रम के लिए संबोधित किया। कुछ कीवर्ड्स की मदद से हमने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे को खंगाला। देखा जा सकता है कि वायरल स्क्रीनशॉट को ट्विटर और व्हाट्सएप पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है। 


वायरल दावे की सत्यता जानने के लिए हमने सबसे पहले हमने कुछ कीवर्ड्स की मदद से गूगल खंगालना आरंभ किया। पड़ताल के दौरान हमें वायरल दावे से संबंधित कोई मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली।

वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने पीएम मोदी द्वारा आयोजित किए गए ‘मन की बात’ रेडियो प्रोग्राम को सुना। Bharatiya Janta Party ने अपने आधिकारिक YouTube चैनल पर पीएम मोदी के ‘मन की बात’ के वीडियो को अपलोड किया था। 17 मिनट 29 सेकंड पर पीएम मोदी को आयुष मंत्रालय के बारे में बताते हुए सुन सकते हैं। 

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा “हमारे देश में, करोड़ों-करोड़ों गरीब दशकों से एक बहुत बड़ी चिंता में रहते आए हैं – अगर, बीमार पड़ गए तो क्या होगा? इस तकलीफ को समझते हुए, इस चिंता को दूर करने के लिए ही करीब डेढ़ साल पहले आयुष्मान भारत योजना शुरू की गई थी। कुछ ही दिन पहले, आयुष्मान भारत के लाभार्थियों की संख्या एक करोड़ के पार हो गई है। एक करोड़ से ज्यादा मरीज, मतलब, नॉर्वे जैसा देश, सिंगापुर जैसा देश, उसकी जो कुल जनसंख्या है, उससे दो गुना लोगों को मुफ्त में इलाज दिया गया है। आयुष्मान भारत योजना के 1 करोड़ लाभार्थियों में से करीब 80 प्रतिशत लाभार्थी ग्रामीण इलाके के हैं। इसमें से भी करीब 50 प्रतिशत लाभार्थी महिलाएं-बेटियां हैं। इन लाभार्थियों में ज्यादातर ऐसी बीमारी से पीड़ित थे जिनका इलाज सामान्य दवाओं से संभव नहीं था। अगर, गरीबों को अस्पताल में भर्ती होने के बाद इलाज के लिए पैसे देने पड़ते और इनका मुफ्त इलाज नहीं हुआ होता, तो, उन्हें एक मोटा-मोटा अंदाज़ है, करीब-करीब 14 हज़ार करोड़ रूपए से भी ज्यादा, अपनी जेब से, खर्च करने पड़ते।”

फेसबुक खंगालने पर हमें Srk khan और Sagar Karautiya नामक यूज़र द्वारा अपलोड की गई वीडियो मिली। दोनों वीडियो में आप देख सकते हैं कि पीएम मोदी ने कहा कि आयुष भारत के लाभार्थियों की संख्या एक करोड़ के पार हो गई है। आयुष मंत्रालय से करोड़ों मरीज़ अब तक ठीक हो चुके हैं। लेकिन पीएम मोदी ने इस पूरे प्रोग्राम में कहीं भी यह नहीं कहा है कि 1 करोड़ कोरोना मरीज़ों का फ्री में इलाज किया गया है।

आज तक द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट पढ़ने के बाद हमने जाना कि देश में फिलहाल कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 1.90 लाख  के पार पहुंच चुकी है। वहीं अब तक 5394 लोगों की इस वायरस की चपेट में आने से मौत हो चुकी है। 

India tv ने गलत खबर चलाई थी और बाद में इसे डिलीट कर दिया था। ट्विटर हैंडल से न्यूज़ चैनल ने इस खबर के लिए खेद व्यक्त किया है।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे दावे का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ रेडियो प्रोग्राम में नहीं कहा कि अब तक 1 करोड़ कोरोना मरीज़ों का फ्री में इलाज किया गया है। दरअसल पीएम मोदी ने आयुष्मान भारत के लाभार्थियों का आंकड़ा बताया था जिसे इंडिया टीवी द्वारा गलत तरीके से चला दिया गया था। बाद में चैनल ने इस मामले पर खेद प्रकट किया है। 

Tools Used:

Google Keywords Search 

Twitter Search 

Facebook Search 

YouTube Search 

Result: False

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़तालसंशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: check this @newschecker.in

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular