रविवार, दिसम्बर 10, 2023
रविवार, दिसम्बर 10, 2023

होमFact checkFact Check: राजस्थान पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में घायल हत्या के...

Fact Check: राजस्थान पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में घायल हत्या के आरोपियों का वीडियो, यूपी के अंबेडकर नगर का बताकर वायरल

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
यह वीडियो उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर का है, जहां पुलिस ने लड़की के साथ बदसलूकी और हत्या करने के आरोपियों को रेंगने लायक बना दिया.
Fact
वायरल दावा फ़र्ज़ी है, वीडियो में दिख रहे सभी युवक राजस्थान के भरतपुर में पिछले दिनों हुए एक हत्याकांड के आरोपी हैं.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें तीन युवकों को जमीन पर रेंगते हुए देखा जा सकता है. वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि “इसमें शाहबाज और अरबाज मौजूद है, जिसने उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर जिले में सड़क चलती एक लड़की का दुपट्टा खींचा और संतुलन बिगड़ने की वजह से बाइक के नीचे आ जाने के कारण उसकी मौत हो गई. लड़की की मौत के बाद पुलिस ने आरोपियों का यह हाल किया”.

हालांकि, हमने अपनी जांच में पाया कि वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है. यह वीडियो राजस्थान के भरतपुर का है. जहां पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में एक हत्याकांड में आरोपित तीन आरोपियों के पैर में गोली लगी थी.

वायरल वीडियो 30 सेकेंड का है. वीडियो में तीन युवक जमीन पर रेंगते हुए दिखाई दे रहे हैं. तीनों युवकों के पैर पर प्लास्टर लगा हुआ दिखाई दे रहा है. इस वीडियो को उत्तर प्रदेश का बताकर शेयर किया गया जा रहा है.

वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा हुआ है, “ये जिहादी मानसिकता वाले शाहबाज़ और अरबाज है जिनके दुप्पटा खींचने से हमारी हिन्दू बेटी को जान गवानी पड़ी थी. योगी आदित्यनाथ जी की पुलिस ने इनकी जिंदगी बदतर कर दी. रेंग रहे है कीड़ों की तरह”.      

  

Courtesy: X/shibbu87

फ़ेसबुक पर भी इसी तरह के कैप्शन के साथ इस वीडियो को शेयर किया गया है, जिसे यहां, यहां और यहां देखा जा सकता है. 

Courtesy: FB/Archit Gupta

Fact Check/Verification

Newschecker ने वायरल दावे की पड़ताल के लिए संबंधित कीवर्ड से गूगल सर्च किया तो हमें 17 सितंबर को यूपी तक की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट में अंबेडकर नगर में घटी घटना की पूरी जानकारी दी गई थी और साथ ही इसमें शामिल आरोपियों को पुलिस द्वारा गोली मारे जाने का भी ज़िक्र है. रिपोर्ट में तीन आरोपियों की फ़ोटो भी फ़ीचर इमेज में मौजूद है.

रिपोर्ट के अनुसार, यह मामला अंबेडकर नगर जिले के हंसवर थाना क्षेत्र का है, जहां बीते 15 सितंबर को बरही ऐदिलपुर की रहने वाली एक नाबालिग छात्रा स्कूल से अपने घर लौट रही थी. तभी हीरापुर बाजार के पास एक बाइक पर बैठे दो लड़के शाहबाज और अरबाज ने उसका दुपट्टा खींच लिया. जिसकी वजह से साइकिल चला रही छात्रा का संतुलन बिगड़ गया. संतुलन बिगड़ने की वजह से छात्रा सड़क के बीच में आ गई और तभी वहां से गुजर रही एक बाइक ने उसे टक्कर मार दी. जिसकी वजह से मौके पर ही उसकी मौत हो गई.

मौत के बाद पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया. गिरफ्तारी के दौरान आरोपियों ने पुलिस गिरफ़्त से भागने की भी कोशिश की. उन्होंने पुलिसकर्मियों की बंदूक छीनने और उनके ऊपर फायरिंग की भी कोशिश की. पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई में आरोपियों पर गोली चलाई. इस दौरान गोली आरोपी शहबाज और फैसल के पैर में जा लगी. वहीं तीसरे आरोपी का भागने के दौरान पैर टूट गया.

जांच में हमें न्यूज़ 18 हिंदी और पत्रिका की वेबसाइट भी इससे जुड़ी रिपोर्ट मिली. इन दोनों ही रिपोर्ट में वही सब जानकारी मौजूद थी, जो ऊपर लिखी हुई है. साथ ही तीनों रिपोर्ट में एक ही तस्वीर मौजूद है, जिसमें तीनों आरोपी पैर घायल होने की वजह से पुलिसकर्मियों की सहायता से खड़े हैं.

जब हमने न्यूज़ रिपोर्ट्स में मौजूद तस्वीरों से वायरल वीडियो में दिख रहे युवकों का मिलान किया, तो पाया कि इन तीनों आरोपियों में से कोई भी वायरल वीडियो में मौजूद नहीं है. आप नीचे मौजूद तस्वीरों से इसे देख सकते हैं.

चूंकि, हमारी अभी तक की जांच में यह साफ़ हो गया कि वायरल वीडियो उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर की घटना से जुड़ा नहीं है. इसलिए हमने अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए उसके कीफ़्रेम की मदद से रिवर्स इमेज सर्च किया.

रिवर्स इमेज सर्च में हमें First India News के यूट्यूब अकाउंट पर 18 सितंबर 2023 को अपलोड की गई वीडियो रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट में वायरल वीडियो भी मौजूद है. वीडियो रिपोर्ट के अनुसार, फ़र्श पर रेंग कर चल रहे तीनों युवक राजस्थान के भरतपुर में पिछले दिनों हुए अजय झामरी हत्याकांड में आरोपित थे. गिरफ़्तारी के दौरान पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में आरोपियों के पैर में गोली लगी थी.

अब हमने संबंधित कीवर्ड की मदद से न्यूज़ रिपोर्ट्स खंगाली. हमें दैनिक भास्कर की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट मिली. रिपोर्ट में अजय झामरी हत्याकांड में शामिल तीनों आरोपियों की तस्वीर मौजूद है, जिन्हें पुलिस मुठभेड़ में गोली लगी थी.

रिपोर्ट के अनुसार, बीते 27 अगस्त की शाम को भरतपुर के हीरादास चौराहे पर अजय झामरी नाम के युवक की गोलीमार हत्या कर दी गई थी. मामले की जांच के दौरान पुलिस को इसमें शामिल तीन आरोपियों के देहरादून में छिपे होने की सूचना मिली थी, जिसके बाद पुलिस तीनों आरोपियों युवराज, बंटी और तेजवीर को देहरादून से पकड़ने के बाद 5 सितंबर की रात को भरतपुर लेकर पहुंची थी.

आगे रिपोर्ट में बताया गया था कि जब भरतपुर पुलिस की डिस्ट्रिक्ट स्पेशल टीम (DST) तीनों आरोपियों को अटलबंद थाने को सौंपने लगी. तभी तेजवीर नाम के आरोपी ने एक कांस्टेबल की पिस्तौल छीन ली और भागने लगा. जब पुलिस ने उसका पीछा किया तो उसने फायरिंग कर दी. इस दौरान एक पुलिस अधिकारी के सीने में भी गोली लग गई, लेकिन बुलेटप्रूफ़ जैकेट होने की वजह से कोई नुकसान नहीं पहुंचा. इसके बाद पुलिस ने भी गोलियां चलाई और तीनों आरोपियों के पैरों में गोली लगी. गोली लगने के बाद आरोपियों को पास के आरबीएम अस्पताल में शिफ्ट कराया गया और बाद में तीनों को जयपुर रेफ़र कर दिया गया.  

जांच में हमने दैनिक भास्कर की रिपोर्ट में मौजूद तीनों आरोपियों की तस्वीर से वायरल वीडियो वीडियो का मिलान किया तो पाया कि दोनों ही वीडियो में दिख रहे तीनों युवक एक ही हैं. आप भी नीचे मौजूद तस्वीर में यह समानता देख सकते हैं.

हमने अपनी जांच को पुख्ता बनाने के लिए अटलबंद थाने के एसएचओ मनीष शर्मा से भी संपर्क किया. उन्होंने वायरल वीडियो की पुष्टि करते हुए कहा कि इस वीडियो में दिख रहे तीनों आरोपी अजय झामरी हत्याकांड के हैं. वीडियो में सबसे पहले युवराज, उसके बाद बंटी एवं तेजवीर मौजूद हैं.

Conclusion

हमारी जांच में मिले साक्ष्यों से यह साफ़ है कि वायरल वीडियो उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर में बीते दिनों घटी घटना का नहीं, बल्कि राजस्थान के भरतपुर का है, जहां पुलिस के साथ मुठभेड़ में अजय झामरी हत्याकांड में शामिल रहे तीन आरोपियों को गोली लगी थी.

Result: False

Our Source
Article published on UP Tak Website
Article published on News18 Website
Article published on Patrika Website
Article published on Dainik Bhaskar Website
Video Reports of First India News
Telephonic Conversation With Atalband SHO


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

   

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular