शनिवार, जून 22, 2024
शनिवार, जून 22, 2024

होमFact CheckFact Check: क्या उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल ने चूहों को पकड़ने...

Fact Check: क्या उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल ने चूहों को पकड़ने के लिए तीन साल में खर्च किए 69 लाख रुपए? यहां पढ़ें सच

Claim

लखनऊ मंडल रेलवे ने तीन साल में 168 चूहों को पकड़ने में खर्च किए 69 लाख रुपए।

Courtesy: X/@Kawasilakhma

Fact

सोशल मीडिया सहित देश के कई मीडिया संस्थानों ने एक खबर प्रकाशित करते हुए दावा किया कि रेलवे के लखनऊ मंडल ने 168 चूहों को पकड़ने के लिए कुल 69 लाख रुपए खर्च कर दिए। दावे के मुताबिक, एक चूहे को पकड़ने के लिए रेलवे ने 41 हजार रुपए खर्च किये। वायरल दावे की पड़ताल करने पर हमें PIB फैक्ट चेक के एक्स (ट्विटर) हैंडल द्वारा 17 सितंबर को किया गया एक ट्वीट मिला। इस पोस्ट में वायरल दावे को भ्रामक बताते हुए कहा गया है कि चूहों को पकड़ने के लिए जिस लागत की बात की जा रही है वह भ्रामक है। असल में कोच के पेस्ट कंट्रोल के लिए प्रति वर्ष औसतन 25 हजार रुपये खर्च आने की बात कही गई है।

अधिक जानकारी के लिए हमने उत्तर रेलवे के लखनऊ डिवीजन से संपर्क किया, जहां हमारी बात सीनियर डिविजनल कमर्शियल मैनेजर रेखा शर्मा और जनसंपर्क अधिकारी विक्रम शंभू सिंह से हुई। उन्होने हमें यह बताया कि “यह दावा भ्रामक है और इस ख़बर को गलत तरीके से पेश किया गया है। असल में उत्तर रेलवे की लखनऊ डिवीजन के अंतर्गत सभी रेल कोचों में कॉकरोच, चूहा, खटमल, और मच्छर आदि कीड़े-मकोड़ों के नियंत्रण के लिए धनराशि खर्च की जाती है।”

इस तरह हमारी जांच में यह स्पष्ट है कि रेलवे के लखनऊ मंडल द्वारा एक चूहा पकड़ने के लिए 41 हजार रुपए खर्च किए जाने का यह वायरल दावा भ्रामक है।

Result- Missing Context

Our Sources
PIB Fact Check Tweet On 17th, September, 2023
Telephonic Conversation With PRO Lucknow Division, Northern Railways

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular