शुक्रवार, दिसम्बर 3, 2021
शुक्रवार, दिसम्बर 3, 2021
होमFact Checkक्या अयोध्या में बन रहे रेलवे स्टेशन की है ये वायरल तस्वीर?

क्या अयोध्या में बन रहे रेलवे स्टेशन की है ये वायरल तस्वीर?

अगले कुछ महीनों में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, ऐसे में प्रदेश में सियासी हलचल तेज हो गई है। एक तरफ जहां जनता को लुभाने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड जारी कर अपनी उपलब्धियां गिनवा रहे हैं, तो वहीं दूसरी विपक्षी पार्टियां उनके द्वारा किए गए कामों को हवाबाजी बता रही हैं। इसी बीच भाजपा समर्थक सोशल मीडिया यूजर्स एक खूबसूरत रेलवे स्टेशन की तस्वीर तेजी से शेयर कर रहे हैं। तस्वीर में रेलवे स्टेशन हाईटेक टेक्नोलॉजी से लैस है और आधुनिक डिजाइन वाली कई नई ट्रेनें आती-जाती हुई नजर आ रही हैं। दावा किया जा रहा है, ‘ये स्टेशन अमेरिका, चीन या फिर जापान का नहीं बल्कि अयोध्या (Ayodhya Railway Station) का है, जो कि बहुत जल्द देश को समर्पित किया जाएगा। योगी राज में तेजी से इस स्टेशन पर काम किया जा रहा है।’ 

Crowdtangle की सहायता से किए गए विश्लेषण के मुताबिक, वायरल तस्वीर को अयोध्या (Ayodhya Railway Station) में बन रहे रेलवे स्टेशन का बताकर सोशल मीडिया पर सैकड़ों लोगों ने शेयर किया है। फेसबुक पर Kapil K Saraswat की पोस्ट को सबसे ज्यादा शेयर और लाइक किया गया है। लेख लिखे जाने तक इस पोस्ट पर 2.3K शेयर और 9.8K लाइक थे।

अयोध्या में बन रहे रेलवे स्टेशन
अयोध्या में बन रहे रेलवे स्टेशन की वायरल तस्वीर

पोस्ट से जुड़े आर्काइव लिंक को यहां पर देखा जा सकता है। 

Fact Check/Verification

रेलवे स्टेशन की तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर हमें वायरल तस्वीर से जुड़ी कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं। 17 फरवरी 2020 को livehindustan द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, ये तस्वीर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास मॉडल की है। दरअसल भारत सरकार ने 6500 करोड़ रुपए खर्च कर 2030 तक 50 रेलवे स्टेशनों को खूबसूरत और हाईटेक बनाने का लक्ष्य रखा है। navbharattimes, moneycontrol और livemint ने भी इस रिपोर्ट को प्रकाशित किया था।

अयोध्या में बन रहे रेलवे स्टेशन

पड़ताल के दौरान हमें वायरल तस्वीर भारतीय रेलवे की एक आधिकारिक रिपोर्ट में भी मौजूद मिली। इस रिपोर्ट को रेल मंत्रालय ने साल 2009 में पेश करते हुए 2020 तक रेलवे में होने वाले बदलावों और विकास कार्यों के बारे में बताया था। तब से ही नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के विकास कार्यों से जुड़ी खबरों में इस तस्वीर का इस्तेमाल होता आ रहा है।

इमारतों के लिए डिजाइन और इंजीनियरिंग की सेवा देने वाली कई इंटरनेशनल कंपनियों ने भी इस तस्वीर को अपनी वेबसाइट पर दिल्ली पुनर्विकास मॉडल का बताकर शेयर किया हुआ है।

अब बात अगर अयोध्या रेलवे स्टेशन की करें तो पता चलता है कि देश की स्थाई संसदीय समिति का एक दल, कुछ दिन पहले अयोध्या में बन रहे रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करने के लिए पहुंचा था। समिति को रेलवे के अधिकारियों ने बताया है कि स्टेशन के पहले चरण पर तेजी से काम चल रहा है। पहले चरण का 70 फीसदी काम पूरा हो चुका है। इस साल दिसंबर के आखिर तक स्टेशन का पूरा काम खत्म होने की उम्मीद है। 7 अगस्त 2020 को भारत सरकार की ओर से अयोध्या रेलवे स्टेशन के डिजिटल मॉडल का एक वीडियो जारी किया गया था। वीडियो वायरल तस्वीर से बिल्कुल अलग है। 2 मिनट 40 सेकेंड के इस वीडियो को हमने पूरा देखा, लेकिन हमें वीडियो में कहीं भी वायरल तस्वीर नजर नहीं आई।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक, वायरल तस्वीर का अयोध्या में बन रहे रेलवे स्टेशन (Ayodhya Railway Station) से कोई लेना देना नहीं है। वायरल तस्वीर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास मॉडल की है। जिसे अब सोशल मीडिया पर यूजर्स गलत दावे के साथ शेयर कर रहे हैं। 

Result :- False Connection

Claim Review: अयोध्या में बन रहे रेलवे स्टेशन की वायरल तस्वीर।
Claimed By: Viral social media post
Fact Check:  False Connection

Read More : क्या तमिलनाडु में तोड़े गए हिन्दू मंदिर का है यह वायरल वीडियो?


Our Sources

Youtube-https://www.youtube.com/watch?v=O2lPa5bUhC4

Navbharattimes-https://navbharattimes.indiatimes.com/business/business-news/new-delhi-railway-station-will-be-world-class-soon-see-future-image-after-redevelopment/articleshow/74161544.cms?story=1

Moneycontrol https://www.moneycontrol.com/news/business/real-estate/second-pre-bid-meeting-for-redevelopment-of-new-delhi-railway-station-held-5886291.html

livemint-https://www.moneycontrol.com/news/business/real-estate/second-pre-bid-meeting-for-redevelopment-of-new-delhi-railway-station-held-5886291.html


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Pragya Shukla
Pragya has completed her Masters in Mass Communication, and has been doing content writing for the last four years. Due to bias and incomplete facts in mainstream media, she decided to become a fact-checker.
Pragya Shukla
Pragya has completed her Masters in Mass Communication, and has been doing content writing for the last four years. Due to bias and incomplete facts in mainstream media, she decided to become a fact-checker.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular