शनिवार, अप्रैल 1, 2023
शनिवार, अप्रैल 1, 2023

होमFact Checkक्या वायनाड के कांग्रेस कार्यालय की है सोशल मीडिया पर वायरल हो...

क्या वायनाड के कांग्रेस कार्यालय की है सोशल मीडिया पर वायरल हो रही यह तस्वीर?

कोरोना की दूसरी लहर अब कमजोर पड़ने लगी है, तो वहीं, अगले साल देश के 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों ने तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। एक तरफ जहां बीजेपी में बैठकों का दौर जारी है, तो वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस की कमान प्रियंका और राहुल गांधी के हाथों में है। उत्तर प्रदेश में राजनीतिक जमीन तलाशने के लिए प्रियंका गांधी काफी सक्रिय हैं, तो वहीं, दूसरी तरफ राहुल गांधी पंजाब कांग्रेस में चल रही कलह को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं।

इसी बीच कांग्रेस पार्टी के कार्यालय को लेकर एक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। पोस्ट में हरे रंग की बिल्डिंग की एक तस्वीर को शेयर किया किया गया है। तस्वीर में, बिल्डिंग पर अर्धचंद्र और तारे बने हुए नजर आ रहे हैं। इस तस्वीर को शेयर कर दावा किया जा रहा है, ‘यह बिल्डिंग कांग्रेस के वायनाड कार्यालय की है, जो कि राहुल गांधी का संसदीय क्षेत्र है। कांग्रेस ने अपने इस कार्यालय पर पाकिस्तान का झंडा पेंट किया हुआ है।’ साथ ही कटाक्ष करते हुए यह कहा जा रहा है कि, ‘आखिर कब तक आप कांग्रेस पार्टी को हिंदुओं की पार्टी मानने की भूल करते रहेगें। इस बार चुनाव में इसे नहीं चुनेंगे।’

सोशल मीडिया पर यूजर्स इस तस्वीर को शेयर कर कैप्शन में लिख रहे हैं, “नहीं-नहीं ये तस्वीर पाकिस्तान की किसी बिल्डिंग की नहीं है। बल्कि ये तस्वीर तो भारत के केरल राज्य के वायनाड शहर में स्थित कांग्रेस के कार्यालय की है। जी हां, ये राहुल गांधी ,प्रियंका गांधी बाड्रा व सोनिया गांधी का कांग्रेस कार्यालय है। सोचो कांग्रेस की सेकुलरिज्म (धर्मनिरपेक्षता).. कांग्रेस की धर्म निरपेक्षिता हिन्दुओं के ही खिलाफ क्यों है?”

पोस्ट से जुड़े आर्काइव लिंक को यहां पर देखा जा सकता है।

पोस्ट से जुड़े आर्काइव लिंक को यहां पर देखा जा सकता है।

हमारे द्वारा Crowdtangle टूल पर किए गए विश्लेषण से पता चला कि, इस तस्वीर को कांग्रेस कार्यालय का बताकर हज़ारों सोशल मीडिया यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया है।

कांग्रेस कार्यालय
कांग्रेस कार्यालय की कथित तस्वीर

Fact Check/Verification

वायरल तस्वीर की सच्चाई जानने के लिए, हमने फोटो को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें असली तस्वीर केरल के इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी के एक कार्यकर्ता A P Moidu के फेसबुक पेज पर मिली। जिसे 23 फरवरी 2019 को पोस्ट किया गया था।

असली तस्वीर को गौर से देखने पर हमें पता चला कि यह तस्वीर कांग्रेस पार्टी के कार्यालय की नहीं, बल्कि इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी के कार्यालय की है। सबसे पहले बात करते हैं चांद और तारे वाले निशान की, जिसे पाकिस्तान का झंडा बताया जा रहा है। सर्च करने पर हमें पता चला कि यह पाकिस्तान का झंडा नहीं, बल्कि इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी का झंडा है। 

कांग्रेस कार्यालय

हमने पाकिस्तान के झंडे की तुलना Indian Union Muslim League पार्टी के झंडे से की। इस दौरान हमें पता चला कि पाकिस्तान के झंडे का करीब एक चौथाई हिस्सा बाईं तरफ से सफेद रंग का है। जबकि, मुस्लिम लीग के झंडे में चांद-तारे के अलावा सारा हरा रंग है। पाक झंडे में चांद-तारे का आकार, मुस्लिम लीग के झंडे में मौजूद चांद-तारे के आकार से काफी ज्यादा बड़ा है और चांद तारे बीचों-बीच मौजूद हैं। तो वहीं, मुस्लिम लीग पार्टी के झंडे में चांद-तारे काफी ज्यादा छोटे हैं और झंडे के बाईं तरफ हैं। इसके बाद ये पूरी तरह से साफ होता है कि ये झंडा ‘भारतीय मुस्लिम लीग पार्टी’ का है।

‘इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी’ के झंडे को लेकर पहले भी ऐसा ही एक दावा वायरल हुआ था। उस समय भी हमने दावे का फैक्ट चेक किया था। फैक्ट चेक रिपोर्ट को यहां पर पढ़ा जा सकता है।

कांग्रेस कार्यालय

इस तस्वीर को ध्यान से देखने पर, हमने पाया कि बिल्डिंग पर साइड में सबसे ऊपर की तरफ एक सीढ़ी का चिन्ह बना हुआ है। सर्च करने पर हमें पता चला कि यह ‘इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी’ का चुनाव चिन्ह हैं। चुनाव आयोग की वेबसाइट पर भी इसकी जानकारी दी गई है। 

कांग्रेस कार्यालय

तस्वीर में बाईं तरफ साइड में एक शख्स की फोटो लगी हुई है। इसके बारे में सर्च करने पर हमें पता चला कि यह तस्वीर ‘इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी’ के दिवंगत पूर्व अध्यक्ष सैयद मोहम्मद अली शिहाब की है। जिनका निधन साल 2009 में हो गया था। तस्वीर पर और अधिक गौर करने पर हमने पाया कि तस्वीर में कार्यालय की दीवार पर, वहां की क्षेत्रीय भाषा मलयालम में ‘इकबाल नगर लीग हाउस’ लिखा हुआ है।

कांग्रेस कार्यालय

हमने वायरल दावे की पूरी सच्चाई जानने के लिए हमने, वायनाड यूथ कांग्रेस के डिस्ट्रिक्ट जनरल सेक्रेटरी Musthafa Mananthavadi से इस बारे में बातचीत की। उन्होंने हमें बताया, “वायरल तस्वीर में नजर आ रही बिल्डिंग कांग्रेस के कार्यालय की नहीं, बल्कि ‘इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी’ के कार्यालय की है। उन्होंने हमारे साथ वायनाड स्थित कांग्रेस के कार्यालय की कुछ तस्वीरें भी शेयर की हैं। जिन्हें आप नीचे देख सकते हैं।

Conclusion

हमारी पड़ताल में मिले तथ्यों के मुताबिक, वायरल तस्वीर कांग्रेस पार्टी के कार्यालय की नहीं, बल्कि केरल की ‘इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी’ के कार्यालय की है। जिसे अब गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। 

Read More :तमिलनाडु में मस्जिदों के मुकाबले मंदिरों से नहीं लिया जाता ज्यादा बिजली का बिल, फेक दावा हुआ वायरल

Result: Misleading

Claim Review: वायनाड के कांग्रेस कार्यालय की तस्वीर।
Claimed By: Seema
Fact Check: Misleading

Our Sources

Election commsion –https://eci.gov.in/files/file/9517-allotment-of-reserved-sybmbol-to-iuml-under-para-10-general-election-to-lok-sabha-2019-and-las/

Facebook –https://www.facebook.com/apmoidu/photos/a.2123722987724820/2123723211058131/?type=3


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular