शनिवार, सितम्बर 25, 2021
शनिवार, सितम्बर 25, 2021
होमFact Checkवायरल वीडियो में नज़र आ रही महिला नहीं है चुनाव आयोग की...

वायरल वीडियो में नज़र आ रही महिला नहीं है चुनाव आयोग की कर्मचारी, सोशल मीडिया पर फेक दावा वायरल है

सोशल मीडिया पर बिहार चुनाव के दौरान ईवीएम मशीन में गड़बड़ी को लेकर एक वीडियो शेयर की जा रही है। राष्ट्रीय जनता दल का आरोप है कि एनडीए ने यह चुनाव मतगणना में हेराफेरी करके जीता है। वीडियो में एक महिला को मीडिया से बात करते हुए मतगणना को लेकर असंतोष जाहिर करते हुए देखा जा सकता है। महिला का कहना है कि पुलिस लोगों पर दवाब बना रही है। दावा किया जा रहा है कि वीडियो में नज़र आ रही महिला मतगणना अधिकारी है।   

https://twitter.com/MLCvijaysingh/status/1328224853036437505

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां देखा जा सकता है।

देखा जा सकता है कि ट्विटर पर इस दावे को अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

देखा जा सकता है कि फेसबुक पर भी इस दावे को अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

https://www.facebook.com/nitinrp/videos/5240676582616515
https://www.facebook.com/hitesh.singh.520562/videos/3751127501588570

Fact Checking/Verification

कथित तौर पर बिहार चुनाव में ईवीएम के साथ गड़बड़ी को लेकर वायरल हो रही वीडियो की सत्यता जानने के लिए हमने पड़ताल शुरू की। InVID की मदद से मिले कीफ्रेम्स को Google Reverse Image Search की मदद से खंगालने पर हमें कुछ परिणाम मिले।  

पड़ताल के दौरान हमें एमपी कांग्रेस का एक ट्वीट मिला। इस ट्वीट में वायरल वीडियो के लंबे वर्ज़न को देखा जा सकता है। वीडियो के कैप्शन में इसे मध्यप्रदेश के इंदौर का बताया गया है। वीडियो में महिला अपना नाम रश्मि बौरासी बता रही है।    

पड़ताल आगे बढ़ाने पर हमें Indian National Congress Madhya Pradesh के आधिकारिक फेसबुक पेज पर 10 नवंबर, 2020 को अपलोड की गई वीडियो मिली। इस पोस्ट में भी वायरल वीडियो को देखा जा सकता है। इस वीडियो को इंदौर की सांवेर सीट का बताया गया है।

https://www.facebook.com/INCMadhyaPradesh/videos/1074309476354126

वायरल वीडियो को ध्यान से सुनने पर हमने पाया कि रश्मि को दो लोगों का नाम लेते हुए सुना जा सकता है। सुदर्शन गुप्ता और राजेश सोनकर के बारे में सर्च करने पर हमने पाया कि ये दोनों मध्य प्रदेश भाजपा के नेता हैं।

https://twitter.com/sudarshanguptaa?lang=en

https://twitter.com/dr_rajeshsonkar?lang=en

अधिक जानकारी के लिए Google Keywords Search की मदद से खोजने पर हमें ANI और पत्रिका द्वारा प्रकाशित की गई मीडिया रिपोर्ट्स मिली। इन रिपोर्ट्स के मुताबिक रश्मि बौरासी और अजीत बौरासी का कहना है कि मतगणना में गड़बड़ी हो रही है और काउंटिंग भी सही तरीके से नहीं हो रही है।

ईवीएम मशीन के साथ छेड़छाड़ को लेकर वायरल हो रही वीडियो बिहार चुनाव की नहीं है

Times of India द्वारा प्रकाशिक रिपोर्ट में एक वीडियो को देखा जा सकता है जहां पर प्रेमचंद गुड्डु के बेटे अजीत बौरासी को ईवीएम की सील तोड़े जाने का दावा करते हुए देखा जा सकता है।

ईवीएम मशीन के साथ छेड़छाड़ को लेकर वायरल हो रही वीडियो बिहार चुनाव की नहीं है

वायरल दावे की तह तक जाने के लिए हमने अजीत बौरासी से संपर्क किया। बातचीत में उन्होंने हमें बताया कि वीडियो में नज़र आ रही महिला उनकी बहन रश्मि बौरासी हैं। यह वीडियो इंदौर के मतगणना स्थल की है जहां पर उनकी बहन काउंटिंग एजेंट के तौर पर मौजूद थी।

Conclusion

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहे वीडियो का बारीकी से अध्ययन करने पर हमने पाया कि मध्य प्रदेश के वीडियो को बिहार का बताकर भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। पड़ताल में हमने पाया कि वीडियो में नज़र आ रही महिला कांग्रेस नेता प्रेमचंद गुड्डू की बेटी रश्मि बौरासी हैं।


Result: False


Our Sources

Twitter https://twitter.com/INCMP/status/1326134448488808448

Facebook https://www.facebook.com/INCMadhyaPradesh/videos/1074309476354126

ANI https://www.aninews.in/news/national/general-news/mp-bypolls-counting-paused-for-an-hour-after-congress-supporters-allege-mismanagement20201110185536/

Patrika https://www.patrika.com/indore-news/sanwr-by-election-results-uproar-during-counting-of-votes-6513214/

Times of India https://timesofindia.indiatimes.com/videos/news/watch-congress-supporters-create-ruckus-in-indore-over-voter-fraud/videoshow/79155066.cms


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular