मंगलवार, अप्रैल 23, 2024
मंगलवार, अप्रैल 23, 2024

होमFact CheckFact Check: मॉडिफाइड ट्रैक्टर का वायरल हुआ वीडियो किसान आंदोलन से संबंधित...

Fact Check: मॉडिफाइड ट्रैक्टर का वायरल हुआ वीडियो किसान आंदोलन से संबंधित नहीं है, यहां पढ़ें सच

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim
पंजाब के किसानों ने आंदोलन के लिए लोहे की ग्रिल्स के साथ मॉडिफाई कराया यह ट्रैक्टर।
Fact
यह वीडियो तुर्की का है। इस वीडियो का संबंध भारत में चल रहे किसान आंदोलन से नहीं हैं।

करीब दो साल पहले 378 दिनों तक चले किसान आंदोलन के बाद अब फिर से अपनी मांगों को लेकर किसान सड़कों पर उतर गए हैं। 12 फरवरी 2024 को एमएसपी और अन्य 12 मुख्य मांगों को लेकर किसानों और केंद्रीय मंत्रियों के बीच हुई बैठक बेनतीजा रही, जिसके बाद 13 फरवरी को पंजाब से दिल्ली के लिए किसानों द्वारा कूच किया गया।

इसी बीच सोशल मीडिया पर किसान आंदोलन से जोड़कर लोहे की ग्रिल्स के साथ मॉडिफाई किये गए एक ट्रैक्टर का वीडियो शेयर हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि भारतीय किसानों द्वारा यह ट्रैक्टर पुलिस बेरिकेड्स तोड़ने के लिए मॉडिफाई करवाया गया है। वायरल पोस्ट में मॉडिफाई किये गए एक ट्रैक्टर के वीडियो के साथ लिखा गया है कि “पंजाब से सोमवार को जत्थे रवाना होंगे, मंगलवार को दिल्ली में घुसने का टारगेट है। सरकार ने सड़कों पर कीलें लगाई हैं तो किसानों ने अपने ट्रैक्टर भी खासतौर पर मॉडीफाई कराए हैं।” कैप्शन के साथ Farmers Protest 2024 हैशटैग को भी जोड़ा गया है।

Courtesy: X/@lavelybakshi

Fact Check/Verification

वायरल दावे की पड़ताल के लिए हमने मॉडिफाइड ट्रैक्टर के कीफ्रेम्स को रिवर्स इमेज सर्च किया, जिसके परिणाम में हमें किसान आंदोलन से सम्बंधित कई सोशल मीडिया पोस्ट मिले। करीब 2 हफ्ते पहले @cengizler_tarim_55 नामक तुर्किश टिकटॉक यूजर ने मॉडिफाइड ट्रैक्टर के इस वीडियो को शेयर किया था।

Courtesy: TikTok/ @cengizler_tarim_55

इसके अतिरिक्त, तुर्किश यूजर cengizler_tarim_55 ने 31 जनवरी 2024 को अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से भी इस वीडियो को शेयर किया था।

Courtesy: Instagram/ @cengizler_tarim_55

30 जनवरी 2024 के एक यूट्यूब शॉर्ट में भी यह वीडियो मौजूद है। 1 फरवरी को ortakoy_haberim नामक एक तुर्किश इंस्टाग्राम पेज द्वारा भी इस वीडियो को शेयर किया गया था।

Courtesy: Instagram/ @ortakoy_haberim

जांच में आगे हमने देखा कि वायरल वीडियो में दिख रहे ट्रैक्टर पर उसकी कंपनी का नाम Hattat 260 G लिखा हुआ है।

Courtesy: X/@lavelybakshi

पड़ताल के दौरान Hattat Traktor की आधिकारिक वेबसाइट पर हमें बिना मॉडिफाइड हुए इसी ट्रैक्टर की फोटो मिलती है।

https://www.hattattraktor.com/traktorler/hattat-traktor/hattat-260g-280g

जांच में आगे लिंक्डइन पर दी गयी जानकारी से पता चलता है कि Hattat Tractor एक तुर्की कंपनी है, जो ÇERKEZKÖY, TEKİRDAĞ में स्थित है।

https://www.linkedin.com/company/hattattraktor/about/

वीडियो को गौर से देखने पर ट्रैक्टर के पीछे एक बोर्ड नज़र आता है, जिसपर Celik Aku लिखा हुआ है। खोजने पर पता चलता है कि यह भी एक तुर्किश बैटरी कंपनी है।

Screengrab from viral video
https://www.celikaku.com.tr/en/

Conclusion

अपनी जाँच से हम इस निष्कर्ष पर पहुँचते हैं कि ट्रैक्टर का यह वीडियो तुर्की का है। इस वीडियो का संबंध भारत में चल रहे किसान आंदोलन से नहीं हैं।

Result: False

Sources
Posts by different Turkish social media handles.
Official website of Hattat Traktor.
Official website of CeliKaku battery.
Linkedin profile of Hattat Traktor.

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular