मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022
मंगलवार, दिसम्बर 6, 2022

होमFact Checkक्या केंद्र सरकार ने भारतीय रेलवे को अडानी ग्रुप के हाथों बेच...

क्या केंद्र सरकार ने भारतीय रेलवे को अडानी ग्रुप के हाथों बेच दिया है? भ्रामक है यह दावा

Claim

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर कर दावा किया गया है कि भारत सरकार ने रेलवे को अडानी ग्रुप को बेच दिया है। 

Courtesy: Facebook/surjeetchaddhafor4

Fact

दावे की सत्यता जानने के लिए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स की मदद से सर्च किया। हमें अडानी ग्रुप ट्रांसपोर्ट की वेबसाइट पर एक पीडीएफ मिला। इसमें हमें समुद्र और भूमि व्यापार संचालन के लिए अडाणी समूह द्वारा संचालित मालवाहक जहाजों और ट्रेनों के बारे में जिक्र किया गया है। ये कंपनी जहाज और ट्रेनों से बंदरगाहों तक माल पहुंचाने में लगी हुई है।

अडानी ग्रुप के पोर्ट्स एंड लॉजिस्टिक्स वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, उनके पास देश में रिटेल, बेवरेज, ऑटो-मोबाइल पार्ट्स, अनाज जैसे उत्पादों की आपूर्ति के लिए अखिल भारतीय लाइसेंस है। अडानी लॉजिस्टिक्स ने पाटली और किलारायपुर में इनलैंड फ्रेट डिपो स्थापित किए हैं।

Courtesy: Adani Ports

गूगल पर कुछ कीवर्ड्स को सर्च करने पर हमें Economic Times द्वारा जनवरी 2007 में प्रकाशित की गई की एक मीडिया रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक, भारतीय रेलवे ने जनवरी 2007 में प्राइवेट कंपनियों के लिए कंटेनर ट्रेन व्यवसाय खोला था। वहीं, Business Standard द्वारा साल 2018 में प्रकाशित एक रिपोर्ट में बताया गया है कि भारतीय रेलवे में अडानी से लेकर टाटा स्टील जैसी छह कंपनियां माल ढुलाई का काम करती हैं।  

इसके अलावा, इस तरह का दावा पूर्व में भी वायरल हो चुका है। तब सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले PIB (प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो) द्वारा संचालित PIB Fact Check ने 16 दिसंबर 2020 को ट्वीट कर इस दावे को भ्रामक बताया था।

यह दावा सितंबर 2021 में भी वायरल हुआ था, तब Newschecker Bangla द्वारा दावे की पड़ताल की गई थी।

Conclusion

इस तरह हमारी पड़ताल में यह स्पष्ट हो गया कि केंद्र सरकार द्वारा भारतीय रेलवे को अडानी की कंपनी को बेचे जाने का दावा भ्रामक है।

Result:Partly False

Our Sources

Adani Website

Report Published By Economic Times on January 05, 2007

Tweet by PIB Fact Check on December 16, 2020

यदि आपको यह फैक्ट चेक पसंद आया है और आप इस तरह के और फैक्ट चेक पढ़ना चाहते हैं तो यहां क्लिक करें।

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: [email protected]

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular