गुरूवार, जुलाई 18, 2024
गुरूवार, जुलाई 18, 2024

होमFact CheckFact Check: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने नहीं की मौजूदा केंद्र सरकार...

Fact Check: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने नहीं की मौजूदा केंद्र सरकार की आलोचना, वायरल वीडियो का यहां जानें सच

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

Claim

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मौजूदा केंद्र सरकार की आलोचना की है।

नितिन गडकरी एक वीडियो में मोदी सरकार की आलोचना करते नजर आ रहे हैं। कैप्शन में लिखा गया है, “मोदी सरकार ने 10 वर्ष में क्या किया- सुन लीजिए नितिन गडकरी से.” वीडियो में नितिन गडकरी कह रहे हैं कि ”आज गांव, गरीब, मज़दूर और किसान दुखी हैं। इसका कारण यह है कि जल, जमीन, जंगल और जानवर – रूरल, एग्रीकल्चर और ट्राइबल की जो इकॉनमी है: यहाँ अच्छे रोड नहीं हैं। पीने के लिए शुद्ध पानी नहीं है। अच्छे अस्पताल नहीं हैं। अच्छे स्कूल नहीं हैं। किसान की फसल को अच्छे भाव नहीं हैं।”

Courtesy: Instagram/@meraapnarahul

इस क्लिप को कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक एक्स हैंडल द्वारा भी शेयर किया गया है।

Fact

वीडियो को गौर से देखने पर इसमें लल्लनटॉप का लोगो और जमघट लिखा नज़र आता है। दावे की पड़ताल के लिए सबसे पहले हम लल्लनटॉप, जमघट और नितिन गडकरी की-वर्ड सर्च करते हैं, जिसके परिणाम में हमें ‘द लल्लनटॉप’ के यूट्यूब चैनल पर 29 फरवरी 2024 को नितिन गडकरी का इंटरव्यू वीडियो मिलता है। ‘नितिन गडकरी इंटरव्यू में पीएम मोदी से खटास, अगले पीएम पर सौरभ द्विवेदी से क्या बोले?’ कैप्शन के साथ शेयर किये गए वीडियो में 18:20 मिनट पर वायरल क्लिप वाला हिस्सा देखने को मिलता है।

Courtesy: Lallantop

वीडियो देखने पर हम पाते हैं कि वायरल वीडियो क्लिप्ड है। इंटरव्यू में नितिन गडकरी कह रहे थे कि ‘.. जब गांधी थे तब 90 प्रतिशत आबादी गाँवों में रहती थी.. और धीरे-धीरे 30 प्रतिशत का माइग्रेशन (पलायन) क्यों हुआ?’ वे आगे कहते हैं कि ”इसका कारण.. आज गांव, गरीब, मज़दूर और किसान दुखी हैं। इसका कारण यह है कि जल, जमीन, जंगल और जानवर – रूरल, एग्रीकल्चर और ट्राइबल की जो इकॉनमी है : यहाँ अच्छे रोड नहीं हैं। पीने के लिए शुद्ध पानी नहीं है। अच्छे अस्पताल नहीं हैं। अच्छे स्कूल नहीं हैं। किसान की फसल को अच्छे भाव नहीं हैं।” वे इसी क्रम में आगे कहते हैं कि ”हमारी सरकार आने पर हम इस दिशा में बहुत काम कर रहे हैं।” इसके बाद उन्होंने अपनी सरकार की कई उपलब्धियां भी गिनाई थीं। इससे यह स्पष्ट हो जाता है कि उनके अधूरे वीडियो को शेयर किया जा रहा है।

नितिन गडकरी ने अपने आधिकारिक एक्स हैंडल से भी इस दावे का खंडन किया है। ख़बरों के अनुसार नितिन गडकरी ने इस क्लिप के संबंध में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और जयराम रमेश को कानूनी भी नोटिस भेजा है।

Courtesy: X/@OfficeOfNG

इस तरह हमारी पड़ताल में यह स्पष्ट हो जाता है कि नितिन गडकरी के अधूरे वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

Result: Missing Context

Sources
Video Interview shared by Lallantop on 29th February 2024.
Post from the official X handle Nitin Gadkari.

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

फैक्ट-चेक और लेटेस्ट अपडेट्स के लिए हमारा WhatsApp चैनल फॉलो करें: https://whatsapp.com/channel/0029Va23tYwLtOj7zEWzmC1Z

Authors

Since 2011, JP has been a media professional working as a reporter, editor, researcher and mass presenter. His mission to save society from the ill effects of disinformation led him to become a fact-checker. He has an MA in Political Science and Mass Communication.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular