बुधवार, सितम्बर 22, 2021
बुधवार, सितम्बर 22, 2021
होमFact Check'पाकिस्तान मुर्दाबाद' लिखे हुए डस्टबिन की पुरानी तस्वीर को भ्रामक दावे के...

‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ लिखे हुए डस्टबिन की पुरानी तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ किया गया शेयर

दिल्ली से सटे गुरूग्राम के सेक्टर-102 इलाके की सोसायटी में कुछ दिनों पहले एक बच्चे द्वारा हिंदुस्तान मुर्दाबाद और पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने का मामला सामने आया था। सोसायटी के लोगों ने बच्चे द्वारा लगाए गए नारे का जमकर विरोध किया। देश में आए दिन इस तरह के कई मामले सामने आते रहते हैं। ऐसे में एक डस्टबिन की तस्वीर वायरल हो रही है जिस पर ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ लिखा हुआ है। डस्टबिन पर फर्नीचर कंपनी ‘नीलकमल’ (Nilkamal) का लोगो (LOGO) भी बना हुआ है। दावा किया गया है कि, ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद के पोस्टर वाला ये डस्टबिन ‘नीलकमल’ ने बनाया है।’

आर्टिकल लिखे जाने तक उपरोक्त ट्वीट को 215 से ज्यादा लोग रीट्वीट और 965 से ज्यादा लोग लाइक कर चुके हैं।

वायरल दावे को ट्विटर और फेसबुक पर भी कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया जा रहा है।

हमारे आधिकारिक WhatsApp नंबर (9999499044) पर भी वायरल दावे की सत्यता जानने की अपील की गई थी।

CrowdTangle टूल पर किए गए विश्लेषण से पता चलता है कि वायरल दावे को सोशल मीडिया पर कई यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया है।

पाकिस्तान मुर्दाबाद

वायरल पोस्ट के आर्काइव वर्ज़न को यहां और यहां देखा जा सकता है।

Fact Check/Verification

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे दावे का सच जानने के लिए हमने अलग-अलग कीवर्ड्स की मदद से Google सर्च किया। इस दौरान 22 फरवरी 2019 को पत्रिका और Lake City News द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट्स मिली। बतौर रिपोर्ट्स, पुलवामा आतंकी हमले के बाद किसी अज्ञात शख्स ने उदयपुर सिटी रेलवे स्टेशन के कुछ डस्टबिनों पर ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ लिखे पोस्टर चिपका दिए थे। जब रेलवे अधिकारियों को इन पोस्टरों के बारे में जानकारी हुई तो उन्होंने तुरंत डस्टबिन पर लगे पाकिस्तान विरोधी पोस्टरों को हटवा दिया था।

पाकिस्तान मुर्दाबाद

22 फरवरी 2019 को Udaipur Times द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, उदयपुर सिटी रेलवे स्टेशन पर किसी अज्ञात व्यक्ति ने प्लेटफॉर्म पर रखे डस्टबिनों पर ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ का पोस्टर चिपका दिया था। 

पाकिस्तान मुर्दाबाद

नीलकमल फर्नीचर कंपनी के असली डस्टबिन को यहां और यहां देखा जा सकता है। कंपनी ने अपने कूड़ेदानों पर ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ जैसा कोई पोस्टर नहीं लगाया है।

पाकिस्तान मुर्दाबाद

Read More: उज्जैन में हाईकोर्ट के आदेश के बाद अतिक्रमण के खिलाफ हुई कार्रवाई को दिया गया सांप्रदायिक रंग

Conclusion

हमारी पड़ताल में साफ होता है कि उदयपुर रेलवे स्टेशन की लगभग दो साल पुरानी तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। नीलकमल फर्नीचर कंपनी द्वारा अपने कूड़ेदानों पर पाकिस्तान मुर्दाबाद नहीं लिखा गया है।

Result: Misleading


Our Sources

पत्रिका

Lake City News

Udaipur Times

Amazon

Indiamart

NilKamal Furniture


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in

Neha Verma
After working for India News and News World India, Neha decided to provide the public with the facts behind the forwards they are sharing. She keeps a close eye on social media and debunks fake claims/misinformations.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular